scriptआपकी बात, देश में सड़क हादसों में कमी क्यों नहीं आ रही? | vk | Patrika News
ओपिनियन

आपकी बात, देश में सड़क हादसों में कमी क्यों नहीं आ रही?

पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं मिलीं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं

जयपुरJul 11, 2024 / 03:42 pm

Gyan Chand Patni

नशा है बड़ा कारण
देश में सड़क हादसों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। इसके लिए वाहन चालक, सरकार और प्रशासन संयुक्त रूप से जिम्मेदार हैं। सड़क हादसों के कई कारण हैं। शराब पी कर वाहन को तेज चलाने और स्टंट करने से भी  सड़क हादसे  हो रहे हैं। इसलिए शराब पीकर वाहन चलाने वालों के खिलाफ सख्ती होनी चाहिए। यातायात  पुलिस को जागरूकता  अभियान के माध्यम से जन—जन तक सड़क सुरक्षा का संदेश पहुंचाना चाहिए। अभिभावकों का भी यह कर्तव्य है कि वे अपने बच्चों को यातातात नियमों के बारे में जरूर जागरूक करें। निंयत्रित गति सीमा, यातायात नियमों का पालन और शांत दिमाग से वाहन चाल करके हम इस प्रकार के सड़क हादसों से बच सकते है।
 —जिया  सबरवाल, भीलवाड़ा
…….
कठोर सजा जरूरी
तेज गति और नशा करके वाहन  चलाने, गलत तरीके से ओवरटेकिंग करने, मोबाइल पर बात करते हुए ड्राइविंग करने और सड़कों पर गड्ढों के कारण सड़क हादसे ज्यादा हो रहे हैं। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों पर जुर्माने के साथ कठोर सजा भी आवश्यक है।                                                  —निर्मला देवी वशिष्ठ राजगढ़ अलवर
…….
भ्रष्टाचार भी है कारण
यातायात नियमों का पालन नहीं हो रहा है। इसकी एक वजह भ्रष्टाचार भी है नागरिकों में भी जागरूकता की कमी है। खासकर युवा असंयमित रूप से वाहन चलाते हैं। सड़क बनाने में भ्रष्टाचार होने और लापरवाही के कारण सड़क जल्दी टूट जाती है। सड़क पर बने गड्ढे हादसे की वजह बनते हैं।
युवी कस्वां,जयपुर
…….
लगातार अभियान चलाया जाए
सड़क सुरक्षा जागरूकता के लिए लगातार अभियान चलाया जाए। यातायात नियमों का सख्ती से पालन करवाया जाए। लापरवाह वाहन चालकों का लाइसेंस निरस्त किया जाए।
—संजय बिश्नोई बीकानेर
…….
ड्राइविंग लाइसेंस के मामले में सख्ती नहीं
देखने मे ये आ रहा है कि यातायात पुलिस लाइसेंस को लेकर सख्त नही है। बिना लाइसेंस के गाडी चलाने वालों पर भारी जुर्माने का प्रावधान होना चाहिए। लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया को थोड़ा सख्त बनाना चाहिए ताकि अपात्र लोग लाइसेंस न बन पाएं। ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए एक लिखित परीक्षा आयोजित की जाना चाहिए ताकि सभी नियमों और संकेतकों की जानकारी वाहन चालक को हो।
—राहुल शुक्ल, उज्जैन, मप्र
…….
सड़कों का रखरखाव भी जरूरी
सड़क संरचना और इसके रखरखाव पर ध्यान दिया जाना चाहिए। युवाओं में गति के प्रति आकर्षण से भी सड़क हादसों में वृद्धि हुई है। स्कूल, कॉलेज और कार्यालयों में यातायात नियमों के बारे में जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाने चाहिए।
—शशांक गहलोत, ब्यावर
…….
सख्त कार्रवाई जरूरी
देश में बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं को रोकना है तो सबसे पहले जो वाहन चालक निर्धारित गति से तेज चलाए उसका लाइसेंस निरस्त कर उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी होगी। यातायात पुलिस को भी पूरी जिम्मेदारी से काम करना चाहिए।
—अर्जुन सिंह बारड़ ,  अनादरा
…….
यातायात नियमों की पालना में लापरवाही
भारत में कई ड्राइवर यातायात नियमों का पालन नहीं करते हैं और लापरवाही से गाड़ी चलाते हैं, जिससे वे खुद और दूसरों को जोखिम में डालते हैं। साथ ही लोगों को सड़क सुरक्षा और यातायात नियमों का पालन करने के  के बारे में जागरूक करने के लिए लगातार अभियानों चलाने की आवश्यकता है।
-दुष्यंत गुर्जर, जोधपुर
…….

Hindi News/ Prime / Opinion / आपकी बात, देश में सड़क हादसों में कमी क्यों नहीं आ रही?

ट्रेंडिंग वीडियो