आचार संहिता उल्लंघन: AAP के गोपाल राय पर केस दर्ज, तो आतिशी ने की गंभीर पर प्रतिबंध की मांग

आचार संहिता उल्लंघन: AAP के गोपाल राय पर केस दर्ज, तो आतिशी ने की गंभीर पर प्रतिबंध की मांग

Chandra Prakash Chourasia | Publish: Apr, 28 2019 11:05:31 PM (IST) | Updated: Apr, 28 2019 11:05:32 PM (IST) राजनीति

  • लोकसभा चुनाव में फिर हुआ आचार संहिता का उल्लंघन
  • दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय के खिलाफ केस
  • आप प्रत्याशी ने की थी गौतम गंभीर की शिकायत

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ( Aam Aadmi Party ) दिल्ली में लगातार बीजेपी प्रत्याशियों पर आचार संहिता का उल्लंघन आरोप लगाते हुए शिकायत कर रही है। लेकिन अब खुद केजरीवाल सरकार में मंत्री और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ( gopal rai ) ने खुलेआम आधार संहिता का उल्लंघन किया। इसके बाद उनके खिलाफ चुनाव आयोग ने शिकायत दर्ज कराई है।

सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका, 'आधार नंबर से जोड़े जाएं सोशल मीडिया अकाउंट'

EC की शिकायत पर केस

जानकारी के मुताबिक मंत्री गोपाल राय बिना आयोग ( Election Commission ) की इजाजत पम्पलेट बांट रहे थे। इसी दौरान चुनाव आयोग की फ्लाइंग स्क्वायड के एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट मुकुल जोशी ने उन्हें रंगे हाथों पकड़ लिया। फ्लाइंग स्क्वायड की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने कनाट प्लेस थाने में गोपाल राय के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

NIA का खुलासा, पकड़े गए IS के संदिग्धों के घर मिली जाकिर नाइक की CD और किताब

आतिशी ने की थी गौतम गंभीर की शिकायत

वहीं दूसरी ओर पूर्वी दिल्ली से आप की प्रत्याशी आतिशी ने रविवार को चुनाव अधिकारी को एक शिकायत दी है, जिसमें उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी बीजेपी के प्रत्याशी गौतम गंभीर पर कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने लिखा है कि गंभीर ने आदर्श आचार संहिता का उल्लघंन किया है, इसलिए उन्हें 72 घंटों तक प्रचार करने से रोका जाए। साथ ही उन पर प्राथमिकी भी दर्ज की जानी चाहिए।

गंभीर पर 72 घंटे का लगे बैन: आतिशी

आतिशी ने कहा है कि गंभीर ने पिछले तीन दिन में दो बार चुनाव के नियमों को तोड़ा है। उन्होंने लिखा कि मैं प्रार्थना करती हूं कि मेरी शिकायत के चलते गंभीर पर कार्रवाई हो। 28 अप्रैल को सुबह 9:30 बजे दिलशाद गार्डन में उन्होंने बिना इजाजत के रैली की थी। जो की चुनाव के नियमों के विरुद्ध है। वे बार-बार जानबूझकर आचार संहिता का उल्लघंन कर चुनाव आयोग की उपेक्षा कर रहे हैं। इस आधार पर उन्हें चुनाव प्रचार करने से रोका जाए

Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned