लाॅकडाउन में जब जज ने सुनवाई कर भेजा ई-फैसला, वकीलों ने भी किया ई-बहस

लाॅकडाउन के दौरान सीहोर जिला एवं सत्र न्यायालय में बदला सुनवार्इ का तरीका

लाॅकडाउन में मध्य प्रदेश की एक कोर्ट ने ई-सुनवाई करते हुए निर्णय सुनाया( District court Judge E-decision in sehore)। सीहोर जिला न्यायालय (Sehore district court) में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बहस हुई। बदलती दुनिया के इस न्यायालय में जिला एवं सत्र न्यायाधीश राज्यवर्धन गुप्ता (District and session Judge Rajyavardhan Gupta) के सामने जिरह भी हो रही थी लेकिन कोर्ट में न बिटनेस बाक्स से लेकर पूरा कक्ष खाली था। स्क्रीन पर अलग अलग फ्रेम थे जिस पर संबंधित वकील, पक्ष-विपक्ष के लोग आॅनलाइन थे। सबसे अहम यह कि सभी पक्षों को सुनने के बाद न्यायाधीश ने दोनों पक्षों को अपना ई-फैसला मेल कर दिया।

Read this also: आईसोलेशन में रखे गए मरीजों का दर्द, गंदगी में रखते, कद्दू की सब्जी जबरिया खिलाया जा रहा

दरअसल, जबलपुर उच्च न्यायालय के आदेश के बाद दीवानी के मामलों की सुनवाई वीडियो कांफ्रेंसिंग से हो रही है। लाॅकडाउन में सीहोर जिला एवं सत्र न्यायालय में ई-सुनवाई व ई-फैसले की शुरुआत हुई। शुक्रवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश राज्यवर्धन गुप्ता ने लाॅकडाउन में ऐतिहासिक कदम उठाते हुए न्यायालय पहुंचे। मास्क एवं ग्लब्स पहने विद्वान न्यायाधीश के कोर्ट में एलईडी आॅन की गई। फिर उनके मातहतों ने संचार माध्यमों का उपयोग कर दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं व संबंधित पक्षकारों को जोड़ा। इसके बाद सुनवाई का दौर शुरू हुआ। एक पक्ष से एडवोकेट कमर अहमद सिद्धिकी तो दूसरे पक्ष से एडवोकेट जितेंद्र व्यास ने एक एककर बहस किया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायाधीश ने फैसला ई-मेल कर दिया।

Read this also: गोरखपुर जा रही थी महिला, रास्ते में प्रसवपीड़ा हुई तेज, फिर बाइक बन गर्इ एंबुलेंस

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned