scriptRajasthan News : शुक्रोदय के साथ 2 जुलाई से बजेंगे ढोल और शहनाई, सिर्फ 15 दिन तक हो सकेंगे विवाह, फिर 4 महीने का ब्रेक | Rajasthan News : Marriages to start from July 2 | Patrika News
सीकर

Rajasthan News : शुक्रोदय के साथ 2 जुलाई से बजेंगे ढोल और शहनाई, सिर्फ 15 दिन तक हो सकेंगे विवाह, फिर 4 महीने का ब्रेक

इस बार गुरु ग्रह 3 मई को अस्त हुए थे। इसके चलते ये सभी मांगलिक कार्य नहीं हो रहे थे। गुरु ग्रह 2 जून को उदय हो चुके हैं। वहीं शुक्र ग्रह 29 अप्रेल को अस्त हुए थे। 29 जून को शुक्रोदय होगा। इसके बाद शुक्र की बाल्यावस्था समाप्त होने पर दो जुलाई से विवाह आरभ हो जाएंगे।

सीकरJun 26, 2024 / 03:59 pm

जमील खान

Sikar News : श्रीमाधोपुर. विवाह की तैयारियां कर रहे लोगों के लिए अच्छी सूचना है। गुरु व शुक्र ग्रहों के अस्त होने से विवाह समारोहों पर अप्रेल के अंत से लगा विराम 29 जून को समाप्त हो जाएगा। गुरु ग्रह का उदय हो चुका है, अब 29 जून को शुक्रोदय भी होगा। शुक्रोदय होने के 3 दिन बाद ही शहनाइयों की गूंज सुनाई देने लगेगी। इसके बाद सभी शुभ और मांगलिक कार्य शादी-विवाह, नामकरण, जनेऊ, मुंडन, गृहप्रवेश, भूमि पूजन, भवन-वाहन, आभूषण की खरीदारी शुरू हो जाएगी। शुक्र ग्रह के उदय होने से विवाह आदि के लिए इंतजार कर रहे लोगों को दो से 16 जुलाई तक लगातार शुभ मुहूर्त मिलेंगे। इसके चलते जिनके विवाह तय हो चुके हैं, उन्होंने तैयारियां आरभ कर दी हैं। इसके बाद फिर 17 जुलाई को देवशयनी एकादशी के बाद चार माह तक विवाह नहीं होंगे।
ये हैं शुभ मुर्हूत
ज्योतिष के मुताबिक शुक्र ग्रह का उदय 29 जून की रात 9.34 बजे पश्चिम दिशा में होगा। इसके बाद जुलाई में 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8 9, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16 जुलाई (15 दिन) तक लगातार विवाह के शुभ मुहूर्त हैं। विवाह के लिए गुरु, शुक्रोदय जरूरी ज्योतिषाचार्य पंडित नंदकिशोर नांगलका जोशी के अनुसार विवाह के लग्न मुहूर्त देखते समय गुरु और शुक्र ग्रह का अच्छी स्थिति में होना जरूरी होता है। इनमें से एक भी ग्रह अस्त होने या खराब स्थिति में होने पर उस तिथि में विवाह का मुहूर्त नहीं बनता है।
देवगुरु बृहस्पति और शुक्र देव को विवाह के लिए कारक माना जाता है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में गुरु और शुक्र ग्रह मजबूत स्थिति में होते हैं तो जल्द शादी के योग बनते हैं। इन दोनों ग्रहों के कमजोर होने पर विवाह में बाधा आने लगती है। यह भी माना जाता है कि गुरु और शुक्र तारा के अस्त होने पर विवाह नहीं किया जाता है। इस बार गुरु ग्रह 3 मई को अस्त हुए थे। इसके चलते ये सभी मांगलिक कार्य नहीं हो रहे थे। गुरु ग्रह 2 जून को उदय हो चुके हैं। वहीं शुक्र ग्रह 29 अप्रेल को अस्त हुए थे। 29 जून को शुक्रोदय होगा। इसके बाद शुक्र की बाल्यावस्था समाप्त होने पर दो जुलाई से विवाह आरभ हो जाएंगे।

Hindi News/ Sikar / Rajasthan News : शुक्रोदय के साथ 2 जुलाई से बजेंगे ढोल और शहनाई, सिर्फ 15 दिन तक हो सकेंगे विवाह, फिर 4 महीने का ब्रेक

ट्रेंडिंग वीडियो