script10 में से सिर्फ दो गलियों में ही पानी की व्यवस्था नजर आई सुचारू | Patrika News
खास खबर

10 में से सिर्फ दो गलियों में ही पानी की व्यवस्था नजर आई सुचारू

जलापूर्ति की समस्या से जूझ रहे परकोटे के बाशिदों की समस्या जानने शनिवार को उपखंड अधिकारी दीपक मित्तल उनके द्वार पहुंचे। नलों से पानी नहीं टपकने की समस्या क्षेत्र के लोगों ने बताई।

बूंदीJun 02, 2024 / 05:33 pm

पंकज जोशी

10 में से सिर्फ दो गलियों में ही पानी की व्यवस्था नजर आई सुचारू

बूंदी. उपखंड अधिकारी को क्षेत्र में पानी की समस्या बताते लोग।

बूंदी. जलापूर्ति की समस्या से जूझ रहे परकोटे के बाशिदों की समस्या जानने शनिवार को उपखंड अधिकारी दीपक मित्तल उनके द्वार पहुंचे। नलों से पानी नहीं टपकने की समस्या क्षेत्र के लोगों ने बताई। उपखंड अधिकारी जलदाय विभाग के अधिकारियों के साथ तंबोलियो की गली, बटुक भेरूपाड़ा, सोत्या पाड़ा, काला महलों की गली, शीतला गली, आचार्य गली में पेयजल आपूर्ति के बारे में जानने पहुंचे। यहां उपखंड अधिकारी ने घरों में जाकर जलापूर्ति के बारे में जानकारी जुटाई तो लोगो ने बताया की अभी पानी की सप्लाई चालू है,लेकिन घरों में नल हवा फेंक रहे है। जब सभी गलियों को देखा तो मात्र दो गली काला महलों की व शीतला गली में पानी की व्यवस्था ठीक नजर आई। इस दौरान सहायक अभियंता नवीन नागर,कनिष्ठ अभियंता सिद्धार्थ जिंदल सहित वार्ड के कर्णशंकर सैनी,लोकेश दाधीच सहित अन्य लोग मौजूद रहे।
इधर,एक माह से नहीं हो रही जलापूर्ति
बूंदी.
वार्ड 43 के कई गलियों में एक माह बाद भी जलापूर्ति नहीं बैठने से लोगों को पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है। लोग पानी के लिए इधर-उधर भटक रहे है। कई लोग टैंकरों से पानी मंगवाने को मजबूर है। पेयजल संकट को लेकर कई बार विभाग के अधिकारियों को अवगत भी कराया, लेकिन पेयजल आपूर्ति में कोई सुधार नहीं हुआ। मनीष शर्मा ने बताया कि उनकी गली में जलापूर्ति के समय पानी नहीं आता ओर गली से सौ फीट की दूरी पर जलापूर्ति हो रही है। ऐसे में लाइनों की जांच की जानी चाहिए। पूर्व में रात के समय पानी मिल रहा था,लेकिन अब वो भी बंद हो गया। ग्रहणी परिता ने बताया कि सुबह उठते ही पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है। मजबूरी में लोगों को हैंडपंपों व नलकूपों से पानी लाना पड़ रहा है।
इन्द्रगढ़. क्षेत्र के मोहनपुरा में एक सप्ताह से नलों में गंदा मटमेला व बदबूदार पानी आने से ग्रामीण परेशान है। सूचना के बाद भी संबंधित विभाग के अधिकारी इन सब से बेखबर नजर आ रहे हैं। पूर्व में ग्रामीणों ने जलापूर्ति कि समस्या को लेकर संभागीय आयुक्त को मोहनपुरा ग्राम पंचायत में आयोजित जनसुनवाई में अवगत करवाया था, फिर भी ग्रामीणों की समस्या का समाधान नहीं हो पाया ग्रामीणों ने समस्या की समाधान को लेकर जिला कलक्टर के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा, फिर भी ग्रामीणों की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है और ग्रामीण मजबूर होकर दूषित पानी पी रहे हैं।
मोहनपुरा कस्बे के भागचंद गुर्जर ने बताया कि करीब 8 दिनों से नलों में गंदा दूषित वह मटमेला पानी आ रहा है। पानी में वाशिंग पाउडर जैसे झाग आ रहे हैं, जो पानी पीना बीमारियों को न्यौता देना है। वहीं पानी की सप्लाई की सही तरीके से नहीं हो पा रही है। जिससे ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
मोहनपुरा कस्बे में 2-3 पाइप लाइन टूट ने के कारण नलों में दूषित पानी आ रहा था। सूचना के बाद पाइप लाइन को सही करवा दिया गया है। फिर भी ऐसी समस्या आती है तो समस्या का समाधान करवा दिया जाएगा।
जितेंद्र मीणा, कनिष्ठ अभियंता जलदाय विभाग इंद्रगढ़

Hindi News/ Special / 10 में से सिर्फ दो गलियों में ही पानी की व्यवस्था नजर आई सुचारू

ट्रेंडिंग वीडियो