पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक के खिलाफ PMO से शिकायत, दवा खरीदी में कमीशन लेने का लगा आरोप

खुल रही गड़बडिय़ों की फाइल, विभाग में मचा हड़कंप .

रायगढ़ . एक तरफ प्रदेश सरकार नरवा,गरवा,घुरवा,बाड़ी योजना के तहत कई नए कार्य कर रही है वही रायगढ़ जिले के पशु चिकित्सा विभाग विवादों में फसा हुआ है। आपको बता दें भाजपा पदाधिकारियों द्वारा पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक के खिलाफ की गई शिकायत में जांच एक कदम और आगे बढ़ी है। उप संचालक आरएच पांडेय से जांच टीम के पत्र के आधार पर दस्तावेजों की पोटली तैयार कर दी है। वहीं टीम ने कुछ कर्मचारियों का बयान भी लिया है। विदित हो कि जुलाई माह में तीन दर्जन से अधिक भाजपा के पदाधिकाारियों ने उप संचालक पशु चिकित्सा विभाग के खिलाफ पीएमओ में शिकायत की थी।

छत्तीसगढ़ में बगैर GPS की सड़कों पर दौड़ रही गाडि़यां, अपराध कम करने केंद्र सरकार ने लागू किया था ये नियम

शिकायत के बाद 6 जुलाई को कलेक्टर के निर्देश पर डिप्टी कलक्टर सरस्वती बंजारे के नेतृत्व में अनिल पटेल कोषालय अधिकारी व जग जीवन जांगड़े अल्प बचत अधिकारी की तीन सदस्यीय टीम गठित की गई। उक्त टीम इस मामले में आदेश के बाद से जांच कर रही है, लेकिन अभी तक उप संचालक पशु चिकित्सा विभाग द्वारा दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराया जा रहा था।

अगर करना चाहते है खरीदारी और निवेश तो जान लें श्रेष्ठ मुहूर्त के ये तारीख, समय निकल गया तो होगा पछतावा

पिछले दिनों जिन बिंदुओं पर जांच की जा रही है उससे संबंधित फाइलों की पोटली तैयार कर जांच टीम के सुपुर्द किया है। वहीं सोमवार को पशु चिकित्सा विभाग के कुछ कर्मचरियों को बुलाकर बयान लिया गया है। अब जांच टीम विभाग के कर्मचारियों का बयान लेने के साथ ही साथ सौंपी गई फाइलों को खंगालने का काम शुरू कर दी है। बताया जाता है कि करीब सप्ताह भर में जांच पूरी करते हुए रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को पुटअप कर दिया जाएगा। हालांकि कुछ बिंदुओं पर जांच पूरी होने की बात भी कही जा रही है।

इस काम के लिए रेलवे स्टेशन के पास बनने जा रहा है 45 करोड़ रुपए में सात मंजिला बिल्डिंग

इन बिंदुओं पर हुई है शिकायत
* गिने चुने फर्मो से भंडार क्रय नियम के विपरित दवा खरीदी में कमीशन लेना।
* तृतीय व चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों को पेंशन व सातवां वेतनमान का निर्धारण न करना।
* अनुकंपा नियुक्ति में बिना चढ़ावा के काम नहीं करना।
* आयकर विवरणी के लिए फार्म 16 समय पर उपलब्ध नहीं कराना।
* तृतीय वर्ग कर्मचारी को आवंटित आवास में पदस्थापना से अब तक रहना।

रास्ता रोककर नाबालिग से किया छेडछाड़, कोर्ट ने भेजा तीन साल के लिए जेल

शिकायतों का भंडार
इससे पहले दो जांच रिपोर्ट शासन को भेजी जा चुकी है तो वहीं दो अन्य शिकायत पर जांच किया जा रहा है। इसके पहले विभाग के उच्च अधिकारियों के पास हुई शिकायत पर रायपुर व बिलासपुर से आई टीम ने भी जांच कर रिपोर्ट पेश राजधानी में उच्च अधिकारियों को भेजा जा चुका है।

CM भूपेश का बड़ा बयान: किसानों के साथ बेरोजगारों को थामेगी सरकार, धान खरीदी और बोनस का किया ऐलान

इस मामले में हुई शिकायत के आधार पर जांच का निर्देश मिला है। तीन लोगों की टीम जांच कर रही है। जांच रिपोर्ट जल्द ही उच्च अधिकारियों को पेश किया जाएगा।
अनिल पटेल, जिला कोषालय अधिकारी

Click & Read More Chhattisgarh News.

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned