Congress राज्यसभा सांसदों के साथ Sonia Gandhi की बैठक, Rahul Gandhi को फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग

  • Sonia Gandhi ने RS सांसदों के साथ की बैठक
  • मीटिंग में कुछ नेताओं ने राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) को दोबारा अध्यक्ष बनाने की मांग की

By: Kaushlendra Pathak

Published: 31 Jul 2020, 11:21 AM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (coronavirus crisis) संकट के बीच कांग्रेस ( Congress ) पार्टी में एक बार फिर सियासी हलचल तेज हो गई है। पार्टी के अंदर एक बार फिर से राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) को कांग्रेस अध्यक्ष ( Congress President ) बनाने की मांग उठी है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi ) ने पार्टी के राज्यसभा सांसदों ( Rajya Sabha MP ) के साथ बैठक की, जिसमें कई नेताओं ने राहुल गांधी को दोबारा कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की पैरवी की। इस मांग से पार्टी के अंदर सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। इतना ही नहीं पार्टी के अंदर युवा ( Youth ) बनाम बुजुर्ग (OLD) का मामला एक बार फिर शुरू हो गया है।

Rahul Gandhi को फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग

दरअसल, सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi Meeting With rajya sabha mp ) ने गुरुवार को पार्टी के राज्यसभा सांसदों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। इस बैठक में पीएल पुनिया (pl punia), रिपुन बोरा ( Ripun Bora), छाया वर्मा ( Chhaya Verma ) समेत कुछ नेताओं ने राहुल गांधी को दोबारा कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की बात कही। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन लोगों का कहना है कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ही ऐसे नेता हैं, जो विपक्ष की आवाज बुलंद कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) को लगातार चुनौती दे रहे हैं। इन नेताओं का कहना है कि पार्टी के अंदर जो समस्या चल रही है, उससे राहुल गांधी ही निजात दिला सकते हैं। दरअसल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल (kapil sibal) ने कहा था कि पार्टी को आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत है। जबकि, पी चिदंबरम ( p chidambaram) ने कहा कि ब्लॉक (Block) और जिला (District) स्तर पर संगठन कमजोर है। राहुल गांधी के एक करीबी नेता ने इन दोनों नेताओं के बयान का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि जब हम सत्ता में थे तब से आत्मनिरीक्षण होना चाहिए। नेता ने यहां तक कहा है कि कपिल सिब्बल के प्रदर्शन का भी समीक्षा होना चाहिए। जिस तरह से बैठक में विरोध उत्पन हुए, उससे साफ है कि पार्टी में एक बार बुजुर्ग बनाम युवा की चर्चा तेज हो गई है।

पार्टी में ओल्ड Vs यंग

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव (Loksabha Chunav) में कांग्रेस पार्टी को करारी शिकस्त मिलने के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। राहुल गांधी को मनाने की काफी कोशिश की गई, लेकिन वह अपनी जिद पर अड़े रहे हैं। बाद में सर्वसम्मति से सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया था। वहीं, एक बार फिर राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग उठी है। जिसने पार्टी के अंदर के एक नई सियासी हवा दे दी है। हालांकि, सोनिया गांधी की ओर से इस पूरे मामले पर कोई बयान नहीं दिया गया। वहीं, राहुल गांधी ने भी अब तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned