scriptभीषण गर्मी में छाछ बन रही सेहत के लिए ‘फायदेमंद’ | Patrika News
सवाई माधोपुर

भीषण गर्मी में छाछ बन रही सेहत के लिए ‘फायदेमंद’

सवाईमाधोपुर. भीषण गर्मी में इन दिनों छाछ व दही की मांग बढ़ गई है। ऐसे में डेयरी उत्पादों की मांग दोगुने से ज्यादा हो गई है। अप्रेल से जून तक बाजार में छाछ, लस्सी, श्रीखंड आदि की बिक्री बढ़ गई है। स्थिति यह है कि जहां दिन में कभी भी दूध, दही, छाछ और लस्सी […]

सवाई माधोपुरJun 02, 2024 / 12:05 pm

Subhash Mishra

सवाईमाधोपुर. बजरिया में डेयरी बूथ पर रेफ्रिजरेटर में रखी छाछ व दही के पैकेट।

सवाईमाधोपुर. भीषण गर्मी में इन दिनों छाछ व दही की मांग बढ़ गई है। ऐसे में डेयरी उत्पादों की मांग दोगुने से ज्यादा हो गई है। अप्रेल से जून तक बाजार में छाछ, लस्सी, श्रीखंड आदि की बिक्री बढ़ गई है। स्थिति यह है कि जहां दिन में कभी भी दूध, दही, छाछ और लस्सी मिल रही थी। अब वहां पर दोपहर तक माल खत्म हो रहा है। भीषण गर्मी ने डेयरी पर मिलने वाले उत्पादों की मांग बढ़ी है।
गर्मी में कोल्ड ड्रिंक को लोग पसंद कम कर रहे है। अब छाछ और लस्सी सभी की पहली पसंद बन गई है। बच्चे, युवा और बुजुर्गों को भी डेयरी के पेय पदार्थ भा रहे है। उधर, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारियों व चिकित्सक भी आम नागरिकों से भीषण गर्मी में छाछ, लस्सी व दही का अधिक से अधिक सेवन करने की सलाह दे रहे है।
जून के मध्य तक बनी रहेगी डिमांड
वैसे तो छाछ, लस्सी को सालभर पिया जाता है। लेकिन गर्मी के दिनों में डिमांड ज्यादा बढ़ जाती है। खासतौर से मार्च महीने से रोजाना सेवन करने वाले लोग बढ़ जाते हैं। इसके बाद लगातार इसकी मांग बढ़ती जाती है और गर्मी के दिनों में इसे घरों-घर पिया जाता है। इसी वजह से सालभर में मार्च से जून तक दोनों पेय पदार्थ की बिक्री अधिक होती है।
सादा छाछ 15 रुपए व नमकीन छाछ 8 रुपए में मिल रही
डेयरी बूथों व होलसेल की दुकानों पर वर्तमान में 500 ग्राम सादा छाछ का पाउच 15 रुपए व नमकीन छाछ का पाउच आठ रुपए में मिल रहा है। वहीं दही का छोटा पैकेट 15 व बड़ा पैकेट 20 रुपए में मिल रहा है। बजरिया में सरस डेयरी बूथ संचालक प्रेमप्रकाश गौतम, रवि आदि ने बताया कि अप्रेल से जून महीने तक छाछ व दही की मांग रहती है। जहां पूर्व में डेयरी बूथों पर एक या दो कैरेट छाछ व दूध के आते थे वो अब बढकऱ पांच से छह हो गए है। वही होलसेल दुकानों पर प्रतिदिन करीब 15 से 20 कैरेट प्रतिदिन छाछ व दही के आते है।
फैक्ट फाइल…
  • जिला मुख्यालय पर 50 से अधिक है छाछ व दही की डेयरियां।
    -गर्मी के मौसम में तीन गुना तक बढ़ी छाछ व दही की मांग।
    -एक कैरेट में 24 छाछ के पाउच व आठ पैकेट निकलते है दही के।
    -होलसेल की भी है करीब एक दर्जन से अधिक दुकानें।
सवाईमाधोपुर. बजरिया में डेयरी बूथ पर रेफ्रिजरेटर में रखी छाछ व दही के पैकेट।

Hindi News/ Sawai Madhopur / भीषण गर्मी में छाछ बन रही सेहत के लिए ‘फायदेमंद’

ट्रेंडिंग वीडियो