राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने सांई बाल कुटीर अनाथालय में मारा छापा, देखें वीडियो

राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने सांई बाल कुटीर अनाथालय में मारा छापा, देखें वीडियो

Rahul Chauhan | Publish: Sep, 05 2018 09:04:09 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

छापे के दौरान किए गए निरीक्षण में नहीं मिली कोई बड़ी खामी। कुछ चीजों को लेकर जताई आपत्ति।

नोएडा। प्रदेश में राज्य महिला आयोग की टीम के गठन के बाद आयोग की टीम ने प्रदेश में एनजीओ द्वारा संचलित किए जा रहे बाल आश्रय गृह और अनाथालयों पर छापा मार कर जांच का काम शुरू कर दिया है। इसी के तहत नोएडा के सेक्टर-12 में समाज सेविका अंजिना राजगोपाल के द्वारा संचालित किए जा रहे साईं कृपा धाम बाल कुटीर पर राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने जिला प्रशासन और पुलिस टीम के साथ छापा मारा। राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह का कहना है कि साईं कृपा धाम में बालिका गृह चलता है और सभी अधिकारियों के संज्ञान में लेकर ये निष्पक्ष कार्रवाई की गई। लेकिन सुषमा सिंह ने इस बात का जवाब नहीं दिया कि अगर बिना पक्षपात के कार्रवाई की गई है तो भाजपा महिला मोर्चा की महानगर अध्यक्ष डिंपल आनंद किस प्रोटोकाल के तहत उनकी कार में बैठकर छापा मारने साईं कृपा धाम पहुंची और उनकी कार में ही बैठ कर उनके साथ रवाना हुईं।

यह भी पढ़ें-खुले में शौचमुक्त घोषित इस जिले के घरों में नहीं बना शौचालय तो बच्चों को स्कूल जाने से रोका

दरअसल सेक्टर-12 में समाज सेविका अंजिना राजगोपाल द्वारा संचालित किए जा रहे साईं कृपा धाम बाल कुटीर पर राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह जिला प्रशासन और पुलिस की टीम के साथ छापा मारने पहुंची और पूरे परिसर की जांच की गई और कमरों को खंगाला गया। उसके बाद वहां तैनात कर्मचारियों को निर्देश दिए गए। बाद में मीडिया से बात करते हुए सुषमा सिंह ने कहा कि पेपर वर्क में अनियमितता पाई गई। यहां छोटे बच्चे रो रहे हैं। वे किसकी परमिशन के आधार पर यहां रहते हैं इसके पेपर पूरे नहीं हैं। इसके बाद चाइल्ड वेलफेयर के लोगों को बुलाया गया है।

यह भी पढ़ें-जांच में साबित हुर्इ झूठी शिकायत तो शिकायकर्ता को इतने दिन की हो जाएगी जेल

राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष का कहना है कि यहां जो युवा लड़कियां हैं, उनके पास महंगी घड़ियां और ब्रांडेड परफ़्यूम, गॉगल्स और लेपटॉप हैं। एक छोटी खाली शराब की बोतल मिली है। पूरा वेस्टर्न कल्चर यहां है। दुनिया भर का सामान स्टोर में भरा है। उन्होंने माना कि यहां कोई गलत काम नहीं हो रहा है। मैं यहां डीपीओ और पुलिस प्रशासन के साथ निरीक्षण कर रही हूं कोई पक्षपात नहीं किया जाएगा। लेकिन उनका ये भी कहना था कि जिस प्रकार की चीजें यहां मिली हैं। ये जानना जरूरी है कि ये चीजें किस डोनर के माध्यम से यहां पहुंची हैं। इन बच्चों के दृष्टिकोण से ऐसी मंहगी चीजों की जरूरत इन बच्चों को नहीं होती है। ऐसी चीजों का यहां पाया जाना संदिग्ध तो है। राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष का कहना कि 2 अगस्त से उनकी तैनाती हुई है। इससे पहले क्या होता था उन्हें मालूम नहीं। मैंने जो देखा सभी अधिकारियों के संज्ञान में है और निष्पक्ष कार्रवाई की गई है।

Ad Block is Banned