गर्भवती महिला की मौत,परिजनों ने किया लैबर रूम के बाहर जमकर हंगामा

लैबर रूम व परिसर में भीड़ एकत्रित हुई,पुलिस जाब्ता मंगवाया,परिजनों ने जताया आक्रोश

By: Krishan chauhan

Published: 21 Jul 2021, 09:51 AM IST


गर्भवती महिला की मौत,परिजनों ने किया लैबर रूम के बाहर जमकर हंगामा

-लैबर रूम व परिसर में भीड़ एकत्रित हुई,पुलिस जाब्ता मंगवाया,परिजनों ने जताया आक्रोश

पत्रिका लाइव--प्लस फोटो--श्रीगंगानगर.राजकीय जिला चिकित्सालय में मंगलवार शाम छह बजे एक गर्भवती महिला की मौत हो गई। इससे आक्रोशित परिजनों ने गायनिक वार्ड के लैबर रूम के बाहर जमकर हंगामा किया। चिकित्सालय के अनुसार सद्भावना नगर निवासी गर्भवती पूनम 20 पत्नी रूपचंद नायक की रक्त की कमी की वजह से सोमवार रात्रि 1.26 बजे चिकित्सालय के लैबर रूम में भर्ती करवाया गया। महिला साढ़े आठ माह की गर्भवती थी और रक्त बाहर की जांच में पांच ग्राम बताया गया। जबकि यहां चिकित्सालय में जांच करवाने पर साढ़े सात ग्राम रक्त आने पर गर्भवती महिला के एक यूनिट रक्त चढ़ाया गया। महिला सामान्य थी।
डॉक्टर्स ने बताया कि शाम छह बजे गर्भवती पूनम को सांस में तकलीफ हुई। इस पर तुरंत उनकी सास ने नर्सिंग स्टाफ को सूचना दी और मरीज को लैबर रूम में लेकर गई। नर्सिंग स्टाफ ने मरीज की हालात को देखते हुए तुरंत प्रभाव से आपातकालीन डॉक्टर्स सुदंर बिश्नोई को बुलाकर मरीज को दिखाया। साथ ही गायनिक डॉक्टर्स सोनिया छाबड़ा की कॉल भेजकर मौके पर बुला लिया। मरीज पूनम के ऑक्सीजन व ड्रीप आदि लगाने की कार्रवाई की गई। पीएमओ ने इसकी सूचना जिला प्रशासन को दी है और मृतका का शव मोर्चरी में शिफ्ट करवा दिया है। परिजनों ने पुलिस को लिखित में शिकायत दी है।

पांच मिनिट में ही महिला ने तौड़ दिया दम

चार-पांच मिनिट में यह प्रकिया पूर्ण हुई और महिला का हार्ट फैल्यिर होने से मौत हो गई। मौके पर फिजिशियन डॉ.केएस कामरा,गायनिक डॉक्टर्र अनामिका अग्रवाल,नर्सिंग अधीक्षक रमेश कांडी,गायनिक एचओडी डॉ.मुकेश स्वामी आदि पहुंच गए। डॉक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ ने मरीज को बचाने की मशक्कत की लेकिन मरीज नहीं बच पाई।

लैबर रूम के लात-मुक्के मार कर सीसे तोडऩ़ की कोशिश की
गर्भवती महिला पूनम के पति रूपचंद व अन्य को जैसे की मरीज की मौत की सूचना मिली। मरीज के परिजन आक्रोशत हो गए। हंगामा करने लगे और लैबर रूम के लात-मुक्के मार कर सीसे तोडऩे की कोशिश की गई। डॉक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ आदि को जमकर गंदी-गंदी गालियां निकाली । इस बीच पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। सीआइ हनुमाना राम सहित अन्य पुलिस कर्मियों ने परिजनों को काफी समझाश की कोशिश की। लेकिन परिजनों ने किसी की एक नहीं सुनी और जमकर आक्रोश निकाला गया। करीब एक से डेढ़ घंटा तक हंगामा चलता रहा। महिला परिजन भी बेहोश हने गई।

पुलिस ने किया बाद में कंट्रोल

इसके बाद चिकित्सालय प्रबंधन ने पुलिस और बुलाई। मौके पर सीओ सिटी अरविंद बैरड़,कोतवाली सीआइ रणजीत सिंह व पुलिस लाइन से आरएससी के जवान बुलाकर भीड़ को गायनिक वार्ड से बाहर और परिसर से बाहर निकाला गया। इसके बाद मामला शांत हुआ। पुलिस ने कहा कि आप लिखित में दीजिए,संबंधित डॉक्टर्स व अन्य के खिलाफ कार्रवाई हो जाएगी।

यह भी परिजनों ने आरोप लगाएं

गर्भवती महिला की मौत के बाद भीड़ एकत्रित हो गई। इसमें मरीजों के कई परिजनों ने आरोप लगाया कि डॉक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ मरीजों की देखभाल नहीं करते हैं। मरीज के साथ एक व्यक्ति को अंदर नहीं जाने देते,नौ बजे के बाद रात्रि को यह गेट ही बंद कर लेते हैं। कुछ मरीजों ने कहा कि स्टाफ पैसे भी लेती है। दो जी की गीता देवी ने आरोप लगाया कि मरीज पम्मी भर्ती है और सुबह की स्टाफ ने पांच सौ रुपए ले लिए। 365 हैड के आत्मा सिंह ने आरोप लगाया कि कलविंद्र कौर पत्नी गरमीत सिंह का सूरतगढ़ सीएचसी में प्रसव हुआ और वहां पर बधाई के नौ सौ रुपए ले लिए जबकि यहां पर मरीज की देखभाल भी नहीं हुई।

डॉक्टर्स की लापरवाही से मरीज की मौत हो गई। मेरी पत्नी सही थीं और डॉक्टर को दिखाकर भी आया था। जबकि डॉक्टर्स ने मरीज की देखभाल नहीं की,इस कारण मरीज की मौत हुई।
रूपचंद,मृतक महिला का पति,सद्भावना नगर।

—------
महिला साढ़े आठ माह की गर्भवती थी। महिला के पास बाहर की जांच थी,उसमें पांच प्रतिशत रक्त था और यहां पर जांच करवाई तो साढ़े सात ग्राम रक्त होने पर एक यूनिट दिन में रक्त चढ़ाया गया। शाम को महिला ने सांस लेने में तकलीफ बताई तो मौके पर डॉ.सोनिया छाबड़ा ने महिला की जांच कर ट्रीटमैंट व ऑक्सीजन भी शुरू किया। इस बीच महिला की रक्त की कमी और हार्ट फैलियर होने की वजह से मौत हो गई।

डॉ.मुकेश स्वामी,एचओडी गायनिक वार्ड,श्रीगंगानगर।

गर्भवती महिला की मौत की सूचना मिलने पर गायनिक वार्ड के एचओडी सहित मौके पर पहुंचा। मरीज की मौत कैसे हुई। टिकट को देखा और मरीज में रक्त की कमी थी और डॉक्टर्स ने हार्ट फैलियर से मौत होना बताया है। डॉक्टर्स,नर्सिंग स्टाफ या अन्य कोई स्टाफ रोगी की देखभाल नहीं करता है पैसे की मांग करता है तो लिखित में शिकायत करें,जांच कर सख्त कार्रवाई करेंगे।


डॉ.बलदेव सिंह चौहान,पीएमओ,जिला चिकित्सालय,श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned