महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव को लेकर आयकर विभाग सख्त, मुंबई में अब तक 15.5 करोड़ जब्त

  • महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होने हैं विधानसभा चुनाव।

  • आयकर विभाग की क्विक रिएक्शन टीमें हैं सक्रिय।

  • हर गतिविधि पर है आईटी डिपार्टमेंट की नजर।

Amit Kumar Bajpai

October, 1801:05 AM

राजनीति

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव को लेकर सभी प्रशासनिक विभाग सख्ती एख्तियार कर चुके हैं। आचार संहिता लागू होने के बाद से अबतक अकेले मुंबई में ही आयकर विभाग ने 15 करोड़ रुपये से ज्यादा की नगदी जब्त की है।

आयकर विभाग ने बृहस्पतिवार को बताया कि आगामी 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का मतदान होना है। चुनाव के लिए लागू आदर्श आचार संहिता के बाद से मुंबई में लगभग 15.50 करोड़ रुपये की अवैध नगदी जब्त की गई है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019: एक नजर आंकड़ों पर

विभाग के मुताबिक महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार आगामी 19 अक्टूबर को समाप्त हो रहा है। इसके साथ ही मतदान की तारीख भी करीब है। इसलिए विभाग का कहना है कि वह मतदाताओं को अवैध तरीके से दी जाने वाली बिना हिसाब की नगदी या कीमती वस्तुओं की आवाजाही पर विशेष नजर रखेगा।

इस अवधि के लिए गठित त्वरित प्रतिक्रिया टीमों (क्विक रिएक्शन टीम) के सदस्यों की संख्या को भी बढ़ा दिया गया है। इसकी वजह मतदान की तारीख तक मतदाताओं को किसी भी तरह के लालच या प्रभाव से मुक्त रखकर निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करना है।

आयकर विभाग ने यह भी कहा कि वह पुलिस, जनता और अन्य स्रोतों से संबंधित सदस्यों के सभी कॉल और सुझावों का जवाब देता है। इसके साथ ही दैनिक आधार पर छापेमारी की जा रही है।

बिग ब्रेकिंगः चंद्रयान-2 को लेकर नासा ने कर दिया कमाल, मिल गई तस्वीर... अब इसरो को पता चल...

इसके अलावा इन पहलुओं पर मशहूर हस्तियों के साथ ही प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से हवाई अड्डों, रेडियो चैनलों, सोशल मीडिया, सार्वजनिक परिवहन और ऑडियो-वीडियो संदेशों के जरिए जागरूकता कार्यक्रम भी चलाया जा रहा है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned