Coronavirus: अमित शाह बोले- कांग्रेस कर रही है ओछी राजनीति, लॉकडाउन को और सख्त करने की जरूरत

  • पीएम मोदी के साथ प्रदेशों के सीएम से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में रहे मौजूद।
  • सीडब्लूसी के बाद कांग्रेस के बयान को लेकर शाह ने साधा निशाना।
  • कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि लॉकडाउन ने परेशानी खड़ी की।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे से लोगों को बचाने के लिए बीते 24 मार्च को पीएम मोदी ने देशभर में अगले 21 दिनों के लिए टोटल लॉकडाउन की घोषणा की। लॉकडाउन उल्लंघन की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को कहा कि देश के कई राज्यों में लॉकडाउन को और ज्यादा सख्ती से लागू किए जाने की जरूरत है। वहीं, उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि पार्टी इस वक्त भी ओछी राजनीति कर रही है।

पीएम मोदी जुटे तैयारी में, आने वाले दो सप्ताह देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बेहद अहम

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, "गृह मंत्री ने केंद्र द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को प्रभावी रूप से जिलास्तर पर लागू करने की महत्ता और कई राज्यों में लॉकडाउन को और ज्यादा सख्ती से लागू किए जाने की जरूरत पर चर्चा की।"

बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर चर्चा की और COVID-19 जैसी मुसीबत से निपटने के लिए उपाय खोजने पर बात की।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि संकट की इस घड़ी में भी कांग्रेस ओछी राजनीति कर रही है। अभी समय की सख्त जरूरत है कि कांग्रेस को राष्ट्रीय हित के बारे में सोचना चाहिए और लोगों को गुमराह करने से बाज आना चाहिए।

शाह ने कहा, प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को देश ही नहीं बल्कि दुनिया में सराहा गया है। कोरोना को हराने के लिए देश का 130 करोड़ भारतीय एकजुट है।

कोरोना वायरस लॉकडाउन पर राष्ट्रीय महिला आयोग अध्यक्ष रेखा शर्मा का बड़ा खुलासा

गौरतलब है कि गुरुवार को CWC बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा था, "जिस तरह से सरकार द्वारा कुछ घंटों की पूर्व सूचना के साथ लॉकडाउन लगाया गया था, उसने आम लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। लाखों प्रवासी श्रमिकों को परिवहन सेवाओं के अभाव में अपने गांव लौटने को मजबूर होना पड़ा। इससे कई लोग आहत हुए हैं।"

उन्होंने आगे कहा, "निरंतर और भरोसेमंद टेस्टिंग के अलावा COVID-19 को रोकने का कोई विकल्प नहीं है। हमारे डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्यकर्मियों को PPE, N-95 जैसे व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण दिए जाने की आवश्यकता है। लाखों मजदूरों के पलायन की इस पीड़ादायक स्थिति ने हर दिल को बहुत दर्द पहुंचाया है। हममें से हर व्यक्ति का कर्तव्य है कि उनकी तकलीफों को बांटकर इस घड़ी में मदद करें।"

सोनिया ने आगे कहा, "पिछले दिनों किसान की तैयार फसल पर बेमौसम बारिश की मार पड़ी। आज फसल कटाई के लिए तैयार है। सब कुछ इंतजार कर सकता है, मगर खेती नहीं। इसलिए किसान की फसल कटाई का इंतजाम और सही कीमत दिया जाना समय की मांग भी है और सरकार की जिम्मेदारी भी।

कोरोना वायरस को लेकर सच साबित हुई राहुल गांधी की भविष्यवाणी, सरकार ने नहीं सुनी

पीएमओ की प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, "केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने पदाधिकारियों को भारत में बढ़े मामलों की तादाद, निजामुद्दीन मरकज में फैले मामलों, वायरस को आगे फैलने से रोकने के लिए चिकित्सीय तैयारियां और उन जिलों में इसके प्रसार की श्रंखला को तोड़ने की जरूरत जहां पर काफी पॉजिटिव केस सामने हैं, के बारे में अवगत कराया।"

Amit Shah coronavirus COVID-19
Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned