CM Trivendra Rawat : पीएम मोदी के लोकल से वोकल की अपील से डरा चीन, जानिए क्या है खास बात

  • CM Trivendra Rawat सीमा पर तनाव, लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा विवाद का रैलियों में खासतौर से जिक्र करते हैं।
  • Pithoragarh की सीमा नेपाल एवं चीन से जुड़ी हैं। इसलिए सामरिक दृष्टि से भी इसका बड़ा महत्व है।
  • ड्रैगन को Atmanirbhar Bharat एवं लोकल से वोकल के आह्वान से अचानक चिंतित हो उठा है।

By: Dhirendra

Updated: 25 Jun 2020, 07:04 PM IST

नई दिल्ली। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ( Trivendra Singh Rawat ) इन दिनों लगातार केंद्र और प्रदेश सरकार की जनहितैषी व राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी योजनाओं को लेकर वर्चुअल रैली ( Virtual Rally ) के जरिए सीधे जनता से जनसंवाद कर रहे हैं। इस रैली में खासतौर से कोरोना वायरस ( Coronavirus Crisis ) से लड़ने के उपायों, चीन से जारी सीमा विवाद और लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा विवाद का जिक्र करते हैं। इन मुद्दों पर केंद्र द्वारा किए प्रयासों का जिक्र जरूरी करते हैं ।

इसके साथ मुख्यमंत्री रावत राज्य सरकार के विजन को भी जनता के सामने रख रहे हैंं। लेकिन सीएम की वर्चुअल रैलियों से चीन अचानक चिंतित हो उठा है।

बुधवार को भी सीएम त्रिवेंद्र रावत ने पिथौरागढ़ विधानसभा क्षेत्र के वर्चुअल रैली के माध्यम से जनसंवाद ( Jansamvad ) किया। इस दौरान उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद पिथौरागढ़ की सीमा नेपाल एवं चीन से जुड़ी हैं। इस जनपद का सामरिक ( Straegic ) दृष्टि से भी बड़ा महत्व है। राज्य सरकार ( state Government ) द्वारा किए गए विशेष प्रयास से चीन सीमा तक लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा सड़क निर्माण कार्य में तेजी आई।

लद्दाख से लौटे सेना प्रमुख एमएम नरवणे, अब राजनीतिक नेतृत्व के सामने करेंगे ड्रैगन की साजिश को डिकोड

नेपाल से हमारा रोटी और बेटी का संबंध

इसके साथ ही चीन के उकसावे में भटके नेपाल के बारे में जिक्र करते हुए कहा कि नेपाल हमारा मित्र राष्ट्र है। उससे हमारी रोटी, बेटी व सांस्कृतिक संबंध है। परंपरा से हम एक दूसरे पर विश्वास करते आए। आज कुछ वैचारिक व अन्य कठिनाई उनकी ओर से उत्पन्न हुई है।

इसके लिए नेपाल ( Nepal ) के लोग भी अपनी सरकार का विरोध कर रहे हैं। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि लिपुलेख के साथ ही लद्दाख सीमा ( Ladakga Border ) तक सड़कों के निर्माण एवं सीमांत क्षेत्रों में हवाई अड्डों के विस्तार से चीन परेशान है।

ड्रैगन पीएम मोदी ( pm modi ) की आत्म निर्भर भारत एवं लोकल से वोकल ( Local Se Vocal ) के प्रधानमंत्री के आह्वान से चीन अपने सामान की मार्केटिंग को लेकर चिंतित हो उठा है। इसके पीछे मुख्य वजह देश के लोगों को यह बताना है कि वो स्वदेशी वस्तुओं का ही उपयोग करें।

LAC Dispute : अब चीन ने डीबीओ के पास खोला नया मोर्चा, डेपसांग सीमा किया पार

आज का भारत 2020 का भारत है

जनसंवाद वर्चुअल रैली उन्होंने कहा कि गलवान हिंसा ( Galwan Violence ) में हमारे सैनिकों ने जिस वीरता से स्थिति का सामना किया वह शौर्य एवं साहस की मिसाल है। इसका परिणाम है कि आज चीन पूर्व स्थिति में लौटने तथा नियंत्रण रेखा पर यथा स्थिति बनाए रखने को तैयार हुआ है।

उन्होंने कहा कि आज का भारत 2020 ( India-2020 ) का भारत है। हमारा देश विश्व की पांच महाशक्तियों में हम शामिल है। हमारे जवानों में जल, थल, नभ व हिमाच्छादित चोटियों पर लड़ने का जज्बा है।

इतना ही नहीं पीएम मोदी के कुशल साहसिक नेतृत्व में देश को पूरा भरोसा है। हमारे वीर जवान साहस व सम्मान के साथ देश की सुरक्षा में जुटे हैं।

पिथौरागढ़ बनेगा दुनिया का हाई एंड टूरिस्ट प्लेस

रैली के दौरान उन्होंने पिथौरागढ़ जिले में विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि पिथौरागढ़ आंवला घाट पेयजल योजना, एवं थरकोट झील का निर्माण प्रगति पर है। इससे वर्षा जल के ग्रहण में मदद मिलेगी। ट्यूलिप गार्डन की शुरूआत हो चुकी है। नैनी सैनी हवाई सेवा भी आरंभ हो गई है। मोस्टमानू को नया पयर्टन गंतव्य बनाया जा रहा है। आने वाले समय में यह दुनिया का हाई एंड टूरिस्ट प्लेस ( Tourist Place ) होगा।

pm modi
Show More
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned