रेलवे ने दो माह में दे दिए 21 करोड़ रुपए

कोरोना वायरस के दौरान लगे हुए लॉकडाउन में जब सब कुछ बंद था, तब भी कुछ लोग घर में रहकर अपना कार्य कर रहे थे। इन लोगों की वजह से ही जो कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए उनको पेंशन का सेटलमेंट समय पर हो पाया है। रेलवे में मार्च व अप्रैल माह में मिलाकर 99 कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए। इनके पेंशन का सेटलमेंट कर्मचारियों ने घर व कार्यालय में रहकर किया। दो माह में रेलवे ने करीब 21 करोड़ पेंशन राशि का सेटलमेंट किया है।

By: Ashish Pathak

Published: 05 May 2020, 05:29 PM IST

रतलाम. कोरोना वायरस के दौरान लगे हुए लॉकडाउन में जब सब कुछ बंद था, तब भी कुछ लोग घर में रहकर अपना कार्य कर रहे थे। इन लोगों की वजह से ही जो कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए उनको पेंशन का सेटलमेंट समय पर हो पाया है। रेलवे में मार्च व अप्रैल माह में मिलाकर 99 कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए। इनके पेंशन का सेटलमेंट कर्मचारियों ने घर व कार्यालय में रहकर किया। दो माह में रेलवे ने करीब 21 करोड़ पेंशन राशि का सेटलमेंट किया है।

लॉकडाउन - 3.0 : आसान नहीं है मजदूरों के लिए श्रमिक ट्रेन में यात्रा

bank_cashier.jpg

रेलवे के अनुसार मार्च माह में 49 कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए थे। इसी प्रकार अप्रैल माह में 50 कर्मचारी सेवानिवृत हुए है। इन लोगों को पेंशन के लिए चक्कर नहीं काटने पडे़ व बैंक खाते में यह शुरू हो जाए इसके लिए कार्मिक विभाग व रेलवे के लेखा विभाग के कर्मचारियों का बड़ा योगदान रहा है। सेटलमेंट विभाग के कर्मचारियों ने घर में रहकर व कार्यालय में आकर इस दौरान कार्य किया व कर्मचारी के सेवानिवृत होते ही पूरा सेटलमेंट कर दिया।

VIDEO इंदौर से रेलवे कर रहा श्रमिक ट्रेन चलाने की तैयारी

indian_railway.jpg

इस तरह करते कार्य
लेखा विभाग के एक कर्मचारी ने बताया कि कार्मिक विभाग सेवानिवृत होने वाले कर्मचारी का प्रकरण बनाकर पहले से सेटलमेंट का पूरा भेज देता है। इसमे फिर लेखा विभाग पीएफ को जोडऩे का कार्य करता है। इसके अलावा ग्रेच्यूटी जोडना, जेसी बैंक में खाता है तो उसकी राशि जोडने का कार्य, इसके अलावा वर्षभर में मिलने वाले अवकाश का हिसाब किताब आदि किया जाता है। पूरे सेवा काल की जांच के बाद सेटलमेंट होकर अंतिम चेक बनता है। यह चेक सीधे खाते में जाता है। लॉकडाउन में इस तरह किया कार्य लॉकडाउन की अवधि में कर्मचारियों ने घर से लेकर कार्यालय विशेष परिस्थिति में आकर किया। इस दौरान मार्च से अधिक समस्या या बंद अप्रैल माह में रही। तब भी कार्मिक व लेखा विभाग के कर्मचारी लगातार कार्य करते रहे। मंडल के कार्मिक विभाग के एक कर्मचारी ने बताया कि इसमे मुख्य कल्याण निरीक्षक हरीश चांदवानी का अतिरिक्त सहयोग रहा।

VIDEO तपती धूप में कर्मचारी सुधार रहे रेलवे ट्रैक

railway_board.jpg

फैक्ट फाइल
मार्च में रिटायर्ड - 49 कर्मचारी
अप्रैल में रिटायर्ड कर्मचारी - 50

मार्च में सेटलमेंट - 12 करोड़ 84 लाख रुपये
अप्रैल में सेटलमेंट - 8 करोड़ 20 लाख रुपये
कुल कर्मचारी - 99
कुल सेटलमेंट राशि - 21 करोड़ 4 लाख रुपये

एक मई से चलेगी ट्रेन, इन स्टेशन पर होगा ठहराव

घर लौैटने के लिए कहां से चुकाएं ट्रेन का किराया

हम सभी के साथ
एक रेल कर्मचारी अपनी पूरी जिंदगी भारतीय रेल को देता है। तब साथ के कर्मचारियों का यह दायित्व होता है कि वो जब वो सेवानिवृत हो तब उसके पेंशन के सेटलमेंट को समय पर किया जाए। मंडल में कार्मिक व लेखा विभाग ने यह कार्य लॉकडाउन के दौरान भी बेहतर किया है।
- विनित गुप्ता, मंडल रेल प्रबंधक

लॉकडाउन - 2.0 : 3 मई के बाद भी करना पड़ सकता है ट्रेन और प्लेन में सफर के लिए इंतजार

कोरोना के संकट में बेटियों ने निभाया फर्ज: मां को दिया कांधा और मुखाग्नि

हो गया निर्णय, इस दिन से चलेगी ट्रेन, यह रहेगा तरीका

कोरोना इफेक्ट : स्कूल खुलने को लेकर होगा यह बड़ा निर्णय

आने वाला है सूर्य ग्रहण, भूलकर मत करना यह 9 काम

सेंट्रल रेलवे ने चलाई 1,415 मालगाड़ी
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned