Good News: सीएम योगी ने लोगों से किया था वादा, अब इस जिले में जल्द बनेगा पीएसी कैंप

Highlights:

-रजिस्ट्रार कार्यालय में छठी वाहिनी पीएसी मेरठ के कमांडेंट अनूप सिंह पहुंचे

-जहां पर ऊंचा गांव निवासी 66 किसानों ने अपनी 363 बीघा जमीन के बैनामे कमांडेंट के नाम कर दिये

-प्रशासन द्वारा किसानों की जमीन की धनराशि आरटीजीएस के माध्यम से खाते में भेजी जाएगी

By: Rahul Chauhan

Updated: 07 Mar 2020, 06:40 PM IST

शामली। जनपद के ऊंचा गांव में पीएसी कैंप के लिए 363 बीघा जमीन के बैनामे 66 किसानों द्वारा पीएसी कमांडेंट के नाम किये गये हैं। हालांकि फायरिंग रेंज की जमीन का बैनामा अभी नहीं कराया गया। वहीं खरीदी गई जमीन पर जल्द ही पीएसी कैंप का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : होली को लेकर अलर्ट हुई पुलिस, ड्रोन कैमरों से कराई जा रही छतों की निगरानी

दरअसल, पलायन व गुंडागर्दी के लिए बदनाम कैराना में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पीएसी कैंप बनाने की घोषणा की गई थी। जिसके तहत प्रशासन ने कैराना तहसील के ऊंचा गांव में पीएसी कैंप व गुर्जर पुर में फायरिंग रेंज बनाने का खाका तैयार किया था। 1 मार्च को जनपद शामली में करीब 14 परियोजनाओं का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शिलान्यास करने आए थे। उस समय भी पीएसी कैंप का शिलान्यास मुख्यमंत्री द्वारा करने के कयास लगाए जा रहे थे। लेकिन पीएसी कमांडेंट के न होने के कारण पीएसी की जमीन के बैनामे में नहीं हो पाए थे। जिस कारण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पीएसी कैंप की जमीन का शिलान्यास नहीं किया गया था। प्रशासन द्वारा ऊंचा गांव में 66 किसानों से 363 बीघा जमीन खरीदी गई हैं।

यह भी पढ़ें: बे-मौसम बारिश और ओलावृष्टि से फिर हुआ ठंड का अहसास, किसानों को हुआ भारी नुकसान

शनिवार को कैराना तहसील में स्थित रजिस्ट्रार कार्यालय में छठी वाहिनी पीएसी मेरठ के कमांडेंट अनूप सिंह पहुंचे। जहां पर ऊंचा गांव निवासी 66 किसानों ने अपनी 363 बीघा जमीन के बैनामे कमांडेंट के नाम कर दिये हैं। प्रशासन द्वारा किसानों की जमीन की धनराशि आरटीजीएस के माध्यम से किसानों के खाते में भेजी जाएगी। पीएसी के कमांडेंट ने बताया कि जमीन बैनामे हो गए हैं। जल्द ही पीएसी कैंप का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। वहीं गुर्जर पुर में बनने वाले फायरिंग रेंज की जमीन के बैनामे अभी नहीं हुए हैं। कुछ दिन बाद फायरिंग रेंज की जमीन के बैनामे में भी करा लिए जाएंगे।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned