गणतंत्र दिवस से किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर मिलेगा कृषि ऋण

गणतंत्र दिवस से किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर मिलेगा कृषि ऋण

Navyavesh Navrahi | Publish: Jan, 14 2019 10:33:53 PM (IST) | Updated: Jan, 15 2019 07:51:10 AM (IST) राजनीति

चीड़ के उत्पाद में तकनीकी सहयोग के लिए विशेषज्ञों का एक दल इंडोनिशिया भेजा जाएगा।

देहरादून। उत्तराखंड के किसानों व कास्तकारों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर कृषि ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। यह योजना राज्य सरकार की ओर से गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के अवसर पर शुरू की जाएगी। साथ ही चिकित्सा सुविधा को बेहतर बनाने के लिए प्रदेश में एअर एंबुलेंस की शुरूआत की जाएगी। मुख्यमंत्री ने यह ऐलान 134 साल से आयोजित हो रहे डाडामंडी मेले के दौरान किया।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सीमित वित्तीय संसाधनों के बावजूद सरकार ने किसानों व कास्तकारों के व्यापक हितों को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया।

इसके साथ ही सरकार ने चीड़ को अभिशाप से वरदान में बदलने ले लिए इसके उत्पादों के तकनीकि सहयोग के लिए इंडोनेशिया से बात की है। इसके तहत शीघ्र ही दस विशेषज्ञों को परिक्षण प्राप्त करने के लिए इंडोनेशिया भेजा जाएगा। इससे 143 प्रकार के विभिन्न उत्पाद तैयार किए जा सकते हैं। यह हमारी आर्थिकी का गेम चेंजर बन सकता है।

आयोजन के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि साल 2019 में राज्य के 250 तक की आबादी वाले गावों को सड़क मार्गों से जोड़ दिया जाएगा। साथ ही पौडी- टिहरी जनपदों को जोड़ने वाले सिंताली पुल को ऑल वेदर रोड़ से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि जुलाई 2021 तक राज्य के सभी गांवों को इंटरनेट से जोड़ने का हमारा प्रयास है।

इससे सुदूरवर्ती क्षेत्रों तक टेलीमेडिसन व टेलीरेडियोलॉजी की सुविधा अस्पतालों में उपलब्ध हो पाएगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के कंदरासू, कोटामल्ला, रणचुला, फल्दाकोट, परिंदागांव पेयजल योजना निर्माण तथा गंगा भोगपुर में मिनीनलकूप निर्माण की मांग को शीघ्र पूरा करने की बात कही।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned