scriptPakistan tries to mend ties with US after skipping Democracy Summit | पाकिस्तान ने खोला राज, अमरीका को बताया लोकतंत्र शिखर सम्मेलन में क्यों नहीं हुआ शामिल | Patrika News

पाकिस्तान ने खोला राज, अमरीका को बताया लोकतंत्र शिखर सम्मेलन में क्यों नहीं हुआ शामिल

अमरीका ने इसमें चीन को आमंत्रित नहीं किया था और चीन तथा पाकिस्तान की दोस्ती जगजाहिर है। इसको देखते हुए राजनयिक हलकों में इस बात की चर्चा है कि अपने मित्र चीन के दबाव में आकर पाकिस्तान ने उस बैठक में हिस्सा नहीं लिया था। पाकिसानी अधिकारी इसे चीन के साथ जोड़ने से बच रहे हैं, लेकिन सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि चीन के विरोध के चलते पाकिस्तान ने इसमें हिस्सा नहीं लिया था।

नई दिल्ली

Updated: December 16, 2021 05:26:56 pm

अमरीका की ओर से बुलाए गए लोकतंत्र शिखर बैठक में हिस्सा नहीं लेने के अपने रूख से पाकिस्तान ने अमरीकी नेताओं को अवगत करा दिया है। अमरीका ने पाकिस्तान को इस सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया था, लेकिन पाकिस्तान ने तब इस बैठक में हिस्सा नहीं लिया था। वहीं, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अमरीकी उप विदेश मंत्री वैंडी शरमन से टेलीफोन पर बातचीत कर उन्हें पाकिस्तान के रूख से अवगत कराया है। दरससल, अमरीका ने इसमें चीन को आमंत्रित नहीं किया था और चीन तथा पाकिस्तान की दोस्ती जगजाहिर है। इसको देखते हुए राजनयिक हलकों में इस बात की चर्चा है कि अपने मित्र चीन के दबाव में आकर पाकिस्तान ने उस बैठक में हिस्सा नहीं लिया था।
imran.jpg
सूत्रों की ओर से दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान ने इस बैठक में सिर्फ इसलिए हिस्सा नहीं लिया था, क्योंकि चीन को अमरीका ने निमंत्रित नहीं किया था। इस कदम को अमरीका की विश्व को बांटने की रणनीति माना जा रहा है, क्योंकि एक तरफ तो उसने ताईवान को बुलाया था मगर चीन और रूस को वर्चुअल बैठक में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित नहीं किया था। इसमें 100 से अधिक देशों को बुलाया गया था।
यह भी पढ़ें
-

पाकिस्तानी चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री इमरान खान को दी चेतावनी, कहा- 16 जनवरी से पहले पेशावर मत जाना



पाकिस्तान के इसमें हिस्सा नहीं लेने के रूख की चीन ने तारीफ की है और उसे वास्तव में लौह बिरादर का करार दिया। हालांकि, पाकिसानी अधिकारी इसे चीन के साथ जोड़ने से बच रहे हैं, लेकिन सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि चीन के विरोध के चलते पाकिस्तान ने इसमें हिस्सा नहीं लिया था। पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि वह अमरीका के साथ अपने संबंधों को तरजीह देता है और इन्हें आगे ले जाने का इच्छुक है। कुरैशी ने पहले तो अपने समकक्ष से बात करने की कोशिश की थी, लेकिन उनके साथ कोई संपर्क नहीं होने के बाद उन्होंने उप विदेश मंत्री से टेलीफोन पर बातचीत की ।
शरमन की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि इस बातचीत में कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान बड़े देशों के किसी भी गुट के साथ नहीं होना चाहता है और अफगानिस्तान के मामले में वह अमरीका के साथ संबंधों को आगे ले जाने का इच्छुक है। कुरैशी ने कहा कि यह एक सकारात्मक घटनाक्रम है और पाकिस्तान ने अमरीका से आग्रह किया है कि वह उसे बड़े देशों की गुटबाजी में शामिल करके कठिन स्थिति में नहीं डाले।
यह भी पढ़ें
-

पाकिस्तान सरकार के खिलाफ टीटीपी फिर शुरू करेगा हमले, कहा- इमरान खान ने वादा नहीं निभाया



पाकिस्तान भू राजनीतिक स्थिति के बजाय भू-आर्थिक स्थिति को अधिक पसंद करता है और यह हमें अपने आपको बदलने में मदद कर सकता है। कुरैशी ने यह भी कहा कि उन्होंने अमरीका को इस बारे में जानकारी दी कि हम सभी देशों के साथ सकारात्मक संबंध चाहते हैं और हमारा मानना है कि अमरीका हमारा अहम सहयोगी है और आगे भी रहेगा। हमारे संबंधों में काफी उतार चढ़ाव आए हैं लेकिन दोनों देश जब भी मिलकर काम करते हैं तो इसका फायदा उन्हें ही होता है।
वहीं, विशेषज्ञों का मानना है कि पाकिस्तान ने अमरीका के इस न्योते को अस्वीकार कर राजनयिक स्तर पर अच्छा काम नहीं किया है और इसके प्रतिकूल आर्थिक परिणाम सामने आ सकते हैं तथा पश्चिमी देशों के समक्ष उसकी स्थिति और कमजोर हो सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवानइलाहाबाद हाईकोर्ट: ज्ञानवापी में मिला बड़ा शिवलिंग, कोर्ट के आदेश पर स्थान सरंक्षित, 20 को होगी अगली सुनवाईIPL 2022 DC vs PBKS Live Updates : पंजाब ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला कियाBJP कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की हत्या के मामले में CBI ने TMC विधायक को किया तलब49 डिग्री के हाई तापमान से दिल्ली बेहाल, अब धूलभरी आंधी के आसार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.