CWG 2018: नमन तंवर के ब्रॉन्ज से बॉक्सिंग में खुला भारत का खाता, कल मैरी कॉम समेत चार बॉक्सर गोल्ड के लिए जड़ेंगे मुक्का

CWG 2018 में शुक्रवार को मुक्केबाजी में भारत का पहला पदक नमन तंवर के ब्रॉन्ज के रूप में आया, मैरी कॉम समेत चार बॉक्सर कल फाइनल में खेलेंगे।

By: Akashdeep Singh

Updated: 13 Apr 2018, 12:47 PM IST

नई दिल्ली। गोल्ड कोस्ट कामनवेल्थ खेलों में भारत ने शुक्रवार को मुक्केबाजी में अपना पहला पदक, 19 साल के नमन तंवर के ब्रॉन्ज मेडल के रूप में जीता। मुक्केबाजी में पुरुषों की 91 किलोग्राम स्पर्धा के सेमीफाइनल में नमन हार गए और उनको ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा। साथ ही भारतीय मुक्केबाजों मैरी कॉम , अमित फांगल, गौरव सोलंकी और मनीष कौशिक ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अपनी-अपनी स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। फाइनल में जगह बनाने के साथ ही मैरी कॉम, गौरव, मनीष और अमित ने रजत पदक पक्के कर लिए हैं। हालांकि, चारो मुक्केबाजों का लक्ष्य स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाने का होगा।


सेमीफइनल में हारे नमन, मिलेगा ब्रॉन्ज
भारत के युवा मुक्केबाज नमन ने अपने से आठ साल अधिक बड़े और अधिक अनुभवी मुक्केबाज आस्ट्रेलिया के जेसन व्हाटली को कड़ी टक्कर दी, लेकिन कम अनुभव होने के कारण 4-0 से हार गए। भिवानी के 19 वर्षीय मुक्केबाज नमन ने सेमीफाइनल में पहुंचने के कारण कांस्य पदक हासिल कर लिया है।

 

मैरी कॉम कल फाइनल में भिड़ेंगी
मैरी कॉम ने बुधवार को सेमीफाइनल में श्रीलंका की अनुशा दिलरुक्सी को 5-0 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई। ओलम्पिक कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम पहले कभी राष्ट्रमंडल खेलों में पदक नहीं जीत पाई हैं। फाइनल में जगह बनाते हुए हुए उन्होंने अपना रजत पदक पक्का कर लिया है। मैरीकॉम ने अपने से कमजोर विपक्षी पर शुरू से ही दबाव बनाए रखा और एकतरफा मुकाबले में जीत हासिल की। मैरी कॉम शनिवार दोपहर में महिलाओं के 48 किलोग्राम भारवर्ग में अपना फाइनल मुकाबला नॉर्थेर्न आयरलैंड की क्रिस्टीना ओ'हारा के खिलाफ खेलेंगी ।


अमित, गौरव और मनीष भी फाइनल में
अमित ने यहां 49 किलोग्राम लाइटवेट स्पर्धा के सेमीफाइनल में युगांडा के जुमा मीरो को एकतरफा मुकाबले में 5-0 से मात दी। इसके अलावा, गौरव ने 52 किलोग्राम वर्ग में श्रीलंका के विदानालांगे इशान बांद्रा को संघर्षपूर्ण मुकाबले में 4-0 से हराकर फाइनल में कदम रखा। मनीष ने 60 किलोग्राम स्पर्धा के फाइनल में उत्तरी आयरलैंड के जेम्स मैकगिवर्न को मात दी। जेम्स के खिलाफ मनीष के लिए जीत आसान नहीं थी, क्योंकि उन्हें कड़ा संघर्ष करना पड़ा, लेकिन भारतीय मुक्केबाज ने हार न मानते हुए 4-1 से जीत हासिल कर फाइनल में जगह बना ली है। फाइनल में स्वर्ण पदक की दावेदारी के लिए मनीष को आस्ट्रेलिया के हैरी गारसाइड से भिड़ना होगा। यह सभी मुकाबले शनिवार को ही होने हैं।

Show More
Akashdeep Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned