scriptछतों पर मौत बनकर मंडरा रही 11 हजार केवी की विद्युत लाइन | Patrika News
सवाई माधोपुर

छतों पर मौत बनकर मंडरा रही 11 हजार केवी की विद्युत लाइन

विद्युत निगम के जिम्मेदार बने है बेपरवाह ये बोले लोग… विद्युत लाइन को करें अन्यत्र शिफ्टमकानों की छत से सटकर 11 हजार केवी की विद्युत लाइन गुजर रही है। गत दिनों राजनगर में विद्युत लाइन की चपेट में आने दंपत्ति अचेत हो गए थे। बाद में एक व्यक्ति ने जान भी गंवा दी थी। इसके […]

सवाई माधोपुरJul 09, 2024 / 10:44 am

Subhash Mishra

सवाईमाधोपुर.राजनगर में मकान के सामने से दीवार से गुजर रहे विद्युत तार।

विद्युत निगम के जिम्मेदार बने है बेपरवाह

  • हादसे के बाद भी निगम के अधिकारी-कर्मचारी नहीं ले रहे सबक
    सवाईमाधोपुर. जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की लापरवाही से जिला मुख्यालय की कई कॉलोनियों में छतों से गुजर रहे 11 हजार केवी लाइन व झूलते तार मौत बनकर मंडरा रहे है। जिला मुख्यालय पर राजनगर, बालमंदिर कॉलोनी सहित अन्य जगहों पर कई घरों की छतों से सटकर 11 हजार केवी लाइन निकल रही है। इससे हादसे की आशंका बनी है। गौरतलब है कि गत रविवार को राजनगर कॉलोनी में एक मकान की छत की दीवार से सटकर निकल रही 11 हजार केवी की विद्युत लाइन की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। इसके बावजूद भी निगम के अधिकारी-कर्मचारी कोई सबक नहीं ले रहे है।
  • लोगों में बना है हादसे का डर
    शहर के कुछ क्षेत्रों में घरों की छतों के ऊपर से गुजरती हाईटेंशन लाइन के कारण लोगों को हादसे का डर बना है। राजनगर में हादसे के बाद लोगों में भय बना है। इस संबंध में लोग विद्युत निगम के अधिकारियों को शिकायत भी कर चुके है। इसके बावजूद भी निगम के अधिकारी-कर्मचारी बेपरवाह बने है। इससे लोगों में रोष बना है।
    प्लास्टिक कोटेड लगाए तार
    शहरवासियों का कहना है कि घरों के सामने से या छत से गुजर रहे तारों का स्थान बदला जाए या प्लास्टिक कोटेड तार लगाए जाएं ताकि लोगों के घरों के ऊपर से बिजली करंट का खतरा टाला जा सकें। यदि तार नहीं हटाए गए तो कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है।
ये बोले लोग…
विद्युत लाइन को करें अन्यत्र शिफ्ट
मकानों की छत से सटकर 11 हजार केवी की विद्युत लाइन गुजर रही है। गत दिनों राजनगर में विद्युत लाइन की चपेट में आने दंपत्ति अचेत हो गए थे। बाद में एक व्यक्ति ने जान भी गंवा दी थी। इसके बाद भी निगम के अधिकारी-कर्मचारी कोई ध्यान नहीं दे रहे है। 11 हजार केवी की विद्युत लाइन को अन्यत्र शिफ्ट करना चाहिए।
प्रवीण जैन, नागरिक, निवासी राजनगर
घरों के बीचो-बीच से निकल रहे विद्युत तार
छत से गुजर रहे विद्युत तारों से हमेशा खतरा बना रहता है। बारिश के दिनों में छत पर बंद हो जाता है। कई घरों के बीचो-बीच से तार निकल रहे है। ऐसे में हादसों को देखते हुए विद्युत तार व 11 हजार केवी की विद्युत लाइन को हटाना चाहिए, ताकि कोई भी करंट की चपेट में नहीं आए।
श्वेता चंडक, गृहणी, सवाईमाधोपुर
हादसों से ले सबक
हादसे के बाद भी राजनगर में घरों की छतों पर मौत मंडरा रही है। विद्युुत लाइन घरों की छतों के ऊपर से होकर गुजर रही है। महिलाएं घरों की छत पर कपड़े सुखाने जाती हैं तो हादसे का डर बना रहता है। तेज हवा चलने से तारों में स्पार्किंग होती है। इससे आग लगने का डर भी बना रहता है। ऐसे में हादसों से सबक लेते हुए बिजली निगम को विद्युत लाइन को तुरंत हटवाना चाहिए।
महावीर गोयल, नागरिक, सवाईमाधोपुर
बारिश में करंट का बना है खतरा
बारिश के मौसम में कई जगह खुले ट्रांसफार्मर रखे है तो कई कॉलोनियों में मकान से सटकर या छत पर विद्युत पोलों पर तार झूल रहे है। लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से बिजली निगम के कोई इंतजाम नहीं है। ऐसे में करंट की चपेट में आने का खतरा बना है।
सीमा शर्मा, गृहणी, सवाईमाधोपुर
लिखित में देंगे शिकायत
राजनगर में 11 हजार केवी लाइन की चपेट में आने से हादसा हुआ है। विद्युत लाइन को अन्यत्र शिफ्ट कराने या हटाने के लिए जिला कलक्टर, विद्युत निगम को लिखित में शिकायत की जाएगी, ताकि आगे कोई हादसा नहीं हो।
हरिमोहन जाट, पार्षद, राजनगर सवाईमाधोपुर
इनका कहना है…
कॉलोनियों में वर्षों पुरानी विद्युत लाइन निकल रही है। इसके बाद मकान बने है। बारिश के मौसम में खुद को भी सतर्क रहना होगा। उपभोक्ताओं की शिकायत के संबंध में उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जाएगा।
राहुल मंगल, कनिष्ठ अभियंता, मानटाउन सवाईमाधोपुर

Hindi News/ Sawai Madhopur / छतों पर मौत बनकर मंडरा रही 11 हजार केवी की विद्युत लाइन

ट्रेंडिंग वीडियो