script CG Election Result 2023 : मनेंद्रगढ़ व रायपुर उत्तर का पहले आएगा रिजल्ट, जिला मुख्यालयों में तैयारियां हुई पूरी | CG Election Result 2023 : Manendragarh, Raipur North will first result | Patrika News

CG Election Result 2023 : मनेंद्रगढ़ व रायपुर उत्तर का पहले आएगा रिजल्ट, जिला मुख्यालयों में तैयारियां हुई पूरी

locationरायपुरPublished: Nov 29, 2023 12:24:03 pm

CG Election Result 2023 : यहां का रिजल्ट सबसे पहले आएगा। इसके बाद रायपुर उत्तर का रिजल्ट आएगा, यहां 14 राउंड में मतगणना होगा...

cg_election_2023_news.jpg
cg election result 2023 : प्रदेश के सभी 90 विधानसभा सीटों के लिए दो चरणों में हुए मतदान के बाद 3 दिसंबर को मतगणना होगी। इसके लिए सभी 33 जिला मुख्यालयों में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्रदेश की 90 विधानसभा सीटों में से सबसे कम मनेन्द्रगढ़ एवं भिलाई नगर में 12 राउंड में मतगणना होगी। यहां का रिजल्ट सबसे पहले आएगा। इसके बाद रायपुर उत्तर का रिजल्ट आएगा, यहां 14 राउंड में मतगणना होगा। वहीं कवर्धा में सबसे अधिक 30 राउंड में मतगणना होगी। इसके बाद कसडोल- पंडरिया में 29 राउंड में मतगणना होगी।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबासाहेब कंगाले ने बताया कि सभी मतगणना केंद्रों में प्रेक्षकों की निगरानी में होने वाली मतगणना के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए 14 टेबल लगाए गए हैं। मतों की गिनती सुबह आठ बजे से शुरू होगी, जिसमें सबसे पहले सेवा मतदाताओं के मतों की गणना होगी। सबसे पहले ईटीपीबीएस (इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम) से प्राप्त मतों के क्यूआर कोड की स्कैनिंग की जाएगी। उसके बाद डाक मतपत्रों की गिनती शुरू होगी। साढ़े आठ बजे के बाद सभी टेबलों पर एक साथ मतगणना शुरू होगी।
प्रत्याशी किसी भी टेबल पर, एजेंट निर्धारित टेबल देख सकेंगे मतगणना
मतगणना के दौरान प्रत्याशी किसी भी टेबल पर जाकर मतगणना को देख सकेंगे। जबकि प्रत्याशी के एजेंट सिर्फ निर्धारित टेबल पर ही मतगणना का निरीक्षण करेंगे। मतगणना की पूरी कार्यवाही मतगणना प्रेक्षक तथा सामान्य प्रेक्षक की उपस्थिति तथा निगरानी में होगी। इस दौरान प्रत्येक राउंड की समाप्ति पर प्रत्याशी या उनके एजेंट की उपस्थिति एवं प्रेक्षक की निगरानी में रैंडम आधार पर किसी दो कंट्रोल यूनिट की जांच की जाएगी। इसके अलावा सभी राउंड की गणना पूर्ण होने पर पांच वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपेट) का ड्रॉ के माध्यम से चयन कर मतों का सत्यापन किया जाएगा।
इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ले जाने की मनाही
पूरी मतगणना प्रक्रिया की रिकार्डिंग भी रखी जाएगी। इस दौरान प्रेक्षक तथा रिटर्निंग ऑफिसर को छोड़कर मतगणना कक्ष में किसी को भी मोबाइल ले जाने की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा कोई भी अन्य व्यक्ति अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरण यथा आईपेड, रिकार्डर, वीडियो कैमरा जैसे अन्य उपकरण नहीं ले जा सकेंगे।

कैसे करना है ईवीएम में वोटों की गिनती, मिला प्रशिक्षण
मतगणना 03 दिसंबर को सेजबहार स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज में सुबह 08 बजे से किया जाएगा। इसके लिए पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी में मतगणना पर्यवेक्षक एवं गणना सहायकों को मास्टर ट्रेनरों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। इस अवसर पर कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भुरे और जिला पंचायत सीईओ अबिनाश मिश्रा उपस्थित थे। मास्टर ट्रेनर्स डॉ. अजीत हुंडेट एवं राकेश डेढगवे नेे बताया कि डाक मतपत्र की गणना शुरू होने के 30 मिनट बाद मशीन से गणना की शुरुआत होगी।
यह होगी प्रक्रिया

- मतगणना के समय कंट्रोल यूनिट में दिखाई देने वाले रिजल्ट प्रत्याशियों के एजेंट, गणना सहायकों को दिखाएंगे।

- गणना सहायक ईवीएम में दिखाई देने वाले रिजल्ट को क्रमांकवार प्रारूप 17 सी के भाग दो में भरेंगे।
- गणना सहायकों को कहा गया कि वे परिणाम को सही एवं सावधानीपूर्वक प्रपत्र में भरेंगे।

- अपने निर्धारित टेबल पर ही रहने के निर्देश दिए गए।

हर टेबल में तीन कर्मचारी
प्रत्येक टेबल में तीन कर्मचारी मतगणना सुुपरवाइजर, मतगणना सहायक तथा माइक्रो ऑब्जर्वर होंगे। सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती होगी। उसके बाद ईवीएम से प्राप्त वोटों की गिनती रिटर्निंग अधिकारियों की घोषणा के बाद शुरू की जाएगी। सबसे पहले टेबल में कंट्रोल यूनिट लाया जाएगा तथा मतपत्र लेखा भाग-दो अलग से दो प्रतियों में दिया जाएगा। उसके बाद कंट्रोल यूनिट में लगे सील की जांच कर उसे खोलेंगे। इसके बाद टोटल बटन दबाएंगे। ईवीएम में प्रदर्शित टोटल मतदान को मतपत्र भाग-1 से मिलान किया जाएगा। इसके बाद रिजल्ट का बटन दबाया जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो