ममता बनर्जी की चेतावनी- बंगाल में रहना है तो बांग्ला बोलनी ही होगी

ममता बनर्जी की चेतावनी- बंगाल में रहना है तो बांग्ला बोलनी ही होगी

Chandra Prakash Chourasia | Updated: 14 Jun 2019, 10:14:13 PM (IST) राजनीति

  • पश्चिम बंगाल में जारी है राजनीतिक हिंसा
  • बंगला भाषा को लेकर ममता बनर्जी ने किया ऐलान
  • 'बंगाल को नहीं बनने देंगे गुजरात, यहां बंगाली बोलना जरूरी'

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से साथ ही पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) सरकार और केंद्र के बीच छिड़ी जंग अबतक जारी है। एक ओर जहां राज्य में भारतीय जनता पार्टी भगवा लहराने की कोशिश में है तो दूसरी ओर ममता बनर्जी ( Mamata Banerjee ) अपने गढ़ में सेंध रोकने में जुटी हुई हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को एक बार फिर बंगाल की मुख्यमंत्री ( West Bengal Chief Minister ) ममता बनर्जी ने भाजपा पर जमकर गुस्सा निकाला। उन्होंने कहा कि वह बंगाल को गुजरात नहीं बनने देंगी। ममता ने दो टूक कहा कि वह बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगी कि बंगाल में गुंडे यूं ही बाइकों पर घूमते रहे।

इसरो प्रमुख ने किया ऐलान, अपना स्पेस स्टेशन लॉन्च करेगा भारत

बांग्ला भाषा को आगे बढ़ाना होगा: ममता

नॉर्थ 24 परगना में शुक्रवार को टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हमें बांग्ला भाषा को आगे बढ़ाना होगा। जब मैं बिहार, यूपी या फिर पंजाब जाती हूं तो उनकी भाषा में बोलने की कोशिश करती हूं। इसी तरह अगर आप बंगाल में आए हैं, तो आपको बंगाली ही बोलनी होगी।

बिहार में चमकी बुखार और इंसेफेलाइटिस का कहर, अब तक 54 बच्चों की मौत

बंगाल को गुजरात बनाने की तैयारी में भाजपा: ममता

इससे पहले 10 जून को भी ममता ने पश्चिम बंगाल में जारी तनाव और हिंसा का ठीकरा बीजेपी पर फोड़ा था। सीएम ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी दंगा भड़काने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रही और पश्चिम बंगाल को गुजरात बनाने की तैयारी में जुटी है। ममता ने कहा था कि यहां तक कि बीजेपी मुझे डरा, धमका कर दबाना चाहती है। लेकिन मैं डरने वालों में से नहीं हूं। मां, माटी और मानुष के लिए लड़ती हूं और लड़ती रहूंगी।

नौकरीपेशा लोगों के लिए अच्छी खबर- ESI अंशदान घटा, अब जेब में आएगी ज्यादा सैलरी

Keshari Nath Tripathi

राज्यपाल ने बुलाई थी सर्वदलीय बैठक

बंगाल में राजनीतिक हिंसा और बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर गुरुवार को राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने सर्वदलीय बैठक भी बुलाई थी। कयास लगाए जा रहे थे कि इसमें टीएमसी शामिल नहीं होगी, लेकिन बैठक में बीजेपी, टीएमसी और सीपीएम के नेता पहुंचे थे। हालांकि इस बैठक का क्या हल निकला इसकी कोई जानकारी अबतक नहीं आई है। राज्यपाल ने इसी सप्ताह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से मिलकर बंगाल हिंसा से संबंधित रिपोर्ट सौंपी थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned