डोपिंग टेस्ट में फेल हुए भारतीय पहलवान मलिक, लगा दो साल का बैन

सुमित ने सोफिया में विश्व ओलिंपिक क्वालीफायर में 125 किलोग्राम भार वर्ग में टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था

By: Mahendra Yadav

Published: 03 Jul 2021, 09:44 AM IST

भारतीय पहलवान सुमित मलिक का टोक्यो ओलपिंक में भाग लेने का सपना चकनाचूर हो गया है। डोपिंग टेस्ट में फेल होने के बाद सुमित मलिक पर दो साल का बैन लगा दिया गया है। सुमित के बी नमूने में भी प्रतिबंधित पदार्थ के अंश पाए गए। इसके बाद यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने भारतीय पहलवान पर दो साल का प्रतिबंध लगा दिया। हालांकि मलिक को फैसले के खिलाफ अपील करने या उसे मानने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। सुमित ने सोफिया में विश्व ओलिंपिक क्वालीफायर में 125 किलोग्राम भार वर्ग में टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था, लेकिन इसी टूर्नामेंंट में डोप टेस्ट में नाकाम रहने के बाद उन पर अस्थायी निलंबन लगाया गया था।

दर्द निवारक दवाएं ली थीं
वहीं 30 जून को उनके बी नमूने की जांच हुई, जिसमें प्रतिबंधित पदार्थ के अंश मिले हैं। वहीं 2018 में राष्ट्रमंल खेलों में गोल्ड मेडल हासिल करने वाले मलिक ने एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए बताया कि उनके दाहिने घुटने में दर्द था इस वजह से उन्होंने दर्द निवारक दवाएं ली थीं। भारतीय कुश्ती महासंघ के एक अधिकारी ने कहा कि सुमित मलिक का बी नमूना भी पॉजिटिव आया है। ऐसे में यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने मलिक पर तीन जून से दो साल का प्रतिबंध लगा दिया है। मलिक के पास एक सप्ताह का समय है। इस दौरान वह सुनवाई की मांग कर सकते हैं या फिर अपनी सजा स्वीकार कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि मलिक अपने वकील से बात कर रहे हैं और जल्द ही इस संबंध में फैसला लेंगे।

यह भी पढ़ें— 'माड़-भात' खाकर खेतों में काम करने वाली चंचला पहुंची कुश्ती की विश्व चैंपियनशिप में

sumit_malik2.png

नहीं जा सकेंगे ओलंपिक में
कई लोगों का मानना है कि मलिक ने स्टेरॉयड नहीं लिया, उन्होंने अनजाने में स्टीम्युलेंट ले लिया। इस वजह से उनको फैसले के खिलाफ अपील करनी चाहिए। ओलंपिक क्वालीफायर से पहले राष्ट्रीय शिविर में मलिक के घुटने में चोट लगी थी। वहीं इस मामले में सुनवाई के बाद फैसला आने में समय लगेगा और इस वजह से वह ओलिंपिक नहीं जा सकेंगे।

यह भी पढ़ें— पुनिया को मैट में लौटने में अभी लगेगा एक और सप्ताह का वक्त

चोट के कारण नहीं खेल पाए थे फाइनल
मलिक ने अप्रेल में अलमाटी में एशियन क्वालिफायर्स में हिस्सा लिया था। हालांकि वहां उन्हें कोटा नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने एशियन चैंपियनशिप में हिस्सा लिया,लेकिन यहां भी कामयाबी हाथ नहीं लगी। इसके बाद मई में उन्होंने सोफिया में वर्ल्ड ओलिंपिक क्वालिफायर्स में हिस्सा लिया और कोटा हासिल कर फाइनल तक पहुंचे थे। हालांकि चोट लगने के कारण वे फाइनल में खेले नहीं थे और उन्होंने मैच छोड़ दिया था।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned