सवर्ण आरक्षण के बाद देवकीनंदन ने भाजपा को वोट देने के सवाल पर कह दी यह बड़ी बात

सवर्ण आरक्षण के बाद देवकीनंदन ने भाजपा को वोट देने के सवाल पर कह दी यह बड़ी बात

Iftekhar Ahmed | Publish: Jan, 08 2019 07:13:29 PM (IST) Saharanpur, Saharanpur, Uttar Pradesh, India

मीडिया से बात करते हुए देवकीनंदन ने कहा कि केंद्र सरकार ने सवर्णों के लिए जो 10 प्रतिशत के आरक्षण का प्रयास किया है वो सराहनीय है

सहारनपुर. प्रख्यात कथा वाचक देवकीनंदन ठाकुर बुधवार को सहारनपुर पहुंचे। यहां उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने सवर्णों के लिए जो 10 प्रतिशत के आरक्षण का प्रयास किया है वो सराहनीय है।

यह भी पढ़ें: बुलंदशहर हिंसा के बाद सीएम से मिले 5 विधायक और सांसद, मिला बड़ा आश्वासन

इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार बधाई के पात्र हैं। सरकार को जल्द से जल्द इसी सत्र और चुनाव से पहले इस आरक्षण को देश को देना चाहिए। इसके लिए चाहे उन्हें सदन का समय बढ़ाना पड़े, क्योंकि ये आरक्षण गरीबों के लिए है, उनके अधिकार के लिए है। गरीबी किसी जाति को देखकर नहीं आती। इससे गरीबी रेखा से नीचे जीने वाले प्रत्येक भारतीय का उनका विकास होगा और उन्हें अवसर मिलेगा, जिससे देश का विकास होगा। साथ ही कहा कि जिस तरह सभी ने मिलकर एससी एसटी में एकता दिखाकर एक्ट पास कराया था। इसी तरह इस बिल को भी पास कराए। इस आरक्षण को राजनीतिक मुद्दा न बनाएं, क्योंकि उससे देश के प्रत्येक गरीब लोगों को इसका लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़ें- सवर्णों के आरक्षण पर दलितों ने का हल्ला बोल, भीम आर्मी ने कर दिया यह बड़ा ऐलान

इस बिल से सरकार को 2019 के चुनाव में फायदे के सवाल पर देवकी नंदन ने पूरी तरह से कन्नी काटते हुए कहा कि मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूँगा। बोले कि ये गरीब के अधिकार की बात है, जो किसी भी जाति में पैदा होता है। इसलिए इसे बिल्कुल भी जातिगत और राजनीतिक दृष्टि से न देखा जाये। राम मंदिर के निर्माण की बात पर उन्होंने मणिशंकर अय्यर के बयान का भी कटाक्ष किया। बोले कि अब भी देश के बड़े-बड़े नेता अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं। हाल ही में बयान आया है कि दशरथ जी के 10 हजार कमरे थे। उनमें कोन सा कमरा राम जी का था। ये सब गलत बाते हैं। ये श्रद्धा का विषय है। राम जी का जन्म अयोध्या में हुआ था। ये हम सब जानते हैं। राम मंदिर आयोध्या में ही बनना चाहिए। राम को ,राम के चरित्र को, हम सब की आस्था को हमारे विश्वास को विश्वास ही रहने दें, उसमें राजनीति न करें। राम मन्दिर 2019 के चुनाव से पहले बनेगा या बनना चाहिए ये देश के लिए सबसे बड़ा गिफ्ट होगा। सभी पार्टियों को इसमें सपोर्ट करना चाहिए।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned