तेज आंधी से लोगों में बढ़ी तूफान की आशंका, कुछ ही देर में साफ हुआ मौसम

Rahul Chauhan

Publish: May, 17 2018 06:44:35 PM (IST)

Saharanpur, Uttar Pradesh, India
तेज आंधी से लोगों में बढ़ी तूफान की आशंका, कुछ ही देर में साफ हुआ मौसम

13 मई को भी आया था भयंकर तूफान

सहारनपुर। जिले में एक बार फिर तेज हवाओं ने दस्तक दी। तूफान आने की बढ़ी आशंका को देखते हुए लोगों ने अपनी छतों से सामान समेटना शुरू कर दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के साथ ही तेज हवाएं चलीं, जिससे लोगों ने पिछले तूफान से मची तबाही के चलते अलर्ट होकर अपना-अपना सामान संभालना शुरु कर दिया। लेकिन कुछ देर बाद ही मौसम साफ हो गया। पर कुछ समय तक चली तेज हवाओं से लोगों को उमस भरी गर्मी से थोड़ी राहत मिली। गौरतलब है कि इससे पहले 13 मई को पूरे यूपी में आए भयंकर तूफान से सहारनपुर जिले में भारी तबाही हुई थी। साथ ही दो लोगों की आकाशीय बिजली गिरने से मौत भी हो गई थी।

देखें वीडियो-तेज हवाएं चलने से लोगों में बढ़ी तूफान की आशंका

13 मई को ऐसे मची थी तबाही
दरअसल रविवार को आया अांधी तूफान गंगोह के गांव कुंडा कला के ग्रामीणों पर कहर बनकर टूट पड़ा था। आंधी तूफान के बाद जब आसमान में बिजली कड़की तो गांव के पास ही एक खेत में काम कर रहे दर्जन भर महिला पुरुष और बच्चों ने एक झोपड़ी में जाकर शरण ले ली और इसके कुछ देर बाद आकाशीय बिजली झोपड़ी पर गिर गई। भयंकर आग लगने से दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें-कैराना उपचुनाव में इस प्रत्याशी ने भाभी को लेकर कह दी बड़ी बात, मच गई खलबली

इस आग में बच्चों समेत आठ लोग गंभीर रुप से झुलस गए थे। इनमें से 4 गम्भीर रूप से जले गए थे। इस घटना के बाद पूरे गांव में कोहराम मच गया और आकाशीय बिजली गिरने की इस घटना से गांव के लोग दहशत में आ गए। बिजली कड़कते ही 50 वर्षीय सादा अपने बेटे आलम के साथ झोपड़ी में आ गया। इनके अलावा भी अन्य कई ग्रामीण जो खेत में काम कर रहे थे वो भी झोपड़ी में आ गए। अचानक बिजली गिरी तो सादा और तैमूर की मौत हो गई। जबकि इसी झोपड़ी में मौजूद गुलजार समेत 10 वर्षीय जाहिद, 8 वर्षीय शहजादी, 8 वर्षीय मुस्कुराना और तैमूर समेत नूर आलम, इसराना, आबिदा और शाहरूख खान आदि गम्भीर रूप से घायल हो गए थे।

यह भी पढ़ें-रमजान में इबादत करने के लिए इस तरह काम आ सकता है, आपका स्मार्ट फोन

ग्रामीणों के मुताबिक़ गांव कुंडा में युमना नदी के पास किसान परिवार समेत करीब डेढ़ दर्जन लोग खेत में गन्ने की बुवाई कर रहे थे। अचानक आए अंधड़ और बारिश से बचने के लिए ये लोग पास में ही बनी झोपड़ी के अंदर खड़े हो गए। इन लोगों पर आकाशीय बिजली कड़कड़ाती हुई कहर बनकर टूट पड़ी। झोपड़ी के नीचे खड़े लोगों पर गिर गई। हादसे में 2 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बच्चों समेत आठ लोग बिजली की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गए।

Ad Block is Banned