Rajdhani Hospital Fire: राजधानी अस्पताल अग्निकांड मामले में दो डॉक्टर गिरफ्तार, गैर इरादतन हत्या का आरोप दर्ज

Rajdhani Hospital Raipur: रायपुर के राजधानी अस्पताल अग्निकांड मामले (Raipur Rajdhani Hospital Fire Case) में संचालक मंडल के दो डॉक्टर सचिन मल अरविंदो राय गिरफ्तार कर लिया है।

By: Ashish Gupta

Updated: 04 May 2021, 01:33 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ के रायपुर के राजधानी अस्पताल अग्निकांड मामले (Raipur Rajdhani Hospital Fire Case) में संचालक मंडल के दो डॉक्टर सचिन मल अरविंदो राय गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने संचालक मंडल के दो डॉक्टर सचिन मल अरविंदो राय को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने संचालक मंडल के दोनों डॉक्टरों को गैर इरादतन हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ धारा 304 ए के तहत अपराध दर्ज किया है। बता दें कि राजधानी अस्पताल के आईसीयू में आग लगने से 7 मरीजों की मौत हो गई थी।

यह भी पढें: छत्तीसगढ़ में गुजर गया पीक, कोरोना की रफ्तार हुई थोड़ी कम, जानिए एक्सपर्ट ने क्या कहा

राजधानी अस्पताल मामले की जांच नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग ने अटकाई
इधर, इस मामले में अभी तक स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम ने अपनी रिपोर्ट नहीं दी है। पुलिस को फॉरेंसिक साइंस और फायर सेफ्टी विभाग की रिपोर्ट मिल गई है। फायर सेफ्टी विभाग ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। इससे अस्पताल प्रबंधन की घोर लापरवाही उजागर हुई है। इसके बाद पुलिस भी तगड़ी कार्रवाई की तैयारी में है। पुलिस अधिकारियों की टीम फायरसेफ्टी और फॉरेंसिक साइंस की रिपोर्ट की जांच कर रही है।

अस्पताल पहले एक कांग्रेस विधायक के नाम पर पंजीकृत है। इसके बाद इसका संचालन तीन डॉक्टरों की टीम कर रही थी। आगजनी के बाद जांच के लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया गया है। सभी की रिपोर्ट मिलने के बाद मामले में पुलिस और गंभीर धाराओं के तहत अपराध दर्ज कर सकती है।

यह भी पढें: हद हो गई लापरवाही की: जिंदा मरीज का बना दिया डेथ सर्टिफिकेट, परिजनों ने किया बवाल

पीड़ितों का एडवांस नहीं लौटा रहा अस्पताल
मृतकों और घायलों के परिजनों के मुताबिक अस्पताल प्रबंधन ने कई लोगों से इलाज के लिए एडवांस में राशि जमा करवाया था। आगजनी की घटना के बाद उस राशि को लौटाया नहीं जा रहा है। राशि वापस मांगने पर अस्पताल प्रबंधन आनाकानी कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि अस्पताल प्रबंधन एक सप्ताह का कोरोना इलाज का दो लाख रुपए लेता था।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned