scriptइस शहर की रोडवेज बसें हो गई कंडम, पढ़े कब मिलेगी राहत | Roadways buses of this city have become obsolete, read when will we get relief | Patrika News
राजसमंद

इस शहर की रोडवेज बसें हो गई कंडम, पढ़े कब मिलेगी राहत

राजसमंद. राजस्थान रोडवेज की अधिकांश बसें कंडम हो गई है। वर्तमान में सिर्फ 28 बसें ही रोड पर दौड़ रही है। डीपो को करीब 14 साल पहले दो बसें मिली थी, इसके बाद से अभी तक एक भी बस नहीं मिली। ऐसे में अब जून माह के अंत 15 नई बसें मिलने की उम्मीद जगी है।

राजसमंदApr 19, 2024 / 11:55 am

himanshu dhawal

राजस्थान पथ परिवहन निगम की बसों में प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग आवाजाही करते हैं। लेकिन पिछले कई वर्षो से रोडवेज बसों की खरीद नहीं होने के कारण स्थिति खराब हो गई है। स्थिति यह है कि वर्तमान में 31 बसों में से सिर्फ 28 बसें संचालित हो रही है। बसें काफी पुरानी होने के कारण बसों का ब्रेक डाउन होना आमबात हो गई है। बसों के अभाव में कई रूटों पर बसों को बंद कर दिया गया है। ऐसे में अब यदि जल्द ही नई बसें नहीं मिलने की स्थिति में डीपों का संचालन मुश्किल हो जाएगा। हालांकि रोडवेज प्रबंधन के अनुसार जून माह के अंत तक राजसमंद डीपो को 15 बसें मिलने की उम्मीद है। बसों की कमी के कारण यात्रियों को भी परेशानी होती है। उल्लेखनीय है कि बसों की कमी के कारण वर्तमान में सिर्फ 12 से 13 हजार किलोमीटर बसें चल रही है, जबकि पहले यह 20 हजार किमी से अधिक संचालित होती थी।
https://www.patrika.com/rajsamand-news/37-buses-of-rajasthan-roadways-rely-on-3-mechanics-7461299

अधिकांश बसें कंडम होने के कगार पर

रोडवेज प्रबंधन के अनुसार 17 बसें 2017 मॉडल, 2 बसें 2020 मॉडल, 12 बसें 2013 मॉडल की है। वहीं 2013 की 3 मिनी बसें कंडम हो चुकी है। आठ साल या आठ लाख किलोमीटर चली बसों को कंडम मानकर उन्हें ऑफ रूट कर दिया जाता है। ऐसे में राजसमंद डिपो की अधिकांश बसें कंडम हो गई है। राजसमंद डीपो में कई बसें 12 से 13 लाख किलोमीटर चल चुकी है। नई बसें मिलने पर ही राहत की उम्मीद है।

पुलिस जाप्ते को छोडऩे में हुई परेशानी

रोडवेज के जानकारों के अनुसार लोकसभा चुनाव के चलते राजसमंद पुलिस लाइन के जाप्ते को झुंझुंनूं और सीकर भेजा गया है। पुलिस के जवानों को भेजने के लिए 11 बसों की आवश्यकता थी। डीपों में मात्र 28 बसें हैं, ऐसे बढ़ी मुश्किल से यह व्यवस्था की गई है। हालांकि रोडवेज बसों में पुलिसकर्मियों को छोडकऱ ही आना था, बसों की कमी के कारण यात्रियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा।

नई बसें मिलने पर राहत की उम्मीद

वर्तमान में 28 बसें रूट पर संचालित है। अधिकांश बसें कंडम होने के कगार पर है। आचार संहिता हटने के बाद जून के अंत तक 15 बसें मिलने की उम्मीद है।
  • महेश उपाध्याय, चीफ मैनेजर राजसमंद डीपो
https://www.patrika.com/rajsamand-news/37-buses-of-rajasthan-roadways-rely-on-3-mechanics-7461299

Hindi News/ Rajsamand / इस शहर की रोडवेज बसें हो गई कंडम, पढ़े कब मिलेगी राहत

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो