रेलवे के पुराने दिन लौटे, अब नवंबर तक पीक यात्री सीजन, टिकट काउंटरों पर भीड़

- रेलवे के आरक्षण काउंटरों में पहले जितना बनने लगा रिजर्वेशन टिकट

- सभी दिशाओं के लिए रेल सेवा की बहाली के बाद रिजर्वेशन की तादाद बढ़ी

By: Ashish Gupta

Updated: 21 Oct 2020, 09:00 AM IST

रायपुर. अभी भले ही सभी 130 ट्रेनें पटरी पर नहीं लौटी हैं, परंतु रेलवे के पुराने दिन लौटने लगे हैं। त्योहारी सीजन में रायपुर जंक्शन से ट्रेनों की आवाजाही बढ़ने के साथ ही रेलवे का नवंबर तक पीक यात्री सीजन (Indian Railways peak passenger season) होगा, क्योंकि आरक्षण टिकट काउंटरों में पहले जैसा रिजर्वेशन का आंकड़ा पहुंचने लगा है। सभी दिशाओं के लिए रेल सेवा की बहाली के बाद रिजर्वेशन की तादाद बढ़ी है।

पिछले सात महीने से कोरोना के कारण रेल सेवा काफी प्रभावित हुई है। अभी भी कई ट्रेनें चलने का इंतजार यात्रियों का है। पूजा स्पेशल सहित 22 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलने के कारण रिजर्वेशन टिकट की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। रेल अफसरों के अनुसार सामान्य दिनों में स्टेशन के मुख्य आरक्षण केंद्र से हर दिन 1500 टिकट बनता था। इस समय 1350 तक पहुंच गया है। जबकि रायपुर डिवीजन में हर दिन 5 से 6 हजार बनता तो इस समय 4500 टिकट बन रहा है। यही वजह है कि रिजर्वेशन काउंटरों में लंबी कतारें लगने लगी हैं।

रेलवे ने किया 17 और पूजा स्पेशल ट्रेनें चलाने का ऐलान, टाइम टेबल जारी, देखें पूरा शेड्यूल

किसान आंदोलन में फंसी अमृतसर ट्रेन
कोरोनाकाल के सात महीने बाद कोरबा-बिलासपुर अमृतसर एक्सप्रेस पहली बार मंगलवार को रवाना हुई। सप्ताह में तीन दिन चलने वाली यह ट्रेन वापसी में किसान आंदोलन में फंस रही है। इसलिए रेलवे ने वापसी में मथुरा से बिलसापुर आएगी।

दो ट्रेनों का नंबर बदला
विशाखापट्टनम-निजामुद्दीन समता एक्सप्रेस और बिलासपुर-पटना पूजा स्पेशल ट्रेन का नंबर बदला है। सप्ताह में पांच दिन चलने वाली समता एक्सप्रेस अब 02887 नंबर से विशाखापट्नम से और निजामुद्दीन से 02888 नंबर से चलेगी। इसी तरह बिलासपुर से 02893 नंबर से और पटना से 02894 नंबर के साथ चलेगी। इन्हीं नए ट्रेन नंबरों से रिजर्वेशन टिकट बनेगा।

छत्तीसगढ़ के इन इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया येलो अलर्ट

स्टेशन का वीआईपी गेट भी यात्रियों के लिए खुला
स्टेशन में यात्रियों की आवाजाही और ट्रेनों की संख्या बढ़ने लगी है। इसे देखते हुए डीआरएम श्याम सुंदर गुप्ता के निर्देश पर अब यात्री दोनों गेट से आना-जाना कर सकेंगे। अभी तक वीआईपी गेट 1 नंबर बंद था। वहीं दोनों मुख्य गेट के पास स्टॉपर और सोशल डिस्टेसिंग के लिए मार्किंग कराई गई। ताकि यात्री बारी-बारी से प्लेटफार्म में प्रवेश कर सकें।

सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद पंवार ने कहा, रिजर्वेशन टिकट बनने का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। दशहरा, दिवाली और छठपूजा की वजह से नवंबर तक पीक यात्री सीजन है। स्टेशन में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मार्किंग कराई गई है।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned