scriptआपकी बात: सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण कैसे रोका जा सकता है? | Patrika News
ओपिनियन

आपकी बात: सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण कैसे रोका जा सकता है?

पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं मिलीं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं

जयपुरJun 30, 2024 / 06:28 pm

Nitin Kumar

कठोर कानून और कड़ी सजा के प्रावधान हों

सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण को रोकने के लिए सरकार को कठोर से कठोर कानून बनाने चाहिए। ताकि भूमाफिया उन जमीनों को आम जनता को न बेच सके और सार्वजनिक भूमि का दुरुपयोग ना कर सके। सरकार को कठोर से कठोर कानून बनाकर कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान करना चाहिए ताकि इस तरह की वारदातों से निजात पाई जा सके।
– सुरेंद्र बिंदल, जयपुर

……………………………………..

कानून का खौफ हो

सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण को रोकने के लिए राजस्व विभाग एवं स्थानीय निकायों को सक्रिय होना चाहिए। अतिक्रमणकर्ताओं के मन में कानून का खौफ होना जरूरी है। राजनीतिक पार्टियों की शह पर भी सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण होते हैं। प्रशासनिक कार्यवाही में राजनीतिक दखलअंदाजी बिल्कुल बंद होनी चाहिए। तभी सार्वजनिक जमीनों को पूर्णतया अतिक्रमण मुक्त किया जा सकता है।
– ललित महालकरी, इंदौर

……………………………………..

देश द्रोह जैसा अपराध, सख्त कार्रवाई जरूरी

सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने वालों के विरुद्ध शासन को समय-समय पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए जिससे अतिक्रमण करने वालों में भय व्याप्त हो। जनता को जागरूक करना चाहिए ताकि अतिक्रमण की जानकारी सरकार तक पहुंच सके। सरकारी जमीन देश की संपदा होती है यह सबके उपयोग के लिए होती है, ये आम जन के लिए होती है। ऐसे में इस पर कोई अतिक्रमण करता है तो वह देश द्रोह जैसा अपराध करता है।
– दिलीप शर्मा, भोपाल

……………………………………..

जागरूकता अभियान महत्त्वपूर्ण

स्थानीय प्रशासन को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए और कानूनी प्रावधानों का पालन करना चाहिए ताकि अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ तुरंत कार्यवाही हो सके। लोगों में सार्वजनिक भूमि के महत्व और उसके संरक्षण के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए अभियान चलाए जाएं। प्रशासनिक अधिकारियों को नियमित रूप से निरीक्षण करना चाहिए ताकि अतिक्रमण की पहचान की जा सके और समय पर कार्रवाई की जा सके। भूमि की स्थिति को ट्रैक करने के लिए जीपीएस और अन्य डिजिटल साधनों का उपयोग किया जा सकता है। इन सभी कदमों को मिलाकर सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण को प्रभावी रूप से रोका जा सकता है।
– स्वाति अग्रवाल, सूरत (गुजरात)

……………………………………..

जरूरी है दृढ़ इच्छाशक्ति

सर्वप्रथम सरकार को सार्वजनिक भूमि को चिह्नित करना चाहिए। फिर चरण दर चरण अतिक्रमण पर सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। यदि जनप्रतिनिधि स्वयं अतिक्रमण करने वालों में शामिल हैं, तो उनकी सदस्यता रद्द की जानी चाहिए, उन्हें भविष्य में चुनाव लड़ने से रोका जाना चाहिए।
– जीतेश कुमार शर्मा, रोशनपुरा बनेडिया, दूदू

……………………………………..

गठजोड़ को तोड़ना होगा

सर्वविदित तथ्य है कि भू-माफिया राजनीतिक संरक्षण के चलते सार्वजनिक भूमि पर बेधड़क अतिक्रमण करता है और नेताओं के नाम से नगर बसाकर, अवैध कालोनियां बसाकर पैसा बनाता है। इसे रोकने के लिए भू-माफिया और नेताओं के गठजोड़ को सख्ती से तोड़ना होगा।
– वसंत बापट, भोपाल

……………………………………..

तुरंत कार्रवाई और सख्त कानून होना चाहिए

सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण के खिलाफ सख्त कानून बनना चाहिए और उसमें कठोर दंड की व्यवस्था होनी चाहिए। अदालतों में लंबित भूमि अतिक्रमण के मामलों को जल्दी से निपटाया जाना चाहिए। अतिक्रमण को रोकने के लिए जनता का सहयोग लेना चाहिए। जैसे ही अतिक्रमण की जानकारी मिले तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए और दोषियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। अधिकारियों को ड्रोन, सीसीटीवी कैमरे से सार्वजनिक भूमि पर कड़ी नजर रखनी चाहिए तभी जाकर सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण को रोका जा सकता है।
– मोदिता सनाढ्य, उदयपुर

……………………………………..

स्थानीय सरकार एवं जनप्रतिनिधि हों जिम्मेदार

सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण न हो, यह जिम्मेदारी स्थानीय सरकार एवं जनप्रतिनिधि की होती है। उन्हें चाहिए कि सरकारी भूमि पर विशेष ध्यान देकर अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करवाएं। अतिक्रमण की शिकायत दर्ज कराने के लिए आमजन के लिए टोल फ्री नम्बर जारी होने चाहिए।
– अजीतसिंह सिसोदिया, बीकानेर

Hindi News/ Prime / Opinion / आपकी बात: सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमण कैसे रोका जा सकता है?

ट्रेंडिंग वीडियो