बुध ग्रह 02 सितंबर,बुधवार को कर रहे हैं कन्या राशि में प्रवेश, जानिये इसके आप पर असर

बुध ग्रह सिंह से कन्या राशि में अश्विन मास (Ashwin month) से पहले...

शुभाशुभ ग्रह बुध, जिसे ज्योतिष में बुद्धि का कारक माना जाता है साल 2020 में 2 सितंबर,बुधवार को 12 बजकर 3 मिनट पर सिंह से कन्या राशि में प्रवेश करेंगे। वहीं इसके बाद 22 सितंबर को 16 बजकर 55 मिनट पर तुला राशि में गोचर कर जाएंगे। बुध के कन्या राशि में इस गोचर का सभी 12 राशियों पर अलग-अलग असर देखने को मिलेगा। वहीं बुध ग्रह के कारक देव प्रथम पूज्य श्री गणेश कहलाते हैं।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार बुध ग्रह के सिंह से कन्या राशि में अश्विन मास (Ashwin month) से पहले (बुधवार, 2 सितंबर) होने जा रहा ये राशि परिवर्तन (Budh rashi parivartan 2020) जहां कई राशियों के लिए बेहद शुभ है, वहीं कुछ राशि वालों को यह कुछ परेशनियों में भी डाल सकता है। बुध 22 सितंबर तक इसी राशि में रहने वाले हैं। ज्योतिष के जानकारों के अनुसार बुध के इस गोचर (Budh gochar 2020) से मेष, सिंह, वृश्चिक और धनु राशि के जातकों को बड़ा फायदा होता दिख रहा है।

राशियों पर ये होगा असर... affects of budh rashi parivartan

1. मेष राशि :
इस दौरान आपकी राशि से षष्ठम भाव यानि शत्रु भाव में बुध ग्रह गोचर करेंगे। यह समय इस राशि के उन जातकों के लिए बहुत शुभ रहेगा, जो नौकरी पेशा से जुड़े हैं। इस दौरान आपको जॉब में अच्छी तरक्की मिल सकती है। वहीं जो लोग नई जॉब पाना चाहते हैं उनके लिए भी यह गोचर अच्छा रहेगा।

उपाय- बुधवार के दिन जरुरतमंदों को अनाज दान करें।

2. वृषभ राशि :
इस राशि के जातकों के पंचम भाव यानि बुद्धि, पुत्र और प्रेम के भाव में बुध ग्रह गोचर करेगा। इस दौरान आपकी राशि के विद्यार्थियों को विशेष लाभ मिलेगा। वहीं यदि आप उच्च शिक्षा अर्जित कर रहे हैं, तो इस समय आपको कोई उपलब्धि आपको मिल सकती है। फाइनेंस और प्रबंधन के क्षेत्र से जुड़े छात्रों के लिए यह समय अति उत्तम साबित होगा।

उपाय- अपनी बहन या बुआ को उनकी पसंद का कोई उपहार दें।

3. मिथुन राशि:
आपकी ही राशि के स्वामी बुध देव आपसे चौथे यानि सुख व माता के भाव में गोचर करेंगे। बुध का यह गोचर आपके लिए अच्छा रहेगा। इस गोचर के दौरान आप अपने मन की शांति के लिए रचनात्मक काम जैसे गायन, वादन, लेखन आदि का सहारा ले सकते हैं। इससे आपको मानसिक संतुष्टि मिलेगी।

उपाय- बुधवार के दिन किन्नरों का आशीर्वाद लें।

4. कर्क राशि :
इस राशि के जातकों के तीसरे यानि पराक्रम व भाई बहन के भाव में बुध ग्रह का गोचर होगा। तृतीय भाव में बुध का गोचर इस राशि के जातकों की कम्यूनिकेशन स्किल्स को बढ़ाएगा। इस दौरान अपनी वाणी के दम पर आप समाज में एक अलग जगह बना सकते हैं। आप इस दौरान नए लोगों से मिल सकते हैं।

उपाय- बुधवार के दिन विष्णु भगवान की पूजा करें।

5. सिंह राशि:
इस समय बुध देव आपकी राशि से दूसरे यानि धन भाव में गोचर करेंगे। इस गोचर काल के दौरान आप परिवार के बीच ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताएंगे और अपने दायित्वों की पूर्ति करेंगे। इस समय आप घर के लोगों की समस्याओं को सुलझाने के लिए उनसे खुलकर बात कर सकते हैं। वहीं इस राशि के कुछ जातकों के घर में कोई नया मेहमान आ सकता है, खर्चों को लेकर सतर्क रहें। नौकरी पेशा और कारोबार करने वाले लोगों को बुध के इस गोचर के दौरान भाग्य का साथ मिल सकता है, इस समय कम प्रयास करने के बावजूद भी आपको अच्छे फल मिलेंगे।

