scriptPratapgarh News : किसानों ने बुवाई के लिए खाद-बीज का किया इंतजाम, अब अच्छी बारिश का है इंतजार | Farmers have arranged for fertilizers and seeds for sowing, now they are waiting for good rain | Patrika News
प्रतापगढ़

Pratapgarh News : किसानों ने बुवाई के लिए खाद-बीज का किया इंतजाम, अब अच्छी बारिश का है इंतजार

जिले में प्री मानसून की बारिश के साथ ही भूमिपुत्रों ने खरीफ बुवाई के लिए खाद-बीज का इंतजाम कर लिया है। ऐसे में अब किसानों को मानसून का इंतजार है।

प्रतापगढ़Jun 27, 2024 / 05:14 pm

Supriya Rani

प्रतापगढ़. जिले में प्री मानसून की बारिश के साथ ही भूमिपुत्रों ने खरीफ बुवाई के लिए खाद-बीज का इंतजाम कर लिया है। ऐसे में अब किसानों को मानसून का इंतजार है। जबकि कुछ इलाकों में हुई अच्छी बारिश से खेतों में बुवाई शुरू की गई है। जिले में कई इलाकों में सुबह बादल छाने के साथ ही मध्यम बारिश हुई। दोपहर बाद उमस बढ़ गई। इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। जिले में गत दिनों से मौसम मिला-जुला रहता है। इससे किसानों ने भी खेत तैयार कर लिए है। खरीफ बुवाई के लिए सोयाबीन, मक्का, उड़द आदि की तैयारी कर ली है। जहां किसानों ने परम्परागत रूप से अपने खेत के बीज ही बुवाई के लिए तैयार किए है। वहीं कई किसानों ने उन्नत किस्म के बीजों की बुवाई के लिए खरीदे है। कृषि विभाग की ओर से भी इन दिनों जिले में लघु सीमांत किसानों को उन्नत किस्म के मक्का बीज का वितरण किया जा रहा है। इस वर्ष कृषि विभाग ने सोयाबीन का रकबा घटाकर मक्का का बढ़ाया है।

आंकड़ों के अनुसार गत वर्ष मक्का की बुवाई 45 हजार 7 सौ हैक्टेयर में की गई थी। वहीं इस वर्ष यह आंकड़ा 50 हजार किया गया है। जबकि सोयाबीन का आंकड़ा एक लाख 26 हजार से एक लाख 25 हजार हैक्टेयर में किया गया है। इसी प्रकार मूंगफली का आंकड़ा भी बढय़ा गया है। सोयाबीन का रकबा घटायाकृषि विभाग की ओर से इस बार खरीफ की सीजन में काफी बदलाव किया गया है। सोयाबीन का रकबा घटाया गया है। जबकि मक्का का रकबा बढ़ाया गया है। आंकड़ों के अनुसार सोयाबीन का रकबा एक लाख 26 हजार से घटाकर एक लाख 25 हजार किया गया है। मक्का का रकबा 45 हजार से बढ़ाकर 50 हजार, मूंगफली का साढ़े तीन हजार से बढ़ाकर 4 हजार हैक्टेयर किया गया है। दलहन का 12 सौ बढ़ाकर 3 हजार हैक्टेयर किया गया है। जिससे किसानों को इसका लाभ मिल सके।

फसल चक्र पर जोर

खेतों की हालत सुधारने को लेकर कृषि विभाग की ओर से खरीफ की सीजन में काफी बदलाव किया गया है। जिसमें सोयाबीन का रकबा एक लाख 26 हजार से घटाकर एक लाख 25 हजार किया गया है। मक्का का रकबा 45 हजार से बढ़ाकर 50 हजार, मूंगफली का साढ़े तीन हजार से बढ़ाकर 4 हजार हैक्टेयर किया गया है। दलहन का 12 सौ बढ़ाकर 3 हजार हैक्टेयर किया गया है।

जिले में खरीफ बुवाई और लक्ष्य का आंकड़ा

फसल गत 5 वर्षों का औसत 2023-24 2024-25

मक्का 35000 45700 50000

ज्वार – 20 250

धान 54 147 5000

दलहन 3400 1300 3000
सोयाबीन 115967 126679 125000

मूंगफली 1786 3500 4000

तिल 250 97 200

कपास 737 1383 1500

अन्य 1597 1654 10500

योग 158657 179562 193350

(आंकड़े कृषि विभाग के अनुसार)

Hindi News/ Pratapgarh / Pratapgarh News : किसानों ने बुवाई के लिए खाद-बीज का किया इंतजाम, अब अच्छी बारिश का है इंतजार

ट्रेंडिंग वीडियो