केंद्र में तैनात सहारनपुर के आईएएस ऑफिसर के छाेटे भाई की संदिग्ध हालातों में माैत, आत्महत्या की आशंका

  • तीन भाईयाें में सबसे छोटे थे अंकुर अग्रवाल
  • अंबाला राेड पर है अंकुक अग्रवाल की फैक्ट्री
  • पिलखमी में फैक्ट्री के पास ही पड़ा मिला शव

By: shivmani tyagi

Updated: 21 Jan 2021, 07:48 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

सहारनपुर. केंद्र में तैनात सहारनपुर के रहने वाले एक आईएएस ऑफिसर के भाई की संदिग्ध हालातों में माैत हाे गई। 40 वर्षीय अंकुर अग्रवाल की पिलखनी में बैट्री का लैड बनाने की फैक्ट्री है। उनका शव जंगल में फैक्ट्री के पास ही पड़ा मिला। पास में ही उनकी लाइसेंसी पिस्टल भी पड़ी हुई मिली। पुलिस शव काे जिला अस्पताल लेकर पहुंची जहां परिजनाें ने किसी भी तरह की कानूनी कार्यवाही से इंकार कर दिया और शव अपने साथ ले गए।

पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का लग रहा है लेकिन परिवार वालाें की ओर से अगर काेई तहरीर आती है ताे जांच कराई जाएगी। अंकुर अग्रवाल पेशे से उद्यमी थे। उनके पिता केजी अग्रवाल सहारनपुर के जाने-माने सीए हैं और अंकुर के भाई आईएएस ऑफिसर हैं जाे केंद्र में तैनात है। बताया जाता है कि साेमवार काे वह अपने घर से फैक्ट्री के लिए निकले थे। इसके बाद से ही उनका फाेन रिसीव नहीं हाे रहा था। काफी देर तक भी जब अंकुर का फाेन रिसीव नहीं हुआ ताे परिजनाें ने तलाश शुरू की और दाेपहर बाद पुलिस काे सूचना दी गई।

पुलिस भी अंकुर की तलाश में जुट गई। उनके माेबाइल फाेन की लाेकेशऩ फैक्ट्री के आस-पास ही आती रही लेकिन सही लाेकेशन का पता नहीं चल सका। इसी बीच फैक्ट्री के एक कर्मचारी ने पास में ही जंगल में एक शव पड़ा देखा और पुलिस काे सूचना दी। माैके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। माैके से पुलिस काे अंकुर अग्रवाल की लाईसेंसी पिस्टल भी मिली। जानकारी मिली है गाेली दाहिनी ओर से कनपटी पर लगी है जाे बाई ओर से बाहर निकल गई। ऐसे में आशंका यही जताई जा रही है कि अंकुर ने आत्महत्या की है।

यह खबर पूरे शहर में तेजी से फैल गई। पुलिस शव काे लेकर जिला अस्पताल पहुंची जहां परिजनाें ने किसी भी तरह की कानूनी कार्यवाही से इंकार कर दिया। अंकुर अग्रवाल ने तीन भाईयाें में सबसे छोटे थे। इस घटना के बाद से परिवार में काेहराम मचा हुआ है। एसएसपी डॉक्टर एस चिन्नप्पा का कहना है कि फिलहाल मामला आत्महत्या का लग रहा है। परिवार वालाें ने किसी भी तरह की कानूनी कार्यवाही से इंकार कर दिया है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned