आपके पास पैसा कब आएगा? ऐसे समझें अपनी कुंडली से...

जानिये कुंडली का कौन सा स्थान देता है इसकी जानकारी...

ज्योतिष को मानव जीवन में होने वाली तमाम घटनाओं से जोड़कर देखा जाता है। मान्यता के अनुसार ज्योतिष में वो शक्ति है, जिसके आधार पर हम किसी मनुष्य के भूतकाल से लेकर भविष्य तक के बारे में जान सकते हैं। वहीं इसके नौगृह जो कुंडली में स्थित होते हैं, वह आने वाली समस्याओं से लेकर आने वाले अच्छे दिनों तक के बारे में बता देते है।

ज्योतिष के जानकार पंडित सुनील शर्मा के अनुसार अगर ज्योतिष शास्त्र की मानें तो ग्रह हमारे यानि मानव जीवन को हर तरह से प्रभावित करते हैं। यही वजह है कि जब किसी जातक के जीवन में कोई मुसीबत आती है, तो वह अपनी कुंडली में आ रहे दोषों के बारे में जानना चाहता है।

वहीं पंडित शर्मा के अनुसार आज के दौर में पैसा मनुष्य जीवन में एक अहम भूमिका निभाता है, ऐसे में हर कोई अपने पैसों को लेकर चिंतित रहता है। वहीं किसी भी धर्म में पैसा कमाने को बूरा नहीं माना गया है, अत: पैसा कमाएं खूब कमाएं, लेकिन बस इस बात का ध्यान रखें की किसी की हाय का पैसा कभी न लें। चूंकि आज के दौर में हर कोई ये जानना चाहता है कि उसके पास पैसा कब आएगा, ऐसे में आज हम आपको कुंडली से जुड़े कुछ खास राज के बारे में बताने जा रहे हैं, जो बताते हैं कि आपके पास पैसा कब और कितना आएगा।

कहा जाता है प्रत्येक व्यक्ति की कुंडली में मौज़ूद ग्रह ये तक बता देते हैं कि उसके अमीर या धनवान बनने के योग हैं या नहीं। तो अगर आप भी ये जानना चाहते हैं कि आपकी कुंडली के हिसाब से आप कभी अमीर बन पाएंगे या नहीं तो ऐसे समझें कि क्या कहती है आपकी कुंडली। दरअसल ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंडली के लग्न से इस बारे में जाना जा सकता है। तो आइए जानते कुंडली की लग्नों की मदद से व्यक्ति के धनवान होने के अधिक योग कब होते हैं।

1. मेष लग्न - ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस लग्न की कुंडली में सूर्य, मंगल, गुरु व शुक्र यह चारों नवम भाव में हों और शनि सप्तम भाव में हो तो धन योग बनते हैं। इसके अलावा मेष लग्न की कुंडली में सूर्य व चतुर्थ भाव में चंद्र स्थित हो तो भी धनवान बनने के प्रबल योग बनते हैं।

2. वृषभ लग्न - इस लग्न की जिस जातक की कुंडली में बुध-गुरु एक साथ बैठे हों औश्र मंगल की उन पर दृष्टि हो तो जातक के अमीर बनने के योग बनते हैं।

3. मिथुन लग्न- इस लग्न की जिन लोगों की कुंडली में चंद्र-मंगल-शुक्र तीनों एकसाथ द्वितीय भाव में हो, वो जल्द ही अमीर होते हैं। इसके अलावा मिथुन लग्न की कुंडली में शनि नवम भाव में और चंद्र व मंगल ग्यारहवें भाव में हो तो भी अधिक धन प्राप्त होता है।

4. कर्क लग्न - इस लग्न की कुंडली में चंद्र-मंगल-गुरु दूसरे भाव में, शुक्र-सूर्य पंचम भाव में हों और चंद्र व सप्तम भाव में मंगल हो तो जातक धनवान होता है। इसके अलावा अगर कुंडली में लग्न में चंद्र तथा चतुर्थ में शनि हो तो भी व्यक्ति के अमीर होने की संभावना ज्यादा रहते हैं।

5. सिंह लग्न- इस लग्न के जिन जातकों की कुंडली में सूर्य, मंगल तथा बुध- ये तीनों कहीं भी एकसाथ बैठे हों या सूर्य, बुध और गुरु- ये तीनों कहीं भी एक साथ बैठे हों, तो उनके भी पैसे वाला बनने के प्रबल योग होते हैं।

6. कन्या लग्न- इस लग्न के जिन लोगों की कुंडली में शुक्र व केतु दोनों धनभाव में हो वो अमीरी के साथ-साथ मान-सम्मान के भी हकदार होते हैं।

7. तुला लग्न- ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक तुला लग्न के जिन लोगों की जन्म कुंडली में चतुर्थ भाव में शनि होता है व गुरु अष्टम भाव में होता है, ऐसे लोगों को अपने जीवन में धन प्राप्ति के अनेक अवसर मिलते हैं। जिन अवसरों का ये भरपूर फायदा भी उठाते हैं।

8. वृश्चिक लग्न - इस लग्न के जिन लोगों की कुंडली में बुध व गुरु कहीं भी एक साथ विराजमान हो या बुध व गुरु की परस्पर सप्तम दृष्टि हो तो इन्हें अमीर बनने से कोई नहीं रोक पाता।

9. धनु लग्न - धनु लग्न के जिन जातकों की कुंडली में दशम भाव में शुक्र होता है वो भी अपने जीवन में बेशुमार पैसा कमाते हैं।

10. मकर लग्न - इस लग्न के जिन लोगों की कुंडली के प्रथम भाव में मंगल और सप्तम भाव में चंद्र होता है वो धन के साथ-साथ अपने जीवन में हर बुलंदी छूता है।

11. कुंभ लग्न - कुंभ लग्न के जिस व्यक्ति की कुंडली में गुरु किसी भी शुभ भाव में बलवान होकर बैठा हो या कुंडली के दशम भाव में शनि हो, ये अपनी मेहनत के दम पर पैसे के साथ-साथ नाम कमाते हैं।

12. मीन लग्न - मीन लग्न के जातकों की कुंडली में लाभ भाव में मंगल हो और कुंडली के छठे भाव में गुरु, आठवें में शुक्र, नवम में शनि तथा ग्यारहवें भाव में चंद्र-मंगल होता है वो भी अपने जीवन में आगे चलकर धनवान बनते हैं।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned