script पार्वतीजी की इस सरल पूजा से मिलता है मनपसंद पति | Saubhagya Sundari Teej 2023 kab hai | Patrika News

पार्वतीजी की इस सरल पूजा से मिलता है मनपसंद पति

locationभोपालPublished: Nov 29, 2023 12:54:12 pm

Submitted by:

deepak deewan

सौभाग्य सुंदरी तीज पर महिलाएं अपने पति के कल्याण और समृद्धि—सुख—शांति के लिए व्रत रखती हैं। इस दिन देवी पार्वती की पूजा की जाती है। पसंदीदा पति और गुणी पुत्र पाने के लिए यह व्रत किया जाता है। इस बार सौभाग्य सुंदरी तीज 30 नवंबर यानि गुरुवार को है।

parvatiji.png
सौभाग्य सुंदरी तीज

मार्गशीर्ष महीने के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि को सौभाग्य सुंदरी तीज कहा जाता है। इसे सौभाग्य सुंदरी व्रत के नाम से भी जाना जाता है। सौभाग्य सुंदरी तीज पर महिलाएं अपने पति के कल्याण और समृद्धि—सुख—शांति के लिए व्रत रखती हैं। इस दिन देवी पार्वती की पूजा की जाती है। पसंदीदा पति और गुणी पुत्र पाने के लिए यह व्रत किया जाता है। इस बार सौभाग्य सुंदरी तीज 30 नवंबर यानि गुरुवार को है।

सौभाग्य सुंदरी तीज पर सूर्योदय के पहले उठकर स्नान किया जाता है। विवाहित महिलाएं अच्छे या नए कपड़े पहनकर 16 श्रृंगार करती हैं। 16 श्रृंगारों में चूड़ियाँ और पायल के साथ मेहंदी लगाती हैं। कुमकुम, रोली, हल्दी, सिन्दूर आदि लगाकर सजती हैं।

इसके बाद भगवान शिव और पार्वतीजी की विधि-विधान से पूजा करती हैं। पार्वतीजी के विग्रह को भी 16 श्रृंगारों से सजाया गया है। भगवान गणेश और नवग्रहों की भी पूजा की जाती है।

सौभाग्य सुंदरी तीज व्रत से मिलता है पसंदीदा पति
सौभाग्य सुंदरी तीज का हरतालिका तीज और करवा चौथ के समान महत्व है। मनपसंद पति और गुणी पुत्र पाने के लिए भी यह व्रत किया जाता है। जिनके विवाह में देरी हो रही हो, ऐसी युवा अविवाहित लड़कियां भी जल्द शादी की कामना लिए यह व्रत रखती हैं। सौभाग्य सुंदरी तीज व्रत मांगलिक दोष भी दूर करता है।

सौभाग्य सुंदरी तीज 2023
तृतीया तिथि— 29 नवंबर अपरान्ह 01:57 बजे से 30 नवंबर अपरान्ह 02:25 बजे
सूर्योदय— 30 नवंबर सुबह 6:54 बजे
सूर्यास्त— 30 नवंबर शाम 5:36 बजे

यह भी पढ़ें: पैसों की किल्लत खत्म कर देगी 10 मिनिट की यह पूजा

ट्रेंडिंग वीडियो