scriptChanakya Niti: These People Are Considered Like A Burden On The Earth | चाणक्य नीति: धरती पर बोझ माने जाते हैं ये लोग, कभी न पड़ें इनकी संगति में | Patrika News

चाणक्य नीति: धरती पर बोझ माने जाते हैं ये लोग, कभी न पड़ें इनकी संगति में

चाणक्य नीति: महान बुद्धिमान, दार्शनिक और शाही सलाहकार आचार्य चाणक्य ने भी अपने नीति शास्त्र में कुछ ऐसे लोगों के बारे में बताया गया है, जो इस धरती पर बोझ के समान माने जाते हैं और इन लोगों से दूर रहना ही बेहतर होता है...

नई दिल्ली

Updated: April 09, 2022 11:09:01 am

कई शास्त्रों और ग्रंथों में कुछ ऐसे गुणों के बारे में बताया गया है जो अगर किसी व्यक्ति में मौजूद हैं तो उस व्यक्ति का जीवन व्यर्थ है। उसे जीवन में कभी सफलता हासिल नहीं हो पाती और ऐसे लोग दूसरों का भी कभी भला नहीं कर सकते। साथ ही महान बुद्धिमान, दार्शनिक और शाही सलाहकार आचार्य चाणक्य ने भी अपने नीति शास्त्र में कुछ ऐसे लोगों के बारे में बताया गया है, जो इस धरती पर बोझ के समान माने जाते हैं और इन लोगों से दूर रहना ही बेहतर होता है...

chanakya niti in hindi, chanakya neeti, चाणक्य के कड़वे वचन, चाणक्य के सत्य वचन, chanakya niti for motivation, धरती पर बोझ, बुराई, असफलता, बुरे गुण, चाणक्य नीति की सलाह, chanakya niti for success in life in hindi,
चाणक्य नीति: धरती पर बोझ माने जाते हैं ये लोग, कभी न पड़ें इनकी संगति में
  • आचार्य चाणक्य के अनुसार जिन लोगों के मन में बुराई या पाप वास करता है, वे लोग बाहर से अपने आपको कितना भी साफ दिखाने की कोशिश कर लें, उनका स्वभाव वही रहता है। चाणक्य नीति के अनुसार पापी लोग अपने जीवन को बर्बाद करने के साथ ही अपने आप से जुड़े लोगों का भी बुरा ही करते हैं।

 

  • चाणक्य नीति कहती है कि यदि कोई व्यक्ति धन के महत्व को ना समझकर उसे अनावश्यक चीजों के लिए खर्च करता है तो ऐसे लोगों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ता है। इन लोगों के जीवन का कोई महत्व नहीं होता है। इसलिए ऐसे लोगों से दूरी बनाए रखना चाहिए।
  • आचार्य चाणक्य के अनुसार जिस व्यक्ति के भीतर ज्ञान, शालीनता, धैर्य और कृतज्ञता जैसे गुण नहीं होते हैं वे लोग इस धरती पर भार की तरह होते हैं। उनका जीवन किसी के हित में काम नहीं आता। ये लोग खुद तो असंतुष्ट होते ही हैं और अपने घर-परिवार के लोगों को भी परेशान करते हैं।
  • अगर कोई व्यक्ति घमंड में चूर रहता है। दान-पुण्य नहीं करता और धार्मिक अनुष्ठानों में भाग लेने से दूर भागता है तो भी चाणक्य नीति के अनुसार ऐसे लोगों का जीवन व्यर्थ है। इन्हें कभी किसी का आदर नहीं मिलता और ना ही ये अपने लक्ष्य में सफलता प्राप्त कर पाते हैं।
यह भी पढ़ें

इन 4 राशि के लोगों का गुस्सा किसी ज्वालामुखी से नहीं होता कम, मंगल और शनि का...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Mumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिटमनी लान्ड्रिंग मामले में फारूक अब्दुल्ला को ED ने भेजा समन, 31 मई को दिल्ली में होगी पूछताछUP Vidhansabha: मुख्यमंत्री Yogi बोले- ... 'हाथ जोड़कर बस्ती को लूटने वाले, सभा में सुधारों की बात करते हैं'Kuldeep Ranka : कौन हैं ये IAS, जिनसे 'ज़लालत' महसूस कर Gehlot के मंत्री ने कर डाली इस्तीफे की पेशकश!Bharat Drone Mahotsav 2022: दिल्ली में ड्रोन फेस्टिवल का उद्घाटन कर बोले मोदी- 2030 तक ड्रोन हब बनेगा भारतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चकोलकाता में ये क्या हो रहा... एक और मॉडल Manjusha Niyogi की लाश मिलीपहली बार हिंदी लेखिका को मिला International Booker Prize, एक मां की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यास
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.