ट्रेन में मसाज सर्विस पर सुमित्रा महाजन को आपत्ति, कहा- महिलाओं को होगी दिक्कत

ट्रेन में मसाज सर्विस पर सुमित्रा महाजन को आपत्ति, कहा- महिलाओं को होगी दिक्कत

Chandra Prakash Chourasia | Publish: Jun, 15 2019 05:16:06 PM (IST) | Updated: Jun, 15 2019 05:43:41 PM (IST) राजनीति

  • ट्रेन में मसाज सर्विस का विरोध
  • सुमित्रा महाजन ने रेल मंत्री पीयूष गोयल का लिखा खत
  • 39 ट्रेनों में मिलेगी सिर और पैर मसाज की सुविधा

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ( Indian Railways ) ने कुछ दिनों पहले 39 ट्रेनों में मसाज सर्विस ( massage Service ) शुरू करने का ऐलान किया था। देशभर से इसपर अगल-अलग प्रतिक्रियाएं आने लगीं। अब पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ( Sumitra Mahajan ) ने इस मसाज सर्विस पर एतराज जताया है। इससे पहले बीजेपी सांसद शंकर लालवानी ने भी इसे मसाज सर्विस को स्तरहीन बताया था।

 

मसाज से महिलाओं को मुश्किल
महाजन ने रेलमंत्री पीयूष गोयल को इस संबंध में चिट्ठी लिखी है। उन्होंने कहा कि ट्रेन में होने वाली मसाज से महिलाओं को मुश्किल हो सकती है।

कहानी मेडिसिन बाबा की, जो गरीबों के लिए भीख मांगते हैं दवाइयां

बीजेपी नेता सुमित्रा महाजन ने खत के जरिए रेल मंत्री से कुछ सवाल भी पूछे हैं।

- क्या रतलाम रेल मंडल चलती ट्रेन में यात्रियों के लिए मसाज सर्विस शुरू करने वाला है?
- क्या इस नीतिगत फैसले के लिए रतलाम रेल मंडल ने रेल मंत्रालय की मंजूरी ली है?
- चलती ट्रेन में मसाज की सुविधा कैसे दी जाएगी, क्योंकि यात्रा के दौरान विशेषकर महिलाओं की सुरक्षा और सहजता पर भी सवाल उठता है?
- क्या इंदौर स्टेशन पर भी कोई मसाज पार्लर खोले जाने की योजना है?
- लंबी दूरी की ट्रेनों में इस सुविधा की दर और अवधि क्या होगी।

झारखंड: सरायकेला में पुलिस काफिले पर नक्सली हमला, 5 जवान शहीद

Indian Railway

बीजेपी सांसद ने बताया था स्तरहीन सेवा

इंदौर से बीजेपी सांसद शंकर लालवानी ने भी 10 जून को रेल मंत्रालय को खत लिखकर मसाज सर्विस पर एतराज जताया था। लालवानी ने पूछा था कि क्या महिलाओं की मौजूदगी में इस तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराना भारतीय संस्कृति के सूत्रों के खिलाफ नहीं है? उन्होंने कहा था कि यात्रियों के लिए स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराइए। मेरे ख्याल से रेलवे के लिए डॉक्टर ज्यादा जरूरी हैं न कि ये स्तरहीन सेवाएं

रेलवे की ओर से आ चुकी है सफाई

रतलाम रेलवे डिविजनल मैनेजर (डीआरएम) ने सोशल मीडिया पर इस सर्विस के विरोध के बाद स्पष्टीकरण भी दिया था। उन्होंने कहा था कि इस योजना के तहत यात्रियों को फुल बॉडी मसाज की सुविधा नहीं मिलेगी। सिर्फ सिर और पैर मसाज की सुविधा ही मुहैया कराई जाएगी। साथ ही ये सर्विस सुबह 6 बजे से रात 10 बजे के बीच ही मिलेगी।

दिल्ली में 24 घंटे में 5 हत्या पर गुस्साए केजरीवाल, दिल्ली पुलिस का जवाब- अपराध घटा है

massage in trains

क्या है पूरा मामला

बता दें कि रेलवे ने इंदौर से चलने वाली 39 ट्रेनों में मसाज सर्विस शुरू करने का फैसला किया है। यात्रियों को सिर और पैरों की मसाज सर्विस तीन कैटेगरीज में उपलब्ध होगी। इसमें गोल्ड (100 रुपये ), डायमंड (200 रुपये ) और प्लैटिनम (300 रुपये ) शामिल हैं। मसाज सर्विस के पीछे रेलवे रेवेन्यू का हवाला दे रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक इससे रेलवे 20 लाख रुपये का सालाना रेवेन्यू अर्जित करेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned