देवबंद: CAA के विराेध में मां के साथ धरने में शामिल हाेने वाली मासूम बच्ची की माैत

Highlights

  • 43 दिन की बच्ची काे धरने पर साथ ला रही थी मां
  • घर पर हालत बिगड़ने से हाे गई बच्ची की माैत

By: shivmani tyagi

Published: 14 Mar 2020, 07:51 PM IST

सहारनपुर। देवबंद ( Deoband ) में CAA के विराेध में चल रहे धरने में शामिल रहने वाली एक महिला की दूध मुंही बच्ची की माैत हाे गई। 43 दिन की यह बच्ची कई दिनों तक मां के साथ धरने पर आ रही थी। आशंका है कि, खराब माैसम के चलते तबियत बिगड़ने से बच्ची की माैत हुई है। बच्ची की माैत के बाद जहां धरने पर बैठी महिलाएं इसे बच्ची का बलिदान बता रही हैं वहीं प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि माता-पिता की लापरवाही बच्ची की माैत कारण बनी है।

जानिए पूरी घटना

दरअसल, देवबंद के ईदगाह में कई दिनों से CAA, NRC और NPR के विराेध में महिलाओं का धरना ( CAA protest ) चल रहा है। यहां 24 घंटे महिलाएं विराेध प्रदर्शन करती हैं। देवबंद कस्बे के ही माेहल्ला बड़जियाउलहक के रहने वाले नाैशाद की पत्नी नाैशाबा भी इस धरने में कई दिनों से शामिल हाे रही थी। नाैशादा अपनी दूधमुंही बच्ची मुन्नी काे भी साथ लाती थी। धरने पर बैठी महिलाओं ने बताया कि नाैशाबा ने कई बार रात में भी धरने पर रुकने की काेशिश की लेकिन माैसम और छाेटी बच्ची काे देखते हुए उसे बार-बार मना कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: यूपी के शामली में कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज सामने आया, मचा हड़कंप

इसके बावजूद नाैशाबा दिनभर धरने पर रहती थी। महिलाओं के अनुसार नाैशाबा हर राेज समय से अपनी बच्ची के साथ धरने पर आ जाया करती थी लेकिन शुक्रवार काे वह धरने पर नहीं आई। जब पता किया गया ताे जानकारी मिली कि उसकी बच्ची की तबियत खराब थी जिसकी माैत हाे गई। इस खबर से धरनास्थल पर दु:ख पसर गया। महिलाएं नाैशाबा के घर पहुंची और बच्ची की माैत पर दु:ख जाहिर करते हुए मां काे सांत्वना दी।

यह भी पढ़ें: Moradabad: दुधमुंही बच्ची को कलयुगी मां ने महज दस हजार में बेचा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

मुत्तहिदा ख्वातीन कमेटी की अध्यक्ष इरम उस्मानी समेत अन्य महिलाओं पर बच्ची की माैत पर दुःख पर जताया है। साेशल मीडिया पर मां के साथ बच्ची के फाेटाें पाेस्ट करते हुए बच्ची की माैत काे बलिदान बताया जा रहा है। इस बारे में जब प्रशासनिक अफसरों से बात की गई ताे एडीएमई एसबी सिंह ने कहा कि बच्ची की माैत हाेना दु:खद है लेकिन इतनी छाेटी बच्ची काे धरने पर ले जाना लापरवाही है। बच्ची की माैत के लिए माता-पिता की लापरवाही जिम्मेदार है उन्हे इतनी छाेटी बच्ची काे खराब माैसम के बीच धरने पर नहीं ले जाना चाहिए।

CAA CAA protest
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned