पटरियों पर भरा पानी,पहले ट्रेनों के किए मार्ग परिवर्तित

पटरियों पर भरा पानी,पहले ट्रेनों के किए मार्ग परिवर्तित
Sawai Madhopur Junction Railway Station

Vijay Kumar Joliya | Updated: 15 Sep 2019, 06:00:00 AM (IST) Sawai Madhopur, Sawai Madhopur, Rajasthan, India

बाद में पुराने मार्ग से ही चलाया, कई घंटे देरी से चली ट्रेनें, यात्री होते रहे परेशान

सवाईमाधोपुर. मध्यप्रदेश व हाड़ौती में भारी बारिश के चलते अब रेल यातायात भी प्रभावित होने लगा है। लगातार बारिश से जहां मध्यप्रदेश में गांधी सागर बांध के गेट खोलकर पानी की निकासी की जा रही है, वहीं कोटा में कोटा बैराज के भी गेट खोलकर पानी निकाला जा रहा है। इसके साथ ही कालीसिंध व पार्वती नदी भी उफान पर चल रही है। नागदा कोटा रेलखंड तथा आसपास के क्षेत्र में अचानक हुई भारी बारिश के चलते थूरिया, चौमहला, तलावली के निकट रेलवे ट्रेक पर बारिश का पानी जमा हो गया।

इसके चलते शनिवार सुबह से ही इस रेलखंड में रेल यातायात प्रभावित हुआ। सुबह साढ़े सात बजे कंट्रोल कार्यालय को इस संबंध में जानकारी मिलते ही एहतियात के तौर पर रेलगाडिय़ों को धीमी गति से निकालने के लिए कॉशन आर्डर लगाया गया। वहीं कई गाडिय़ों का मार्ग परिवर्तित कर संचालन किया गया।


यह गाडिय़ां रही प्रभावित
गाड़ी संख्या 12431 तिरुवनंतपुरम से 12 सितंबर को रवाना होने वाली ट्रेन, गाड़ी संख्या 12903 गोल्डन टेंपल मेल (13 सितंबर को मुंबई सेंट्रल से रवाना होने वाली ट्रेन तथा गाड़ी संख्या 22209 मुंबई सेंट्रल से 13 सितंबर को रवाना होकर अमृतसर जाने वाली ट्रेन को नागदा- उज्जैन-भोपाल-बीना होकर चलाना था। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 19037 बांद्रा टर्मिनस से 13 सितंबर को रवाना होने वाली ट्रेन को नागदा, मक्सी, रूठियाई, कोटा मथुरा होकर निकाला जाना था। इसके अलावा गाड़ी संख्या 19041 बांद्रा टर्मिनस से 13 सितंबर को रवाना होने वाली ट्रेन को भी नागदा, मक्सी, रूठियाई, कोटा मथुरा होकर मार्ग परिवर्तित किया गया था।

गाड़ी संख्या 12465 इंदौर से 14 सितंबर को रवाना होने वाली ट्रेन को रतलाम, चित्तौडगढ़़, अजमेर, फूलेरा होकर जोधपुर तक कर दिया गया था, लेकिन बाद में इन ट्रेनों को परिवर्तित मार्ग से नहीं निकाला गया और वापस निर्धारित मार्ग से संचालित करने का निर्णय किया गया। हालांकि ट्रेनों के समय को लेकर रेलवे की ओर से असमंजस बना रहा और ट्रेनें अपने निर्धारित समय से कई घंटे देरी से संचालित हुई। वहीं 14 सितंबर को रतलाम से रवाना होने वाली ट्रेन संख्या 69155 रतलाम मथुरा पैसेंजर को नागदा में आंशिक रूप से निरस्त कर दिया गया। गाड़ी संख्या 69156 मथुरा से रतलाम को कोटा तक चलाया गया। जहां से इसे रवाना कर सवाईमाधोपुर तक चलाया।


घंटों तक प्लेटफार्म पर इंतजार

ट्रेनों से सफर करने वाले यात्री निर्धारित समय पर प्लेटफार्म पर पहुंच गए, लेकिन ट्रेनों के रद्द होने व मार्ग परिवर्तित करने के चलते दूसरे विकल्प के इंतजार में घंटों तक प्लेटफार्म पर ही इंतजार करते नजर आए। इसके चलते बुजुर्गों, महिलाओं व बच्चों को अधिक परेशानी उठानी पड़ी। वहीं कई यात्री टैक्सी व निजी साधनों से सफर करने को मजबूर हो गए। बाद में पुराने मार्ग से ही संचालित होने की सूचना पर यात्रियों का इंतजार और लम्बा हो गया।


टिकट कैंसिल के लिए काउंटर पर रही भीड़
ट्रेनों के रद्द होने व मार्ग परिवर्तित होने के चलते आरक्षित टिकट कैंसिल कराने व रिफण्ड लेने वालों की काउंटरों पर भीड़ लगी रही। इसके साथ ही दूसरी ट्रेनों की जानकारी लेने के लिए भी पूछताछ विण्डो पर लोग उमड़ते रहे।


कोटा रेल मार्ग पर पानी भरने से ट्रेनें प्रभावित रही है। कई ट्रेनों के मार्ग भी परिवर्तित कर दिए थे। जिन्हें पानी कम होने पर निर्धारित मार्ग से संचालन शुरू कर दिया है। हालांकि ट्रेनों के आने का समय निश्चित नहीं है। - शिवलाल मीणा, स्टेशन अधीक्षक, सवाईमाधोपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned