अटल सिद्धांतों से भटकी भाजपा! वाजपेयी ने की थी राजीव गांधी की तारीफ, मोदी ने दे डाला विवादित बयान

अटल सिद्धांतों से भटकी भाजपा! वाजपेयी ने की थी राजीव गांधी की तारीफ, मोदी ने दे डाला विवादित बयान

Dhiraj Kumar Sharma | Publish: May, 06 2019 02:19:58 PM (IST) | Updated: May, 06 2019 02:20:00 PM (IST) राजनीति

  • क्या अटल के सिद्धांतों से भटकी भाजपा
  • जिस राजीव गांधी की अटल ने की तारीफ
  • उसी राजीव गांधी पर मोदी ने दिया विवादित बयान

नई दिल्ली। राजनीति में अटल सिद्धांतों पर आगे बढ़ने का दावा करने वाली भाजपा को शायद अब इन सिद्धांतों की जरूरत नहीं रह गई है। अपने कई बयानों और इंटरव्यू में अटल बिहारी वाजपेयी के सिद्धांतों को फॉलो करने वाले पीएम मोदी शायद अब उन्हें ही भुला बैठे है। पीएम मोदी के पूर्व पीएम राजीव गांधी पर आए विवादित बयान के बाद तो ऐसा ही लगता है। जिन पूर्व पीएम राजीव गांधी पर पीएम मोदी ने बड़ा और विवादित बयान दिया उन्हीं राजीव गांधी की पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और भाजपा के आधार स्तंभ कई बार तारीफ करते रहे।


राजीव की वजह से जिंदा हूं
अटल बिहारी वाजपेयी भले ही राजनीति में कांग्रेस को अपना विरोधी मानते रहे लेकिन राजीव गांधी को लेकर उन्होंने कई बार अच्छी बातें कहीं। खास तौर पर अपने जिंदा रहने पर श्रेय भी उन्होंने राजीव गांधी को ही दिया था। दरअसल 1991 में पत्रकार करण थापर से बातचीत में राजीव गांधी और अपने संबंधों की चर्चा करते हुए वाजपेयी ने बताया था कि राजीव गांधी की असमय मौत मेरे लिए व्‍यक्तिगत क्षति थी, राजीव जी , ने कभी भी राजनीतिक मतभेदों को आपसी संबंधों पर हावी नहीं होने दिया, मैंने अपनी बीमारी की बात ज्‍यादातर लोगों को नहीं बताई थी लेकिन राजीव गांधी को किसी तरह से इस बारे में पता चल गया तो उन्होंने मेरी मदद की थी।

राजीव गांधी पर पीएम मोदी के बयान से बवाल, अब फराह खान ने राहुल को दी ये बड़ी सलाह

 

1991 में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी किडनी की बीमारी से पीड़ित थे। उस समय इस बीमारी की इलाज भारत में नहीं होता था। आर्थिक स्थिति मजबूत ना होने की वजह से वाजपेयी विदेश नहीं जा पा रहे थे। ये बात किसी तरह राजीव गांधी को पता चली और उन्होने अपने स्तर पर अटल बिहारी वाजपेयी को अमरीका भेजा। इस दौरान वाजपेयी ने मौत से ठन गई शीर्षक के नाम से एक कविता भी लिखी थी।


बहरहाल राजनीतिक जीवन में न तो राजीव गांधी और ना ही अटल बिहारी वाजपेयी ने इस बात का जिक्र किया। राजीव गांधी की मौत के बाद एक इंटरव्यू में वाजपेयी खुद को रोक नहीं पाए और राजीव गांधी से जुड़ा ये राज उन्होंने जाहिर किया। हालांकि वाजपेयी ने एक पोस्टकार्ड के जरिये राजीव गांधी को मदद के लिए धन्यावद दिया था।

अपनी ही पार्टी के लोगों से भिड़े तेजप्रताप यादवः कार्यकर्ताओं ने लगाए मुर्दाबाद के नारे, राबड़ी ने कराया शांत


लेकिन उस दौर की राजनीतिक की उलट असर इन दिनों देखने को मिल रहा है। उन्हीं अटल के सिद्धांतों पर आगे बढ़ने का दावा करने वाली भाजपा के मुखिया ही इन दिनों विवादित बयानों से अटल सिद्धांतों को गलत साबित कर रहे हैं। जिस व्यक्ति की तारीफ भाजपा के आधार स्तंभ ने भी की उन्हीं पर भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगाकर पीएम मोदी न सिर्फ भाजपा के सिद्धांतों को किनारे किया है बल्कि विपक्ष को भी बैठ बैठाए एक बड़ा मुद्दा भी दे दिया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned