सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका गांधी, बोलीं- पीड़ितों से मिलना अपराध है तो मुझे जेल भेज दो

सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका गांधी, बोलीं- पीड़ितों से मिलना अपराध है तो मुझे जेल भेज दो

Shiwani Singh | Publish: Jul, 19 2019 05:13:07 PM (IST) | Updated: Jul, 20 2019 08:30:07 AM (IST) राजनीति

  • Sonbhadra Murder के पीड़ितों से मिलन चाहती हैं प्रियंका गांधी
  • Priyanka Gandhi को चुनार किले में किया बंद
  • योगी सरकार पर पर सवाल प्रियंका गांधी ने दागे सवाल

नई दिल्ली। सोनभद्र हत्याकांड ( sonbhadra Murder ) ने सियासी रंग ले लिया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ( Priyanka Gandhi ) शुक्रवार को सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही थी। लेकिन उत्तर प्रदेश पुलिस ने प्रियंका के काफीले को बीच में ही रोक दिया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। प्रियंका पिछले नौ घंटे के चुनार किले में हैं और पीड़ितों से मिलने पर अड़ीं हुई हैं। प्रियंका गांधी मिर्जापुर में ही रात में रुकी हैं।

यह भी पढ़ें-प्रियंका गांधी ने कहा, यूपी में है जंगल राज, सोनभद्र नरसंहार में गोली खाने वाले बच्चे मेरे बेटे जैसे

 

प्रियंका गांधी ने सिलसिलेवार ट्वीट कर योगी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि मैं नरसंहार का दंश झेल रहे गरीब आदिवासियों से मिलने, उनकी व्यथा-कथा जानने आई हूं। जनता का सेवक होने के नाते यह मेरा धर्म है और नैतिक अधिकार भी। उनसे मिलने का मेरा निर्णय अडिग है।

उत्तर प्रदेश प्रशासन द्वारा मुझे पिछले 9 घंटे से गिरफ़्तार करके चुनार किले में रखा हुआ है। प्रशासन कह रहा है कि मुझे 50,000 की जमानत देनी है अन्यथा मुझे 14 दिन के लिए जेल की सज़ा दी जाएगी, मगर वे मुझे सोनभद्र नहीं जाने देंगे ऐसा उन्हें ‘ऊपर से ऑर्डर है’।

दूसरी ओर प्रियंका की गिरफ्तारी को कांग्रेस ने गलत बताते हुए इसकी कड़ी निंदा की है।

कांग्रेस ने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जमीन विवाद में सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या के बाद पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए वहां जा रही थीं।

लेकिन यूपी पुलिस ने उनके काफिले को नारायणपुर पुलिस स्टेशन के पास ही रोक दिया।

इस बात से नाराज प्रियंका सहित अन्य कांग्रेस नेता सड़क पर धरने पर बैठ गए, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

congress

कांग्रेस का कहना है कि प्रियंका गांधी वहां यूपी में लगातार बढ़ रहे अपराध को लेकर अवाज उठाने जा रही थीं।

पार्टी ने कहा कि योगी सरकार के कार्यकाल में लगातार क्राइम हो रहे हैं।

कांग्रेस नेता को इस तहर बीच रास्ते में रोकना योगी सरकार के अड़ियल रवैए को दिखाता है।

यूपी सरकार राज्य में अपराध को कम करने में फेल साबित हुई है।

पार्टी ने आगे कहा कि सरकार को विपक्ष के नेताओं को पीड़ितो से मिलने से रोकने की जगह इस मामले की सच्चाई सबके सामने लाने का काम करना चाहिए था।

हमारी मांग है कि यूपी पुलिस जल्द से जल्द प्रियंका को रिहा करे और पीड़ित परिवार से मिलने दें।

गिरफ्तारी के बाद क्या बोलीं प्रियंका

प्रियंका गांधी वाड्रा ( Priyanka Gandhi arrest in sonbhadra ) ने कहा, 'हम बस पीड़ित परिवार से मिलना चाहते हैं। लेकिन हमे बीच रास्ते में ही रोक दिया गया। मैंने तो यहां तक कहा कि मेरे साथ सिर्फ 4 लोग जाएंगे। फिर भी प्रशासन ने हमें वहां जाने नहीं दिया। उन्हें हमें बताना चाहिए कि हमें क्यों रोका जा रहा है। जब तक हमें पीड़ितो से मिलने नहीं दिया जाएगा हम यहां शांति से बैठे रहेंगे।

यह भी पढ़ें-कर्नाटक: राज्यपाल की दूसरी चिट्ठी से मची खलबली, कुमारस्वामी बोले- एक और लव लेटर

क्या है मामला

 

up

दरअसल, बीते बुधवार को उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh )के सोनभद्र ( Priyanka Gandhi arrest in sonbhadra ) के मूर्तिया गांव में जमीन विवाद में 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी।

इस दौरान 28 लोग घायल भी हुए थे। जानकारी के मुताबिक गांव के बाहरी इलाके में सैकड़ों बीघा खेत है। इस पर कुछ ग्रामीण पुश्तैनी तौर पर खेती करते आ रहे हैं।

विवादित जमीन का एक बड़ा हिस्सा ग्राम प्रधान यज्ञदत्त के नाम पर हैं।

घटना वाले दिन सुबह ग्राम प्रधान इस जमीन पर कब्जा करने के लिए करीब 200 लोगों और 32 ट्रैक्टरों के साथ पहुंचे।

इसके बाद दोनों पक्षों के बीच विवाद इतना बढ़ा की इसमें 10 लोगों को जान चली गई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned