माओवादियों के गढ़ बस्तर में 'ऑपरेशन प्रहार' अभियान शुरू , एक माओवादी ढेर

1800 से ज्यादा जवान 'ऑपरेशन प्रहार' में शामिल

 

By: ashutosh kumar

Updated: 20 Feb 2020, 01:16 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित बस्तर इलाके में माओवादियों के खिलाफ सुरक्षाबलों द्वारा इस वर्ष का पहला अभियान 'ऑपरेशन प्रहार' शुरू कर दिया गया है। इस अभियान के तहत बुधवार को सुकमा में हुई मुठभेड़ में एक माओवादी को मार गिराया। वहीं चार से ज्यादा माओवादियों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी ने बताया कि ऑपरेशन प्रहार तेलंगाना की सीमा से सटे महाराष्ट्र की सीमा तक एक साथ चलाया जा रहा है। इसमें छत्तीसगढ़ की एसटीएफ एवं डीआरजी के लगभग 1400 जवान तथा सीआरपीएफ कोबरा के 450 जवान शामिल हैं। यह अभियान माओवादियों के अत्यंत कोर एरिया किस्टाराम और पामेड़ के बीच के क्षेत्र और अबूझमाड़ इलाके में एक साथ चलाया जा रहा है।
आधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के अनुसार दंतेवाड़ा के सुकमा जिले के टोंडामरका इलाके में एसटीएफ व डीआरजी के साथ हुई मुठभेड़ में एक माओवादी का शव हथियार समेत बरामद हुआ है तथा चार माओवादियों के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना है। इस घटना में एसटीएफ का एक जवान भी घायल हुआ है।

ashutosh kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned