पितृपक्ष में भी कर सकते हैं शॉपिंग? जानें शुभ तिथियां

पितृपक्ष में भी कर सकते हैं शॉपिंग? जानें शुभ तिथियां

Tanvi Sharma

September, 1412:18 PM

धर्म

पितृपक्ष शुरू हो चुके हैं और 28 सितंबर तक रहेंगे। पितृपक्ष में लोगों द्वारा माना जाता है की इसमें कोई शुभ कार्य या खरीदारी ना करें। यह परंपरा बहुत दिनों से निभाई जा रही है। लेकिन जो परंपरा निभाई जा रही है इसका उल्लेख किसी भी शास्त्र में नहीं किया गया है। ना ही कहीं पितपक्ष में नये सामान खरीदने की मनाही है।

 

बल्कि शास्त्रों और पुराणों में पितृपक्ष को साधना काल बताया गया है और इस दौरान पितरों को याद कर उन्हें ऊर्जा प्रदान की जाती है। लोगों की धारणा है की परलोक से इस समय आत्माएं धरती पर ऊर्जा ग्रहण करने आती है इसलिए इस दौरान कुछ नया सामान ना खरीदा जाए। लेकिन पुराणों में तो ऐसा कहीं नही बताया गया।

 

pitru_paksha1.jpg

पितरों को होती है खुशी

मान्यताओं के अनुसार पितृपक्ष को शुभ काल नहीं माना जाता। लेकिन आपको बता दें कि कभी भी पितृ अपने बच्चों की खुशी देखकर खुश होते हैं। जब पितृ धरती पर आते हैं तो वे अपने बच्चों की कामयाबी और उन्हें खुश होता देखकर वे संतुष्ट हो जाते हैं। इन दिनों पितरों को याद करें और इस तरह की धारण को मन से निकाल दें कि पितपक्ष शुभ नहीं होते। अपना मन व कर्म सात्विक रखें और पितरों के आशीर्वाद के साथ अपने जीवन को खुशहाल बनाएं। शॉपिंग आप इस समय भी कर सकते हैं। वैसे भी हिंदू मान्यता के अनुसार हर शुभ कार्य से पहले प्रथम पूज्य गणपति की पूजा की जाती है। इसलिए पितृपक्ष के पहले गणेश चतुर्थी मनाई जाती है।

पितृपक्ष में कर लिये ये काम तो समझों प्रसन्न हो गये आपके पूर्वज, जानें कौन से हैं वो काम

pitru_paksha2.jpg

इन‍ तिथियों पर बन रहे शुभ योग

पंडित रमाकांत मिश्रा के अनुसार इस बार पितृ पक्ष के दिनों में कुछ तारीखों पर शुभ योग बन रहे हैं। पितृपक्ष में सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहे हैं। आइए जानते हैं कौन से दिन क्या योग-


1. 21 तारीख के दिन कई शुभ योग बने हैं। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग और रवियोग है। इन योगों में खरीदारी, निवेश करना शुभ माना जाता है।

2. वहीं 17 सितंबर को सर्वार्थ सिद्धि और अमृत सिद्धि दोनों योग बन रहे हैं। इस योग में भी आप खरीदारी कर सकते हैं।

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned