भाजपा सांसद व विधायक समर्थकों के बीच जमकर चले लात-घूसे, पुलिस दिखी असमर्थ

भाजपा सांसद व विधायक समर्थकों के बीच जमकर चले लात-घूसे, पुलिस दिखी असमर्थ

Abhishek Gupta | Publish: Jan, 13 2018 04:50:09 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सीतापुर में आज बीजेपी सांसद और बीजेपी विधायक के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों के समर्थक चोटिल हो गए।

सीतापुर. सीतापुर में आज बीजेपी सांसद और बीजेपी विधायक के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों के समर्थक चोटिल हो गए। कंबल वितरण के कार्यक्रम को लेकर हुए विवाद में एक बार सांसद रेखा वर्मा, भाजपा विधायक शशांक त्रिवेदी खुलकर एक दूसरे के सामने आ गए और आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। कुल मिलाकर जनता के बीच अपनी-अपनी वाह-वाही बनाए रखने के लिए हुए विवाद में समूचे इलाके में भारतीय जनता पार्टी की काफी बेइज्जती हुई तो विरोधियों को इससे फायदा भी मिला।

मामला सीतापुर की महोली तहसील का है, जहां तहसील प्रांगण में बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी और बीजेपी सांसद रेखा वर्मा द्वारा कंबल वितरण का कार्यक्रम किया जा रहा था। सूत्रों की माने तो बीजेपी सांसद जहां मीटिंग हाल में कंबल बांट रही थी, वहीं बाहर बीजेपी विधायक पंडाल में कंबल वितरण का कार्यक्रम कर रहे थे। इसी बीच बीजेपी विधायक द्वारा पंडाल में कंबल बांटने के लिए ही सांसद रेखा वर्मा से कहा गया तो दोनों के समर्थक बेहद आक्रोशित हो गए। जिसके बाद दोनों समर्थकों के बीच जमकर लात घूंसे चले और कुर्सियां फेंकी जाने लगी।

दरअसल सांसद रेखा वर्मा और शशांक त्रिवेदी विधायक के बीच एक तरह से कंबल वितरण को लेकर कंपटीशन सा हो गया और इस दौरान काफी तादाद में मौजूद लोगों के बीच अपनी अच्छी छवि बनाने के लिए यह विवाद बड़ा हो गया। भाजपा नेताओं के बीच इस विवाद को लेकर काफी हंगामा हो गया। कुछ ही समय में भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया और दोनों ही पक्षों को शांत कराने का प्रयास करने लगा। इसी दौरान सांसद समर्थकों ने विधायक सहित उनके समर्थकों पर एक मेज फेंक दी जिसमें विधायक ने किसी तरह किनारे हट कर खुद को बचाया। उधर इस मामले में जब जिला अध्यक्ष अजय गुप्ता से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने मामले की पड़ताल करने के बाद ही कुछ कहने को कहा।

सांसद पुत्रों व विधायक समर्थकों को लगी चोटें-
सूत्रों के मुताबिक सांसद पुत्र को भी इस बीच चोटिल होने की खबर आई है। वहीं मामले के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के बीच तहसील के अधिकारी ने समझौता कराने का प्रयास किया। हालांकि विधायक समर्थकों को भी थोड़ी बहुत छोटे आने की खबरें आ रही हैं।

Ad Block is Banned