उपाय- किन्नरों को हरे रंग की वस्तुएं दान करें।


6. कन्या राशि :
आपकी ही राशि के स्वामी ग्रह बुध इस गोचर काल के दौरान आपके लग्न यानि स्वयं के भाव में स्थित होगा। बुद्धि के देवता बुध का यह गोचर इस राशि के कारोबारियों के लिए बहुत लाभदायक सिद्ध होगा। इस दौरान आपकी बिजनेस सेंस में इजाफा होगा, नफे-नुक्सान को आप तुरंत भांप जाएंगे जिसके चलते कई मुश्किल परिस्थितियों से आप बच सकते हैं। इनकी प्रतिरोधक क्षमता इस दौरान कमाल की रहेगी।

उपाय- बुधवार के दिन श्री दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।

7. तुला राशि :
इस दौरान आपकी राशि के जातकों के 12वें यानि व्यय व हानि के भाव में बुध ग्रह का गोचर होगा। इस गोचर के दौरान तुला राशि के जातक उलझनों से घिरे हो सकते हैं, जिसके कारण निर्णय लेने की आपकी क्षमता प्रभावित हो सकती है। धार्मिक क्रियाकलापों में हिस्सा लेना इस राशि के जातकों के लिए अच्छा रहेगा।

उपाय- गौ माता की सेवा करें और हरा चारा खिलाएं।


8. वृश्चिक राशि :
आपकी राशि से इस दौरान एकादश यानि आय/लाभ भाव में बुध का गोचर होगा। इस गोचर के दौरान जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से आपको लाभ की प्राप्ति होगी। इस राशि के जो जातक नौकरीपेशा से जुड़े हैं, उन्हें अपने काम के चलते कार्यक्षेत्र में उन्नति मिल सकती है।

उपाय- बुधवार के दिन “ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः’’ मंत्र का जाप करें।


9. धनु राशि :
धनु राशि के जातकों के 10वें यानि कर्म भाव में बुध ग्रह का गोचर होगा। जिसके चलते आपको मनचाहे परिणामों की प्राप्ति होगी। चूंकि यह भाव आपके कॅरियर के बारे में बताता है, ऐसे में इस राशि के लोगों को बुध के इस गोचर के दौरान कार्यक्षेत्र में शुभ फल प्राप्त होंगे। आपके काम करने का तरीका आपके वरिष्ठों को पसंद आएगा। वहीं इस राशि कुछ नौकरीपेशा लोगों को इस दौरान पदोन्नति भी मिल सकती है।

उपाय- छोटी कन्याओं की पूजा करने और उन्हें उपहार दें।

10. मकर राशि :
मकर जातकों के नौवें यानि भाग्य भाव में बुध ग्रह का गोचर होगा। इस दौरान आपको नवम भाव में बुध के गोचर से आपको शुभ फलों की प्राप्ति होगी। इस राशि के जो लोग उच्च शिक्षा अर्जित कर रहे हैं उन्हें विषयों को समझने में इस दौरान आसानी होगी। इस राशि के नौकरीपेशा लोग भी अपने कार्यकुशलता से कार्यक्षेत्र में लोगों को प्रभावित कर सकते हैं।

उपाय- बुधवार के दिन साबुत मूंग का दान करें।


11. कुंभ राशि :
इस राशि के जातकों के आठवें यानि आयु भाव में बुध ग्रह का गोचर होगा। बुध का अष्टम भाव में गोचर इस राशि के उन जातकों के लिए अच्छा रहने की उम्मीद है जो शोध कर रहे हैं। शोध करने वाले विद्यार्थियों को इस दौरान कई स्रोतों से विषय से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सकती है। इसके साथ ही आपको पैतृक संपत्ति का भी लाभ हो सकता है।

उपाय- बुधवार के दिन हरी इलायची का दान करें।


12. मीन राशि:
आपकी राशि में इस दौरान बुध ग्रह सातवें यानि विवाह भाव में गोचर करेंगे। आपके लिए बुध ग्रह का यह गोचर शुभ रहेगा। वहीं आपको अपनी मेहनत का उचित फल इस दौरान प्राप्त होगा। यदि आप साझेदारी में कोई कारोबार करते हैं तो लाभ होने की पूरी संभावना है।

उपाय- घर या दफ्तर में बुध यंत्र की स्थापना करें।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned