आमजन के साथ-साथ पुलिस के लिए भी अगले तीन माह चुनाैती भरे: एडीजी

Highlights

सहारनपुर पहुंचे एडीजी मेरठ जोन ने कहा है कि आगले तीन महीने चुनाैतीभरे हैं। वायरस के साथ-साथ आपराधिक घटनाएं भी बढ़ने की आशंका है।

 

By: shivmani tyagi

Updated: 02 Jun 2020, 08:02 AM IST

सहारनपुर। कोरोना वायरस ( COVID-19 virus ) के संक्रमण को देखते हुए अगले तीन महीने का समय आम जनता के साथ-साथ पुलिस के लिए भी बेहद चुनौती भरा है। इसकी बड़ी वजह यह है कि, आने वाले तीन महीनों में वायरस के साथ-साथ आपराधिक घटनाओं के भी बढ़ने की आशंका है। ऐसे में पुलिस की जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है।

यह भी पढ़ें: सहारनपुर पहुंचे चिकित्सा मंत्री बोले वायरस के साथ जीना सीखना हाेगा, इमरजेंसी सेवाएं शुरू करने के निर्देश

यह बात सहारनपुर पहुंचे एडीजी ( ADG ) जोन राजीव सब्बरवाल ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान कहीं। इससे पहले उन्होंने पुलिस अफसरों के साथ घंटों मीटिंग की और अगले 3 महीनों के लिए प्लान तैयार कराया। इस दौरान आशंकित अपराधिक घटनाओं के अलावा धार्मिक स्थलों को खोले जाने के बाद वहां भीड़ को मैनेज करना और लॉक डाउन खुलने के बाद सोशल डिस्टेंस का पालन कराने की रणनीति भी तैयार की गई।

यह भी पढ़ें: बागपत: गांव में घुसकर युवक की हत्या करने वालों काे ग्रामीणाें ने पीट-पीटकर मार डाला

मीटिंग में डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल और एसएसपी दिनेश कुमार के अलावा पुलिस क्षेत्राधिकारी तक मौजूद रहे। ऐडीजी ने कहा कि अब व्यापारिक गतिविधियां शुरू होंगी। लॉक डाउन की वजह से काफी लोग आर्थिक रूप से कमजोर पड़े हैं। ऐसे में हो सकता है कि कुछ लोग धन कमाने के लिए जरायम की दुनिया में कदम रखने की कोशिश करें। ऐसे में पुलिस को सचेत रहना होगा और इसके लिए पुलिस गश्त भी बढ़ानी होगी।

यह भी पढ़ें: रेलवे स्टेशन पर कई दिन बाद पहुंची ट्रेन, 6 यात्री उतरे ताे 51 हुए सवार

मुख्य रूप से जेल से पैरोल पर आए आरोपियों और अपराधियों पर भी निगरानी बढ़ानी होगी। पुलिस को अपने सूत्रों को भी एक्टिवेट करना होगा और बैंकों के साथ-साथ व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर अधिक सतर्कता रखनी होगी। सीसीटीवी कैमरा को ठीक कराना होगा। लॉक डाउन में बाजार में जितने भी सीसीटीवी कैमरा खराब हो गए हैं उन्हें भी ठीक कराना होगा।

यह भी पढ़ें: चेकिंग पर निकले रामपुर एसपी शगुन गाैतम पर कार चढ़ाने का प्रयास, बाल-बाल बचे

पुलिस काे अपने सूत्रों मुखबिरों काे भी एक्टीवेट करना हाेगा। पुलिस ने लॉक डाउन के बीच काफी मेहतन की है लेकिन अब आने वाला समय एक तरह की परीक्षा की घड़ी है। अगले तीन माह पुलिस काे वायरस के साथ-साथ आपराधिक घटनाओं काे रोकने के लिए भी कड़ी मेहनत करनी हाेगी।

COVID-19 virus
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned