scriptBaloda Bazar Violence: हिंसा के बाद हटाए गए कलेक्टर व SP, इंटेलिजेंस की टीम को किया अलर्ट | Baloda Bazar Violence: Transfer of Collector and SP | Patrika News
रायपुर

Baloda Bazar Violence: हिंसा के बाद हटाए गए कलेक्टर व SP, इंटेलिजेंस की टीम को किया अलर्ट

Baloda Bazar Violence: देर रात जारी आदेश के अनुसार बलौदाबाजार एसपी कुमार लाल चौहान को मंत्रालय में विशेष सचिव बनाया गया है….

रायपुरJun 12, 2024 / 12:31 pm

चंदू निर्मलकर

Baloda Bazar Violence
Baloda Bazar Violence: राज्य सरकार ने बलौदाबाजार में हुए घटनाक्रम के बाद कलेक्टर कुमार लाल चौहान और एसपी सदानंद कुमार को हटा दिया है। मंगलवार की देर रात जारी आदेश के अनुसार बलौदाबाजार एसपी कुमार लाल चौहान को मंत्रालय में विशेष सचिव बनाया गया है।
उनके स्थान पर रजिस्टर सहकारी संस्थाएं एवं मनरेगा आयुक्त दीपक सोनी को नया कलेक्टर बनाया गया है। वहीं, एसपी सदानंद कुमार को पुलिस मुख्यालय भेजा गया है। ( Baloda Bazar Violence ) उनके स्थान पर अंबिकापुर के एसपी विजय अग्रवाल को जिम्मेदारी सौंप गई है। वहीं सेनानी चौथी बटालियन माना से योगेश पटेल को अंबिकापुर का एसपी बनाया गया है।
यह भी पढ़ें

Baloda Bazar Violence: हिंसा के बाद राजनीति कलह शुरू, विपक्ष ने कहा – CM दें इस्तीफा

Baloda Bazar Violence News: पीएचक्यू ने किया अब इंटेलिजेंस की टीम को अलर्ट

राज्य पुलिस मुख्यालय ने बलौदाबाजार में हुई घटना के बाद इंटेलिजेंस की टीम को अलर्ट कर दिया है। उन्हें पूरे प्रकरण की जांच करने के साथ ही रिपोर्ट मांगी गई है। साथ ही स्थानीय एसआईबी से पूछा गया है कि अचानक हुए इस घटनाक्रम के पीछे की क्या वजह है। रैली के दौरान भीड़ क्यो आक्रोशित हो गई थी।
इसकी भनक पुलिस और इंटेलिजेंस को कैसे नहीं मिल पाई। जबकि समाज विशेष के लोग पिछले महीनेभर से विरोध प्रर्दशन कर रहे थे। इसके पहले आरंग थाना क्षेत्र में 3 लोगों को पीटकर मार डालने की घटना हुई है। लगातार सप्ताहभर में हुई दो घटनाओं को देखते हुए प्रदेश के कुछ अन्य संवेदनशील इलाकों पर पैनी नजर रखने कहा गया है।
यह भी पढ़ें

Baloda Bazar Jaitkham: सतनामी समाज के 3 से 4 हजार लोगों ने कलेक्टर-SP ऑफिस में लगाई आग, बाल-बाल बचे अफसर, VIDEO

बताया जाता है कि राज्य सरकार की नाराजगी के बाद डीजीपी ने प्रदेशभर के जिलों, तहसील और अन्य प्रमुख स्थानों में तैनात इंटेलिजेंस की टीम को अलर्ट रहने कहा है। ताकि इस सतह की घटना को पुनरावृति को रोका जा सकें। बता दें कि इसके पहले जनवरी 2023 में धर्मातरण को लेकर नारायणपुर और इसके पहले कवर्धा में हुए घटनाक्रम को देखते हुए गृहविभाग में प्रकरण को गंभीरता से लिया है।

इंटेलिजेंस की भूमिका को लेकर सवाल

डीजीपी ने सप्ताहभर में लगातार हुई दो घटनाओँ को देखते हुए इंटेलिजेंस के अधिकारियों पर नाराजगी जताई है। साथ ही किसी भी तरह के इनपुट नहीं देने पर स्थानीय स्तर तैनात टीम के भूमिका पर सवाल उठाया है। बताया जाता है कि मुख्यालय से एसआईबी के अधिकारियों को पूरे मामले में नजर रखने कहा है। साथ ही किसी भी तरह के इनपुट मिलने पर तुरंत इसकी जानकारी देने के निर्देश दिए है। बता दें कि पुलिस मुख्यालय में एसआईबी दो यूनिट शहरी और नक्सली क्षेत्र में होने वाली गतिविधियों पर निगाह रखती है। साथ ही इसकी रिपोर्ट संबंधित विभाग को भेजी जाती है।

Hindi News/ Raipur / Baloda Bazar Violence: हिंसा के बाद हटाए गए कलेक्टर व SP, इंटेलिजेंस की टीम को किया अलर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो