मनरेगा में रेकॉर्ड 99101 श्रमिक नियोजित, कलक्टर ने किया निरीक्षण, श्रमिकों से पूछी व्यवस्थाएं

सिरोही. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) में जिले में सामुदायिक कार्य 954 एवं व्यक्तिगत श्रेणी और आवास के क्रमश: 407 तथा 6 054 कार्य प्रगतिरत हैं।

By: Bharat kumar prajapat

Updated: 29 May 2020, 08:03 PM IST

सिरोही. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) में जिले में सामुदायिक कार्य 954 एवं व्यक्तिगत श्रेणी और आवास के क्रमश: 407 तथा 6 054 कार्य प्रगतिरत हैं। वर्तमान में जिले में 99101 श्रमिक योजना में नियोजित हंै। यह 2006 से योजना में सर्वाधिक श्रमिक नियोजन आंकड़ा है। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद ने बताया कि सिरोही जिले में प्रवासी ग्रामीणों के कोविड-19 के तहत 14 दिवस का क्वॉरंटीन पूर्ण होने पर जॉब कार्ड बनाए जा रहे हैं।
जिला कलक्टर ने शुक्रवार को ग्राम पंचायत बालदा में सुंदरा तालाब का निरीक्षण किया। वे पैदल ही कार्यस्थल तक गए। मेट को पृथक-पृथक माप अनुसार श्रमिकों को टास्क पूरी करने के लिए समझाया। यदि वे पूरी टास्क करते हैं तो 220 रुपए प्रति दिवस मिल सकते हैं। चरागाह विकास कार्य का भी निरीक्षण किया गया। श्रमिकों ने मजदूरी कम मिलने की शिकायत की। महिला मेट को प्रतिदिन पूर्ण कार्य मस्टररोल के पीछे अंकित करने तथा माप अनुसार मजदूरी के निर्देश दिए। कार्यस्थल पर तकनीकी सहायक आए तो माप का वेरिफिकेशन करवाएं। यहां कुछ प्रवासी कार्य पर नियोजित थे। मोटाल के ग्रामवासी ने बताया कि गांव में ही कार्य स्वीकृत होने से उन्हें अधिक पैदल चलकर नहीं आना पड़ेगा। इस पर जिला कलक्टर ने कहा कि दो दिवस में स्वीकृति जारी कर दी जाएगी। निरीक्षण के वक्त अधिशासी अभियन्ता रामबाबू शर्मा, प्रशिक्षु आईएएस राहुल जैन उपस्थित थे।

नया सानवाड़ा में दो मेट ब्लैक लिस्ट
नया सानवाड़ा. जिला कलक्टर भगवती प्रसाद ने यहां मुख्य तालाब खुदाई कार्य का निरीक्षण किया। कहा कि श्रमिक सुबह नियत समय पर कार्यस्थल पर आएं और टास्क पूरी कर पूरी रेट सुनिश्चित करें। योजना में संचालित चरागाह विकास कार्य का निरीक्षण किया। दोनों महिला मेटों को माप के अनुसार कार्य नहीं करवाने पर आगामी पखवाड़े में हटाने के निर्देश दिए। सरपंच अलका रावल को बताया कि मनरेगा में महिला श्रमिक 90 प्रतिशत आती हैं। यदि एक परिवार से पति-पत्नी साथ भी आना चाहें तो उन्हें प्रोत्साहित करें जिससे पूरी टास्क करने के लिए मजदूरी भी मिलेगी। उन्होंने महिला श्रमिकों से सेनेटाइजर, मास्क, पीने के पानी आदि सुविधाओं के बारे में पूछा। इस पर महिला श्रमिकों ने कहा कि सभी सुविधाएं मिल रही हैं। कलक्टर ने सोशल डिस्टेसिंग की पालना करते हुए कार्य करने को कहा। इसके बाद जूना सानवाड़ा रोड स्थित चरागाह विकास का निरीक्षण करने पहुंचे जहां कार्य सही नहीं होने के कारण दो मेट को ब्लैक लिस्ट किया। मनरेगा कनिष्ठ अभियंता प्रवीण कुमार से सवाल जवाब किए। इस पर जेईएन ने कहा कि मजदूरों को नक्शा दिखाकर बताया था कि किस प्रकार कार्य करना है। महिलाओं ने कहा कि यहां पर पथरीली जमीन होने के कारण परेशानी हो रही है। इस पर कलक्टर ने कार्य बंद करने को कहा। पुरुषों को भी मनरेगा योजना से जोड़कर कार्य करवाने को कहा। इस मौके पर ग्राम विकास अधिकारी महेन्द्रसिंह परिहार, उप सरपंच कालूराम देवासी, पटवारी मेघाराम चौधरी, एलडीसी कृष्णपालसिंह, रोजगार सहायक ताराराम गर्ग, वार्ड पंच किशनलाल देवासी आदि उपस्थित थे।

Bharat kumar prajapat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned