अक्टूबर 2020 : ज्योतिष के आंकलन में इस माह क्या कुछ होने जा रहा है खास

कोरोना के थमने या अर्थव्यवस्था में सुधार!...

साल 2020 का 10वां माह यानि अक्टूबर के करीब 7 दिन बीत चुके हैं। ऐसे में वर्ष 2020 विश्व भर के लोगों के लिए काफी परेशानी वाला अब तक रहा है। इसी सब को देखते हुए ज्योतिष के जानकारों ने माह के हिसाब से भविष्यवाणियां करनी भी शुरु कर दी हैं। वहीं लोगों में ये माह कैसा बीतेगा इसे लेकर दिलचस्पी भी बनी हुई है।

इन सभी स्थितियों को देखते हुए हमने जब ज्योतिष के जानकार पंडित सुनील शर्मा व वीडी श्रीवास्तव से बात की, तो अक्टूबर के संबंध में उन्होंने कई तरह की बात कहीं लेकिन कुल मिलाकर किसी भी स्थिति में अभी कोरोना के थमने या अर्थव्यवस्था में सुधार आने जैसे कोई आशा नहीं दिखी।

ज्योतिष के जानकारों के मुताबिक अक्टूबर 2020 में बीमारियों का बढ़ना जनता के लिए बहुत गंभीर रूप लेगा। यहां तक की किसी नई बीमारी के भी आने की संभावना को जताया गया है, जिसे लेकर ग्रह 20 अक्टूबर से 25 नवंबर तक की ओर इशारा करते दिख रहे हैं। साथ ही इस समय घटना व दुर्घटना का आंकड़ा विश्व में बढ़ेगा। जानकारों का मानना है कि इस समय किसी भी आविष्कार को लेकर काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन, माह के अंतिम 2 दिन महत्वपूर्ण रहेंगे। इन दिनों में सफलता हासिल हो सकती है जिसमें भारत की खास भूमिका रहेगी।

गेहूं, सोना, चांदी, तांबा, एल्युमीनियम व लोहे के भावों में वृद्धि होगी। चावल, साबूदाना, पीतल के भावों में कमी आएगी। शकर, गुड़ व मक्के के भाव में उतार-चढ़ाव रहेगा। इतना ही नही ंभारत में राजनीति में नया परिवर्तन देखने को मिलेगा, साथ ही सरकारों को कई प्रकार की परेशानियां भी आएंगी।

कोरोना के संबंध में ग्रहों के आंकलन को लेकर जानकारों का मानना है कि विश्व में परेशानी तो बढ़ेगी, परंतु माह के अंतिम सप्ताह में मृत्यु दर में कमी आएगी व हर तरफ खुशी का माहौल बनने लगेगा। महिला वर्ग के लिए यह माह पहले से अच्छा रहेगा। लेकिन, विद्यार्थी वर्ग के लिए यह माह कठिनाई वाला रहेगा। वहीं विश्व के संबंध में ग्रहों की चाल इशारा कर रही है कि माह के अंतिम सप्ताह में पूर्व के देशों में शांति का माहौल रहेगा। उत्तर दिशा में थोड़ी तकलीफ रहेगी। पश्चिम के देशों में युद्ध का भय बना रहेगा व दक्षिण के देशों में अशांति व महिलाओं पर कष्ट से। भारत में किसी बड़े राजनेता पर कष्ट रहेगा।

इस माह की ग्रहों में बादल की चाल से देखें तो मौसम परिवर्तन की स्थिति माह के मध्य से दिखेगी। कहीं-कहीं ठंडक रहेगी। जबकि पहाड़ी क्षेत्रों में वर्षा व बर्फबारी के भी संकेत हैं। इसके अलावा मैदानी भागों में भी कहीं-कहीं ज्यादा व कहीं कम वर्षा होने की भी संभावना है।

मौसम के मामले में मुख्य रूप से मध्यप्रदेश MP, उत्तरप्रदेश UP, उत्तराखंड, पंजाब Punjab, हरियाणा, बिहार व बंगाल में खास परिवर्तन देखने को मिलेगा व अन्य प्रदेशों में माह के अंतिम सप्ताह में परिवर्तन दिखाई देगा। वहीं कुछ जगहों पर प्राकृतिक प्रकोप से जन-धन की हानि हो सकती है।

अक्टूबर माह के शुरुआती समय में अशांति व पूरे विश्व में आंतरिक झगड़े रहेंगे। अमेरिका, स्विट्जरलैंड, भारत, अफगानिस्तान, ईरान, इराक, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका की स्थिति बहुत गंभीर है और दुबई, अंडमान-निकोबार, भूटान, नेपाल व तुर्की की स्थिति अच्छी रहेगी। पाकिस्तान व उत्तर कोरिया की स्थिति बहुत गंभीर रहेगी एवं हालात को संभालना मुश्किल होगा।

वहीं व्यापारी वर्ग के लिए यह माह अच्छा रह सकता है, लेकिन नौकरी वर्ग वालों के लिए यह माह कठिनाई वाला रहेगा। उच्च वर्ग के लिए यह माह ठीक-ठीक रहेगा। जबकि माह के मध्य में तकलीफ रहेगी। कृषक वर्ग के लिए भी यह माह मध्यम रहेगा। वहीं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के लिए यह माह सफलता वाला रह सकता है, परंतु किसी भी वर्ग के मध्यम वर्ग के लिए यह माह पहले से अधिक परेशानी वाला रहेगा।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned