मोदी सरकार पर ममता का तीखा हमला, कहा- देश में इमरजेंसी से भी गंभीर हालात, अब पूरे देश में होगा खेला

ममता बनर्जी ने 2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कहा कि पूरे देश में खेला होगा। यह एक सतत प्रक्रिया है.. जब आम चुनाव (2024) आएंगे, तो यह मोदी बनाम पूरा देश होगा।

By: Anil Kumar

Updated: 28 Jul 2021, 05:30 PM IST

नई दिल्ली। पाचं दिवसीय दौरे पर दिल्ली पहुंची पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर बुधवार को जबरदस्त हमला बोला है। ममता ने कहा कि देश में अभी के हालात इमरजेंसी से भी गंभीर हैं। अभी फ्रीडम ऑफ प्रेस (प्रेस की आजादी) बिल्कुल भी नहीं बची है।

पेगासस विवाद पर बोलते हुए ममता ने कहा कि मेरा फोन को हैक किया गया। साथ ही अभिषेक औऱ प्रशांत किशोर का भी फोन हैक किया गया। उन्होंने कहा कि पेगासस के जरिए हमारी सुरक्षा को खतरे में डाला जा रहा है। हमने अपने कुछ लोगों को त्रिपुरा भेजा, जहां उन्हें नजरबंद कर दिया गया है। संसद में कोई काम नहीं हो पा रहा है और विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है।

यह भी देखें:- VIDEO: सीएम ममता ने पीएम मोदी से की मुलाकात, कहा- पेगासस विवाद की होनी चाहिए जांच

ममता ने महंगाई के मुद्दे पर भी मोदी सरकार को जमकर घेरा और कहा कि आज GDP का मतलब गैस-डीजल-पेट्रोल (Gas-Diesel-Petrol) हो गया है। सरकार इसके जरिए जनता से पैसा इकट्ठा कर रही है लेकिन उनके पास COVID-19 टीकों के लिए पैसा ही नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि नरेंद्र मोदी 2019 में लोकप्रिय थे। आज उन्होंने शवों का रिकॉर्ड नहीं रखा है, अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया गया और शवों को गंगा नदी में फेंक दिया गया। जिन लोगों ने अपनों को खोया वे भूलेंगे नहीं और माफ करेंगे।

'अब पूरे देश में होगा खेला'

ममता बनर्जी ने 2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कहा कि पूरे देश में खेला होगा। यह एक सतत प्रक्रिया है.. जब आम चुनाव (2024) आएंगे, तो यह मोदी बनाम पूरा देश होगा। जब ममता से पूछा गया कि क्या वह 2024 में विपक्ष का चेहरा होंगी? इसपर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि मैं कोई राजनीतिक ज्योतिषी नहीं हूं, यह स्थिति पर निर्भर करता है। आज मेरी सोनिया जी और अरविंद केजरीवाल से मुलाकात है। संसद सत्र के बाद विपक्षी दलों को मिलना चाहिए।

ममता ने आगे कहा कि विपक्षी एकता राजनीतिक पार्टियों पर निर्भर करता है। यदि कोई लीड करता है तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है। मैं किसी पर अपना ओपिनियन नहीं थोपना चाहती हूं। अभी कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, हम संसद सत्र के बाद सभी राजनीतिक दलों के साथ मिलकर बात करेंगे।

यह भी पढ़ें :- पेगासस विवाद समेत अन्य मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी, बुधवार को विपक्षी दलों की अहम बैठक

लालू यादव से भी उनकी बात हुई है, सभी लोग साथ आना चाहते हैं। सोनिया गांधी भी विपक्षी एकता चाहती हैं और उनसे मिलकर इस विषय पर बात करूंगी। उन्होंने कहा कि अगर विपक्षी मोर्चे पर सभी गंभीर होकर काम करते हैं, तो 6 महीने में नतीजे दिख सकते हैं।

ममता बनर्जी ने कहा कि मेरे सभी विपक्षी नेताओं के साथ अच्छे संबंध हैं, अगर राजनीतिक आंधी चली तो कोई उसे रोक नहीं पाएगा। अब 'खेला होबे' की गूंज पूरे देश में सुनाई देगी। ममता बनर्जी ने कहा कि अब हम सच्चा दिन देखना चाहते हैं.. बहुत दिनों तक अच्छे दिन का इंतज़ार किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा बहुत मजबूत पार्टी है और अब विपक्ष को मजबूत होना होगा.. उम्मीद है कि 2024 में इतिहास रचेंगे। राजनीति में चीजें बदल जाती हैं। सियासी तूफ़ान आया तो हालात को संभालना हुआ मुश्किल।

सोनिया गांधी से मिलीं ममता

ममता बनर्जी ने बुधवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से 10 जनपथ पर जाकर मुलाकात कीं। इस दौरान राहुल गांधी भी मौजदू रहे। बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए ममता ने कहा कि सोनिया जी ने मुझे चाय पर आमंत्रित किया, राहुल जी भी वहां थे। हमने सामान्य रूप से राजनीतिक स्थिति, पेगासस और कोविडस्थिति पर चर्चा की और विपक्ष की एकता पर भी चर्चा की। यह बहुत अच्छी मुलाकात थी। मुझे लगता है कि भविष्य में सकारात्मक परिणाम सामने आने चाहिए।

पश्चिम बंगाल की सीएम और टीएमसी नेता ममता बनर्जी से जब पूछा गया कि क्या वह विपक्ष का नेतृत्व करेंगी? इसपर उन्होंने कहा कि बीजेपी को हराने के लिए सबका साथ आना जरूरी है.. अकेला, मैं कुछ भी नहीं- सबको मिलकर काम करना होगा.। मैं नेता नहीं हूं, मैं एक कैडर हूं। मैं गली का व्यक्ति हूं:

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned