केन्द्रीय विद्यालय के साइंस टीचर बनाया रोबोट 'शालू, 47 भाषाओं में कर सकता है बात

- दिनेश पटेल ने तीन साल में तैयार किया यह रोबोट

By: Anurag Trivedi

Updated: 05 Jan 2021, 08:05 PM IST

जयपुर. देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति के नाम के साथ देश के विभिन्न राज्यों की प्रसिद्ध जगहों का जवाब एक रोबोट दे तो थोड़ा हैरानी होती है, लेकिन ऐसे ही एक रोबोट को केन्द्रीय विद्यालय के साइंस टीचर दिनेश पटेल ने तैयार किया है। आइआइटी बॉम्बे के कैम्पस मं स्थित केन्द्रीय विद्यालय के टीचर पटेल ने 'शालूÓ नाम से रोबोट तैयार किया है, जो पूरी तरह इंसानों की तरह नजर आता है। दिनेश पटेल ने बताया कि यह रोबोट विश्व की 47 भाषाओं में बात कर सकता है। यह हिन्दी, इंग्लिश, मराठी और भोजपुरी समेत 47 देशी और विदेशी भाषाओं में बात कर सकता है। इसमें जापानी, जर्मन और फ्रेंच भी शामिल है। शालू 9 भारतीय और 38 विदेशी भाषाओं में बात कर सकता है। दिनेश ने बताया कि यह पूरी तरह से मेड इन इंडिया है और इसमें लगे सभी उपकरण लोकल मार्केट से खरीदे गए हैं।

जनरल सवालों के जवाब देगा

दिनेश पटेल ने बताया कि इसे बनाने में तीन साल का वक्त लगा है। यह लोगों के पहचान सकती है, उनके नाम याद रख सकती है। जनरल सवालों के जवाब दे सकती है। शालू को देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और महाराट्र के मुख्यमंत्री का नाम पता है। वह देश के इतिहास और भूगोल से जुड़ी बेसिक जानकारी भी आसानी से बता देती है। पटेल ने बताया कि अभी तो यह प्रोटोटाइप के रूप में है, लेकिन आगे चलकर और भी विकसित होने के बाद शालू रोबोट के क्षेत्र में क्रांति ला सकती है।

स्कूल में बच्चों के सामने लगाना चाहते हैं

उन्होंने बताया कि वे जल्द ही इसके वर्जन-2 को बनाना शुरू करेंगे, लेकिन सामान महंगे होने की वजह से उन्हें दिक्कतें आ रही हैं। पटेल की इच्छा है कि वह रोबोट को अपने स्कूल में स्थापित करें, ताकि बच्चे पढ़ भी सकें और उनका एंटरटेन्मेंट हो सके।

Anurag Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned