धार्मिक निर्माण के नाम पर सरकारी भूमि पर अवैध कब्जे का आरोप

उपखण्ड अधिकारी भंवरलाल जनागल को ज्ञापन सौंपा

By: Om Prakash Tailor

Published: 03 Jan 2019, 04:50 PM IST

रायपुर मारवाड़। पहाड़ी क्षेत्र के सोढपुरा गांव से आए दर्जनों ग्रामीणों ने बुधवार को उपखण्ड अधिकारी भंवरलाल जनागल को ज्ञापन सौंपा। जिसमें बताया कि कुछ लोग धार्मिक निर्माण की आड़ में सरकारी जमीन पर कब्जा कर रहे हैं। इसे लेकर बार बार शिकायत करने पर भी कार्रवाई नहीं हो रही है।
ग्रामीणों ने समय रहते प्रभावी कार्रवाई नहीं होने पर धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है। चीता मेहरात चौहान सेना ब्यावर के बैनर तले दोपहर में यहां एसडीएम कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने नारेबाजी कर आक्रोश जताया। एसडीएम ने इनसे वार्ता की। जिसमें ग्रामीणों ने बताया कि सोढ़पुरा के बाडिया सुगालिया व तालाब का बाडिया में कुछ लोग सरकारी जमीन पर कब्जा कर पक्का निर्माण कर रहे हैं। ग्रामीणों द्वारा विरोध करने पर अतिक्रमी धार्मिक निर्माण का तर्क दे रहे हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि वे लोग धार्मिक निर्माण की आड़ लेकर सरकारी जमीन को हथियाने का कृत्य कर रहे हैं। ग्रामीणों ने निर्माण बन्द करवा प्रभावी कार्रवाई की मांग की। एसडीएम ने जांच करवा उचित कार्रवाई कराने की बात कही। इस दौरान चिमन सिंह, छोटू सिंह, सुरेश सिंह, लक्ष्मण सिंह, बलवीर सिंह, दशरथ सिंह, लाल सिंह सहित कई लोग मौजूद थे।
बजरी का अवैध खनन जारी, बड़े वाहनों के जरिए बजरी पहुंच रही अन्य जिलों में
जैतारण। उपखण्ड क्षेत्र के गांवों में बजरी का अवैध खनन धड़ल्ले से जारी है। जानकारी के अनुसार ग्राम लासनी, फूलमाल, आसरलाई, मोहराई, बिरोल, बांझाकुड़ी के निकट पहाड़ी क्षेत्र में पहाड़ की ओट में जेसीबी की सहायता के खनन किया जा रहा है। यहां से निकलने वाली नदियों के तल को पूरी तरह से खोद दिया गया है।
रात में हो रहा बजरी का खनन
क्षेत्र क ी नदियों व नालों में अवैध खनन के चलते गहरे गड्ढे बन गए हैं। बड़े-बड़े ट्रेलर से अन्य जिलों मे निरंतर बजरी जा रही है। आसरलाई सरपंच ने कई बार अधिकारियों को अवैध खनन की शिकायत की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही।
कार्रवाई होनी चाहिए
लोग बजरी का खनन रात में करते हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।
मंजू रावल, सरपंच घोड़ावड़

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned