Bhoomi Poojan : कांग्रेस में घमासान, सांसद टीएन प्रतापन ने सोनिया से की कमलनाथ और दिग्विजय की शिकायत

  • Ram Mandir Bhoomi Poojan को लेकर Congress नेताओं में घमासान। पार्टी के एक गुट को भूमि पूजन का स्वागत बर्दाश्त नहीं।
  • केरल के MP TN Pratapan ने Kamal Nath और Digvijay को अति धार्मिक राष्ट्रवाद ( religious nationalism ) से बचने की सलाह दी।
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ( Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra ) की ओर से राम मंदिर को लेकर जारी बयान का समर्थन किया।

By: Dhirendra

Updated: 06 Aug 2020, 04:27 PM IST

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर ( Ayodhya Ram Mandir ) निर्माण को लेकर भूमि पूजन ( Boomi Poojan ) कार्यक्रम के बाद से कांग्रेस के नेता ( Congress Leaders ) आपस में ही इस मुद्दे पर उलझ गए है। वहीं केरल में सहयोगी मुस्लिम लीग ( Muslim League ) ने कांग्रेस को इसके बुरे परिणाम की चेतावनी दी है। इस बीच केरल के त्रिशूर से कांग्रेस के लोकसभा सांसद टीएन प्रतापन ( MP TN Pratapan ) ने एमपी में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ( Former CM Kamal nath ) और राज्यसभा सांसद को अति धार्मिक राष्ट्रवाद ( religious nationalism ) से बचने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि अति धार्मिक राष्ट्रवाद से कांग्रेस को हर हाल में बचने की जरूरत है।

कांग्रेस के लोकसभा सदस्य टीएन प्रतापन ने राम मंदिर निर्माण के लिए हुए राम मंदिर भूमि पूजन ( Ram Mandir Bhoomi Poojan ) के संदर्भ में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की प्रतिक्रया पर सख्त आपत्ति जताते हुए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi ) को पत्र लिखकर इस बात की शिकायत की है। अपने पत्र में उन्होंने कहा कि कांग्रेस 'अति धार्मिक राष्ट्रवाद के पीछे नहीं भाग सकती।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ( Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra ) द्वारा राम मंदिर को लेकर जो रुख अपनाया गया है वो 'स्वीकार्य है क्योंकि उन्होंने एकता की बात की।

Beirut blast की वजह क्या है, किसे माना जा रहा है इसका जिम्मेदार?

मैं हिंदू हूं, पर हिंदुत्व का समर्थन नहीं करता

कांग्रेस सांसद टीएन प्रतापन ने सोनिया को लिखे पत्र के बारे में पूछे जाने पर कहा कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की प्रतिक्रिया बहुत खराब थी। कांग्रेस का रुख भाजपा ( BJP )के हिंदुत्व ( Hindutwa )के रुख का समर्थन करना नहीं है। मेरा नाम प्रतापन है। मैं भी हिंदू हूं। मैं भगवान की अराधना करता हूं। मैं अक्सर भगवान श्रीकृष्ण के मंदिर जाता हूं और उनका आशीर्वाद लेता हूं। लेकिन हम उस हिंदुत्व का समर्थन नहीं कर सकते जो भाजपा और आरएसएस का है।

कांग्रेस सांसद ने पत्र में कहा कि हम अति धार्मिक राष्ट्रवाद के पीछे नहीं भाग सकते। भूमि पूजन के मुद्दे पर एकता, सौहार्द और सहिष्णुता की राजनीति होनी चाहिए।

गुजरात: अहमदाबाद के कोविद-19 अस्पताल में आग, 8 की मौत, सीएम तलब की रिपोर्ट

क्या कहा था कमलनाथ ने

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राम मंदिर के लिए भूमि पूजन का स्वागत करते हुए बुधवार को कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने राम मंदिर का ताला खुलवाया था। तभी से हर भारतवासी की आकांक्षा थी कि राम मंदिर का निर्माण हो।

उन्होंने भोपाल में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय के मुख्य द्वार पर भगवान श्रीराम की तस्वीर के सामने दीप प्रज्वलित कर दीपोत्सव की शुरुआत की और आरती कर भगवान राम का पूजन भी किया।

दिग्गी राजा ने भी किया भूमि पूजन का स्वागत

कांग्रेस के राज्यसभा से सांसद दिग्विजय सिंह ने भी राम मंदिर निर्माण आरंभ और भूमि पूजन कार्यक्रम का खुलकर स्वागत किया है। उन्होंने भूमि पूजन के मुहुर्त को लेकर सवाल खड़े किए।

Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned